सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

जनवरी, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Union Budget 2021 Made In India Tab Aakash Tablet 1130 Rs यूनियन बजट 2021 मेड इन इंडिया

  Made in india tablet  एक ऐसा Made in India Tab जिसका सपना अधूरा ही रह गया, 1130 रुपये में हुआ था लॉन्च   जब भी मेड इन इंडिया प्रोडक्ट की बात होती है तो लोगों की जेहन में पहला ख्याल सस्ते प्रोडक्ट का आता है। आज देश का आम बजट 2021 पेश हो रहा है। भारत के आम बजट के इतिहास का यह पहला बजट है जो पूरी तरह से पेपरलेस है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पहली बार मेड इन इंडिया टैबलेट पर बजट पेश कर रही हैं। इस टैबलेट को लेकर चर्चा यह है कि यह Apple iPad है, हालांकि अभी तक इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। मेड इन इंडिया टैबलेट को लेकर सोशल मीडिया पर तमाम तरह के दावे किए जा रहे हैं लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एपल से लेकर सैमसंग तक के टैबलेट फिलहाल भारत में तैयार नहीं होते हैं। Lenovo ने कुछ दिन पहले कहा था कि वह भारत में अपने टैबलेट का प्रोडक्शन शुरू करेगी, वहीं एपल को लेकर भी खबर है कि वह आईपैड के प्रोडक्शन को चीन से हटाकर भारत लाने की तैयारी कर रही है।   Aakash Tablet जो सपना रह गया Aakash को लेकर लोगों की उम्मीदें थी कि यह पहला मेड इन इंडिया टैबलेट होगा जो हर भारतीय हाथों में होगा। Aak

Dosti Takrar Narazgi Shayari Collection दोस्ती तकरार और नाराज़गी पर कहे गये बेहतरीन शेर

Dosti Takrar Narazgi Shayari Collection takrar shayari in hindi   नाराज़गी शायरी 2 लाइन्स   दोस्ती तकरार और नाराज़गी पर कहे गये बेहतरीन शेर   फूल कर ले निबाह काँटों से  आदमी ही न आदमी से मिले  - ख़ुमार बाराबंकवी जब मुलाक़ात हुई तुम से तो तकरार हुई ऐसे मिलने से तो बेहतर है जुदा हो जाना - अहसन मारहरवी narazgi shayari 2 lines |  दोस्ती तकरार शायरी सिर्फ़ नुक़सान होता है यारो लाभ तकरार से नहीं होता - महावीर उत्तरांचली भूले से कहा मान भी लेते हैं किसी का हर बात में तकरार की आदत नहीं अच्छी - बेख़ुद देहलवी दोनों जहान दे के वो समझे ये ख़ुश रहा याँ आ पड़ी ये शर्म कि तकरार क्या करें - मिर्ज़ा ग़ालिब नाराज़गी शायरी 2 लाइन्स या वो थे ख़फ़ा हम से या हम हैं ख़फ़ा उन से  कल उन का ज़माना था आज अपना ज़माना है  - जिगर मुरादाबादी कपड़े सफ़ेद धो के जो पहने तो क्या हुआ  धोना वही जो दिल की सियाही को धोइए  - शैख़ ज़हूरूद्दीन हातिम narazgi shayari for gf | तकरार शायरी इन हिंदी लव इतना तो बता जाओ ख़फ़ा होने से पहले  वो क्या करें जो तुम से ख़फ़ा हो नहीं सकते  - असद भोपाली ज़रा सी बात पे नाराज़गी अगर है यही  तो फिर

Kajol And Govinda Never Worked Together In A Film And This Is The Reason

  Govinda and Kajol बॉलीवुड की चुलबुली एक्ट्रेस काजोल ने लंबे समय से दर्शकों का मनोरंजन किया है और फिल्मी दुनिया में वो अभी तक एक्टिव हैं। काजोल एक से बढ़कर एक रोल करती हैं और दर्शकों को उनकी एक्टिंग बहुत पसंद आती हैं। हाल ही में उनकी फिल्म 'त्रिभंगा' रिलीज हुई थी जिसमें उनके काम को काफी पसंद किया गया था। काजोल ने बॉलीवुड के लगभग सभी दिग्गज सितारों के साथ काम किया है, लेकिन उनकी जोड़ी कभी गोविंदा के साथ नहीं जमी। ऐसा क्यों हुआ इसे लेकर काजोल ने हाल ही में एक इंटरव्यू में खुलासा किया है। गोविंदा 90 के दशक के सुपरस्टार हैं और आज भी उनकी फैन फॉलोइंग कम नहीं हुई है। गोविंदा ने उस दौर में सभी बड़ी हीरोइनों के साथ काम किया, लेकिन काजोल और गोविंदा कभी किसी फिल्म में साथ नजर नहीं आए। वहीं इस बारे में बात करते हुए काजोल ने कहा कि, 'हम लोगों ने 'जंगली' नाम की एक फिल्म शुरू की थी, जिसे डायरेक्टर राहुल रवैल बनाने वाले थे। इस फिल्म के लिए फोटोशूट भी किया गया था, लेकिन फिल्म शुरू होने से पहले ही बंद हो गई। काजोल ने आगे कहा कि, 'एक फोटोशूट के अलावा हमने फिल्म के लिए कोई शूटिंग

बेस्ट ऑफ़ Maulana Hasrat Mohani Selected Sayari In Hindi, Hasrat Mohani Quote हसरत मोहानी के चुनिंदा Sher हिंदीशायरीएच

  hasrat mohani poetry Hasrat Mohani Quote हसरत मोहानी के चुनिंदा Sher  दिल ओ जान ओ जिगर सब्र ओ ख़िरद जो कुछ है पास अपने ये सब कर देंगे हम उन पर निसार आहिस्ता आहिस्ता छुप के उस ने जो ख़ुद-नुमाई की इंतिहा थी ये दिलरुबाई की maulana hasrat mohani shayari तलब मेरी बहुत कुछ है मगर क्या करम तेरा है इक दरिया अता का चुपके चुपके रात दिन आंसू बहाना याद है हम को अब तक आशिक़ी का वो ज़माना याद है हसरत मोहानी शायरी नहीं आती तो याद उन की महीनों तक नहीं आती मगर जब याद आते हैं तो अक्सर याद आते हैं और तो पास मिरे हिज्र में क्या रक्खा है इक तिरे दर्द को पहलू में छुपा रक्खा है hasrat mohani quotes शाम हो या कि सहर याद उन्हीं की रखनी दिन हो या रात हमें ज़िक्र उन्हीं का करना  चाहत मिरी चाहत ही नहीं आप के नज़दीक कुछ मेरी हक़ीक़त ही नहीं आप के नज़दीक hasrat mohani quotes in hindi मालूम सब है पूछते हो फिर भी मुद्दआ अब तुम से दिल की बात कहें क्या ज़बां से हम हर बात में उन्हीं की ख़ुशी का रहा ख़याल हर काम से ग़रज़ है उन्हीं की रज़ा मुझे हसरत मोहानी के शेर

Mohabbat Shayari 2 Lines Collection 'मोहब्बत' पर कहे गए शेर

  मोहब्बत' पर कहे गए शेर मोहब्बत की तो कोई हद, कोई सरहद नहीं होती  हमारे दरमियाँ ये फ़ासले, कैसे निकल आए  - ख़ालिद मोईन गिला भी तुझ से बहुत है मगर मोहब्बत भी  वो बात अपनी जगह है ये बात अपनी जगह  - बासिर सुल्तान काज़मी mohabbat shayari 2 lines in urdu उस को जुदा हुए भी ज़माना बहुत हुआ  अब क्या कहें ये क़िस्सा पुराना बहुत हुआ  - अहमद फ़राज़ कोई समझे तो एक बात कहूँ  इश्क़ तौफ़ीक़ है गुनाह नहीं  - फ़िराक़ गोरखपुरी यह भी पढ़े - 2-line-dhuaan-shayari-collection ज़िंदगी किस तरह बसर होगी  दिल नहीं लग रहा मोहब्बत में  - जौन एलिया 2 line romantic shayari in hindi हमें भी नींद आ जाएगी हम भी सो ही जाएँगे  अभी कुछ बे-क़रारी है सितारो तुम तो सो जाओ  - क़तील शिफ़ाई अब जुदाई के सफ़र को मिरे आसान करो  तुम मुझे ख़्वाब में आ कर न परेशान करो  - मुनव्वर राना izhar e mohabbat shayari 2 lines सारी दुनिया के ग़म हमारे हैं  और सितम ये कि हम तुम्हारे हैं  - जौन एलिया न पूछो हुस्न की तारीफ़ हम से  मोहब्बत जिस से हो बस वो हसीं है  - आदिल फ़ारूक़ी mohabbat shayari in hindi ग़म और ख़ुशी में फ़र्क़ न महसूस हो जहा

2 Line Dhuan Shayari Collection, Dhuan Quotes 'धुआं' पर कहे गए शेर

धुएं पर कहे गए शेर 2 Line Dhuwa Status in Hindi गुलशन की फ़ज़ा धुआं धुआं है कहते हैं बहार का समां है - हबीब जालिब हद्द-ए-निगाह शाम का मंज़र धुआं धुआं छाने लगा है ज़ेहन के अंदर धुआं धुआं - इक़बाल अंजुम dhuaan status in hindi   हर एक शाम का मंज़र धुआं उगलने लगा वो देखो दूर कहीं आसमां पिघलने लगा - अमीर इमाम चराग़ देने लगेगा धुआं न छू लेना तू मेरा जिस्म कहीं मेरी जां न छू लेना - इरफ़ान सिद्दीक़ी अगरचे सख़्त सफ़र है धुआं घना होगा कहीं कोई तो मिरी राह देखता होगा - ध्रुव गुप्त dhuan shayari in hindi धुआं उड़ाती हुई धीमी धीमी बारिश है हवा की अंधी सवारी पे अंधी बारिश है - यासमीन सहर यह भी पढ़े - राह पर Famous sayaro ki शायरी   यादों की राख में हर लम्हा धुआं धुआं है होंटों पे बिखरा हर इक नग़्मा धुआं धुआं है - वन्दना भारद्वाज तिवारी 'वाणी' सहमी सहमी धुआं धुआं यादें नज़र आती नहीं है राह-ए-विसाल - महमूद इश्क़ी shayari on dhuan in urdu सारा आलम धुआं धुआं क्यूं 0है हर तरफ़ आह और फ़ुग़ां क्यूं है - अहमद शाहिद ख़ां चेहरे धुआं धुआं हैं ये आसार देख कर आईना-ए-ख़ुलूस शरर-बार देख कर - ख़ुर्शीद सहर dhuan

राह पर Famous sayaro ki शायरी Hindishayarih

2 line rah shayari Rah par famous sayaro ki shayari राह पर Famous sayaro ki शायरी  धूप काफ़ी दूर तक थी राह में लम्हा लम्हा हो गया पैकर सियाह - अम्बर शमीम तुम ज़माने की राह से आए वर्ना सीधा था रास्ता दिल का - बाक़ी सिद्दीक़ी राह पर Famous shayaro ki शायरी   ज़िंदगी इक नई राह पर बे-इरादा ही चलने लगी - असर अकबराबादी हज़ार राह चले फिर वो रहगुज़र आई कि इक सफ़र में रहे और हर सफ़र से गए - उबैदुल्लाह अलीम आ ही जाता वो राह पर 'ग़ालिब' कोई दिन और भी जिए होते - मिर्ज़ा ग़ालिब भटक के राह से हम सब को आज़मा आए फ़रेब दे गए जितने भी रहनुमा आए - कृष्ण मोहन राह shayari इन हिन्द कौन उस राह से गुज़रता है दिल यूं ही इंतिज़ार करता है - नासिर काज़मी राह को आज़मा के देखो तो इक क़दम फिर बढ़ा के देखो तो - जगदीश प्रकाश हम कब उस राह से गुज़रते हैं अपनी आवारगी से डरते हैं - शकील ग्वालियरी किसी भी राह पे रुकना न फ़ैसला कर के बिछड़ रहे हो मिरी जान हौसला कर के - ख़ालिद मलिक साहिल Raah Shayari in Hindi राह इंसान को उसकी मंजिल तक पहुंचाते है लेकिन गलत रास्ते मंजिल से बहुत ही दूर ले जाते हैं. राह मिलेगी जरूर पहले

20 Famous Shayari Of Kaifi Azami कैफ़ी आजमी 20 बेहतरीन शायरी - हिंदी शायरी एच

  Kaifi Azami shayari 20 Famous Shayari Of kaifi Azami कैफ़ी   आजमी 20 बेहतरीन शायरी   जो वो मिरे न रहे मैं भी कब किसी का रहा बिछड़ के उनसे सलीक़ा न ज़िन्दगी का रहा   इन्साँ की ख़्वाहिशों की कोई इन्तिहा नहीं दो गज़ ज़मीं भी चाहिए, दो गज़ कफ़न के बाद   मेरा बचपन भी साथ ले आया गाँव से जब भी आ गया कोई पाया भी उनको खो भी दिया चुप भी हो रहे इक मुख़्तसर सी रात में सदियाँ गुज़र गईं जो इक ख़ुदा नहीं मिलत तो इतना मातम क्यों मुझे ख़ुद अपने क़दम का निशाँ नहीं मिलता आज फिर टूटेंगी तेरे घर नाज़ुक खिड़कियाँ आज फिर देखा गया दीवाना तेरे शहर में ख़ार-ओ-ख़स तो उठें, रास्ता तो चले मैं अगर थक गया, क़ाफ़िला तो चले दिल की नाज़ुक रगें टूटती हैं याद इतना भी कोई न आए जिस तरह हँस रहा हूँ मैं पी पी के गर्म अश्क यूँ दूसरा हँसे तो कलेजा निकल पड़े तू अपने दिल की जवाँ धड़कनों को गिन के बता मिरी तरह तिरा दिल बे-क़रार है कि नहीं गर डूबना ही अपना मुक़द्दर है तो सुनो डूबेंगे हम ज़रूर मगर नाख़ुदा के साथ दीवाना पूछता है ये लहरों से बार बार कुछ बस्तियाँ यहाँ थीं बताओ किधर गईं मैं ढूँढ़ता हूँ जिसे वो जहाँ नहीं मिलता नई ज़मी