सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

फ़रवरी, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Top Dar Shayari Collection मैं तेरे दर पर कहानी गई शायरी

Dar Shayari Collection   मैं तेरे 'दर' पर कहानी गई शायरी     मैं तिरे दर का भिकारी तू मिरे दर का फ़क़ीर आदमी इस दौर में ख़ुद्दार हो सकता नहीं   दर-ब-दर फिरने ने मेरी क़द्र खोई ऐ फ़लक उन के दिल में ही जगह मिलती जो ख़ल्वत मांगता   लिए फिरा जो मुझे दर-ब-दर ज़माने में ख़याल तुझ को दिल-ए-बे-क़रार किस का था   दीवार ओ दर झुलसते रहे तेज़ धूप में बादल तमाम शहर से बाहर बरस गया   खुला है दर प तिरा इंतिज़ार जाता रहा ख़ुलूस तो है मगर एतिबार जाता रहा   दीवार ख़स्ता-हाल है और दर उदास है जब से कोई गया है मिरा घर उदास है   जबीं पर ख़ाक है ये किस के दर की बलाएं ले रहा हूं अपने सर की   तेरे ख़याल के दीवार-ओ-दर बनाते हैं हम अपने घर में भी तेरा ही घर बनाते हैं   रात गुज़री है दर-ब-दर हो कर ज़िंदगी तुझ से बे-ख़बर हो कर   रुस्वा हुए ज़लील हुए दर-ब-दर हुए हक़ बात लब पे आई तो हम बे-हुनर हुए   आई हो मेरी जिंदगी में तुम नवम्बर बनके। डर है कहीं चली न जाओ तुम दिसम्बर बनके !!    

Best Shayari Ameer Minai अमीर मीनाई के कुछ शेर hindi shayari h

  अमीर मीनाई के कुछ शेर इन हिंदी गाहे गाहे की मुलाक़ात ही अच्छी है 'अमीर' क़द्र खो देता है हर रोज़ का आना जाना कौन सी जा है जहां जल्वा-ए-माशूक़ नहीं शौक़-ए-दीदार अगर है तो नज़र पैदा कर कश्तियां सब की किनारे पे पहुंच जाती हैं नाख़ुदा जिन का नहीं उन का ख़ुदा होता है उल्फ़त में बराबर है वफ़ा हो कि जफ़ा हो हर बात में लज़्ज़त है अगर दिल में मज़ा हो ख़ंजर चले किसी पे तड़पते हैं हम 'अमीर' सारे जहां का दर्द हमारे जिगर में है आफ़त तो है वो नाज़ भी अंदाज़ भी लेकिन मरता हूं मैं जिस पर वो अदा और ही कुछ है हुए नामवर बे-निशां कैसे कैसे ज़मीं खा गई आसमां कैसे कैसे 'अमीर' अब हिचकियां आने लगी हैं कहीं मैं याद फ़रमाया गया हूं सरकती जाए है रुख़ से नक़ाब आहिस्ता आहिस्ता निकलता आ रहा है आफ़्ताब आहिस्ता आहिस्ता आया न एक बार अयादत को तू मसीह सौ बार मैं फ़रेब से बीमार हो चुका

Kangana Ranaut At Satpura Tiger Reserve | ट्रोलिंग से बेफिक्र कंगना रणौत ने लिया सफारी राइड का मजा, साझा किया जंगल का अनुभव - Hindi Shayari H

  kangana ranaut tweets pic     कंगना रणौत अपनी फिल्मों के साथ-साथ अपने ट्वीट्स की वजह से भी चर्चा में रहती हैं। सोशल मीडिया पर वह सबसे ज्यादा सक्रिय रहने वाली अभिनेत्रियों में से एक हैं। अपनी बात बेधड़क तरीके से कहने वालीं कंगना ने इस बार कूल तस्वीरें साझा की हैं।   कंगना इन दिनों अपनी फिल्म की शूटिंग के लिए मध्य प्रदेश में हैं। पिछले कुछ दिनों से वह अपनी स्पाई थ्रिलर फिल्म की शूटिंग शेड्यूल में व्यस्त हैं। रविवार को वक्त निकालकर अभिनेत्री सतपुड़ा टाइगर रिजर्व पहुंचीं। वह यहां जंगल सफारी एंजॉय करती दिखीं।   कंगना ने अपनी कुछ तस्वीरें साझा कीं जिसमें वह खूबसूरत नजारों का आनंद ले रही हैं। इसके साथ वह फोटोग्राफी में भी व्यस्त हैं। कंगना ने तस्वीरों के साथ कैप्शन में लिखा- 'इस आरामदायक रविवार के दिन मैं सतपुड़ा टाइगर रिजर्व पहुंचीं। कई अन्य अद्भुत जानवरों के साथ एक बड़े से नर चीते को भी देखा। शानदार झीलों और दृश्यों ने मुझे हैरान कर दिया। शुक्रिया। मध्य प्रदेश पर्यटन और वन विभाग ने इस दिन को खूबसूरत बना दिया। शुक्रिया।'   On this lovely Sunday went on safari in Satpura Tiger Reser

Subhadra Kumari Chauhan Selected Hindi Poetry And Rahat Indori Ghazal Main Lakh Kah Doon - Hindi Shayari H

Subhadra Kumari Chauhan  Hindi Poetry   देव! तुम्हारे कई उपासक कई ढंग से आते हैं सेवा में बहुमूल्य भेंट वे कई रंग की लाते हैं धूमधाम से साज-बाज से वे मंदिर में आते हैं मुक्तामणि बहुमुल्य वस्तुऐं लाकर तुम्हें चढ़ाते हैं मैं ही हूं गरीबिनी ऐसी जो कुछ साथ नहीं लायी फिर भी साहस कर मंदिर में पूजा करने चली आयी धूप-दीप-नैवेद्य नहीं है झांकी का श्रृंगार नहीं हाय! गले में पहनाने को फूलों का भी हार नहीं कैसे करूं कीर्तन, मेरे स्वर में है माधुर्य नहीं मन का भाव प्रकट करने को वाणी में चातुर्य नहीं नहीं दान है, नहीं दक्षिणा खाली हाथ चली आयी पूजा की विधि नहीं जानती, फिर भी नाथ चली आयी पूजा और पुजापा प्रभुवर इसी पुजारिन को समझो दान-दक्षिणा और निछावर इसी भिखारिन को समझो मैं उनमत्त प्रेम की प्यासी हृदय दिखाने आयी हूं जो कुछ है, वह यही पास है, इसे चढ़ाने आयी हूं चरणों पर अर्पित है, इसको चाहो तो स्वीकार करो यह तो वस्तु तुम्हारी ही है ठुकरा दो या प्यार करो   परिचय क्या कहते हो कुछ लिख दूं मैं ललित-कलित कविताए चाहो तो चित्रित कर दूं जीवन की करुण कथाएं।     Subhadra kumari chauhan hindi kavita सूना कवि-हृदय

Valentine Day Weekend Special Poetry by Kumar Vishwas

कुमार विश्वास द्वारा कही वा लिखी गई प्रेमी और उसकी प्रेमकाओ के उपर कविता स्पेशल वैलेंटाइंस डे वीक मेरे पहले प्यार ओ प्रीत भरे संगीत भरे! ओ मेरे पहले प्यार! मुझे तू याद न आया कर ओ शक्ति भरे अनुरक्ति भरे! नस-नस के पहले ज्वार! मुझे तू याद न आया कर। पावस की प्रथम फुहारों से जिसने मुझको कुछ बोल दिये मेरे आंसू मुस्कानों की कीमत पर जिसने तोल दिये जिसने अहसास दिया मुझको मैं अम्बर तक उठ सकता हूं जिसने खुद को बांधा लेकिन मेरे सब बंधन खोल दिये ओ अनजाने आकर्षण से! ओ पावन मधुर समर्पण से! मेरे गीतों के सार मुझे तू याद न आया कर। मैं तुम्हें ढूंढ़ने मैं तुम्हें ढूंढ़ने स्वर्ग के द्वार तक रोज आता रहा, रोज जाता रहा तुम ग़ज़ल बन गई, गीत में ढल गई मंच से में तुम्हें गुनगुनाता रहा जिन्दगी के सभी रास्ते एक थे सबकी मंजिल तुम्हारे चयन तक गई अप्रकाशित रहे पीर के उपनिषद् मन की गोपन कथाएं नयन तक रहीं प्राण के पृष्ठ पर गीत की अल्पना तुम मिटाती रही मैं बनाता रहा तुम ग़ज़ल बन गई, गीत में ढल गई मंच से में तुम्हें गुनगुनाता रहा एक खामोश हलचल बनी जिन्दगी गहरा ठहरा जल बनी जिन्दगी तुम बिना जैसे महलों में बीता हुआ उर्मिल

Hindi Funny Jokes - रोज डे पर पप्पू और उसकी गर्ल फ्रेंड

  Hindi Funny Jokes - रोज डे पर पप्पू और उसकी गर्ल फ्रेंड रोज डे पर पप्पू अपनी गर्लफ्रेंड की गोद में लेटकर पूछा...अगर मैं मर गया तो ? पप्पू-अगर मैं मर गया तो ? पिंकी-ऐसा मत कहो जानू। पप्पू -अगर मैं मर गया तो क्या तुम तुरंत नयी शादी कर लोगी? पिंकी-नहीं तुरंत नहीं, 2 -3 महीने तो रुकना पड़ेगा नहीं तो लोग क्या कहेंगे?? बेचारा पप्पू अभी भी सदमे में है !!! 2. Funny Jokes in hindi पप्पू का आज फ़ाइनल एग्जाम था, पप्पू को पेपर में एक भी सवाल का जवाब नहीं आता था, पप्पू नालायक खाली कॉपी ही छोड़ आया, जब पप्पू रूम से निकला, टीचर एकदम गुस्से में क्यों बे नालायक, कुछ करके भी आया है, या ऐसे ही आ गया, पप्पू-जी सर, ब्रेकफास्ट करके आया हूं और आप?? टीचर बेहोश

Hindi 'Haqiqat' Shayari Collection हक़ीक़त पर कहे गए शेर

  Hindi 'Haqeeqat' Shayari Collection Hindi 'Haqiqat' Shayari Collection  हक़ीक़त पर कहे गए शेर  हक़ीक़त सामने थी और हक़ीक़त से मैं ग़ाफ़िल था मिरा दिल तेरा जल्वा था तिरा जल्वा मिरा दिल था - शौकत थानवी क्या हक़ीक़त है क्या कहानी है मुख़्तसर अपनी ज़िंदगानी है - नसरीन नक़्क़ाश तुम न मानो मगर हक़ीक़त है इश्क़ इंसान की ज़रूरत है - क़ाबिल अजमेरी हकीकत शायरी इन हिंदी कुछ हक़ीक़त है कुछ कहानी है सिर्फ़ कहने को हक़-बयानी है - दिनेश कुमार हक़ीक़त क्या बताऊं ज़िंदगी की उसे लत पड़ गई है आदमी की - सय्यद सरोश आसिफ़ हक़ीक़त में कोई कहानी मिला दो बहुत आग है थोड़ा पानी मिला दो - नवीन जोशी  2 लाइन हक़ीक़त शायरी   बयां अपनी हक़ीक़त कर रहा हूं वो कहते हैं शिकायत कर रहा हूं - अब्बास ताबिश वो हक़ीक़त में एक लम्हा था जिस का दौरान ये ज़माना था - सग़ीर मलाल हक़ीक़त ज़ीस्त की समझा नहीं है वो अपने दश्त से गुज़रा नहीं है - सीमा शर्मा मेरठी हकीकत क्विट्स इन हिंदी तुम न मानो मगर हक़ीक़त है इश्क़ इंसान की ज़रूरत है - क़ाबिल अजमेरी

Best Hindi Shayari Tamanna Shayari Collection अच्छी तमन्ना शायरी कलेक्शन - Hindi Shayarih

  Best of Hindi Tamanna Shayari  हर किसी को किसी ना किसी चीज की तमन्ना होती है किसी को अच्छा शायार बनने की तमन्ना, तो किसी को लेखक बनने की तमन्ना होती है तमन्ना ( tamanna shayari )  ऐसे ही कुछ अच्छे शायरों की  शायरी है जो आप को पसन्द आएगी।  तमन्ना है तमन्ना में तिरी जी से गुज़र जाएं यही है आरज़ू अपनी इसी ख़्वाहिश में मर जाएं - बलदेव सिंह हमदम तमन्ना शायरी इन हिंदी तेरा ख़याल तेरी तमन्ना तक आ गया मैं दिल को ढूंढ़ता हुआ दुनिया तक आ गया - काशिफ़ हुसैन ग़ाएर कितना बेकार तमन्ना का सफ़र होता है कल की उम्मीद पे हर आज बसर होता है - सैफ़ुद्दीन सैफ़ tamanna shayari 2 lines इक तमन्ना है ख़मोशी के कटहरे कितने दिल की दहलीज़ पे एहसास के पहरे कितने - सय्यद शकील दस्नवी जीने की तमन्ना है न मरने की तमन्ना है आप के कूचे से गुज़रने की तमन्ना - सुलतान निज़ामी tamanna quotes in hindi हर तमन्ना दिल से रुख़्सत हो गई' लीजिए फ़ुर्सत ही फ़ुर्सत हो गई - नीना सहर ओस की तमन्ना में जैसे बाग़ जलता है तू न हो तो सीने का दाग़ दाग़ जलता है - सफ़दर मीर यह भी पढ़े - Best Hindi Lahza Shayari Collection ज़िंदगी तेरी तमन्न

Best Hindi Lahza Shayari Collection हिन्दी लहजा शायरी कलेक्शन - हिंदी शायरी एच

 उस के लहजे में बर्फ़ थी लेकिन छू के देखा तो हाथ जलने लगे - अमजद इस्लाम अमजद मीठी बातें, कभी तल्ख़ लहजे के तीर दिल पे हर दिन है उन का करम भी नया - क़ैसर ख़ालिद किसी के नर्म लहजे का क़रीना मिरी आवाज़ में शामिल रहा है - यासमीन हमीद अपने लहजे की हिफ़ाज़त कीजिए शेर हो जाते हैं ना-मालूम भी - निदा फ़ाज़ली लहजे और आवाज़ में रक्खा जाता है अब तो ज़हर अल्फ़ाज़ में रक्खा जाता है - अज़हर अदीब लहजे का रस हँसी की धनक छोड़ कर गया वो जाते जाते दिल में कसक छोड़ कर गया - अंजुम इरफ़ानी कोई तो फूल खिलाए दुआ के लहजे में अजब तरह की घुटन है हवा के लहजे में - इफ़्तिख़ार आरिफ़ इस लहजे से बात नहीं बन पाएगी तलवारों से कैसे काँटे निकलेंगे - तारिक़ क़मर तेरी बातों को छुपाना नहीं आता मुझ से तू ने ख़ुश्बू मिरे लहजे में बसा रक्खी है - इक़बाल अशहर तासीर नहीं रहती अल्फ़ाज़ की बंदिश में मैं सच जो नहीं कहता लहजे का असर जाता - ताहिर अज़ीम

EVM Enlappower Hindi Review: कैसा है देश का पहला लैपटॉप चार्ज करने वाला पावरबैंक

  EVM Enlappower Hindi Enlappower Hindi Review: कैसा है देश का पहला लैपटॉप चार्ज करने वाला पावरबैंक    घरेलू इलेक्ट्रॉनिक ब्रांड EVM ने पहला ऐसा पावरबैंक लॉन्च किया है जिससे किसी लैपटॉप को चार्ज किया जा सकता है। इससे पहले बाजार में मोबाइल, हेडफोन और स्पीकर चार्ज करने वाले पावरबैंक ही मौजूद थे। EVM के इस 20000एमएएच वाले पावरबैंक से सी-पोर्ट वाले नए लैपटॉप को चार्ज किया जा सकेगा। आइए रिव्यू में जानते हैं कैसा  EVM ENLAPPOWER की कीमत और स्पेसिफिकेशन EVM को इस खास पावरबैंक को 9,999 रुपये में लॉन्च किया गया है। EVM ENLAPPOWER को एक्सक्लूसिव तौर पर विजय सेल्स से खरीदा जा सकता है। इस पावरबैंक में एक साथ तीन ऐसी डिवाइस को चार्ज किया जा सकता है जिसमें यूएसबी टाईप-सी पोर्ट हो। इस पावरबैंक से फिलहाल चार्ज होने वाले लैपटॉप Macbook, Macbook Air, Macbook Pro, iPad, iPad Pro, MS Surface Pro, Dell XPS 13, HP Spectre x360, Lenovo IdeaPad, LG Gram, Asus Zenbook 13 हैं। इस पावरबैंक के साथ चार फीट लंबा केबल मिलेगा। इसके साथ तीन साल की वारंटी मिल रही है। इसके अलावा सभी टाइप सी और यूसबी पोर्ट वाली डिवाइस को

Achhe Aur Bure Wakt Ki Shayari शेर वहीं जो बुरे वक्त पर काम आए

waqt quotes in hindi शेर वहीं जो बुरे वक्त पर काम आए  2 line waqt shayari  वक़्त रहता नहीं कहीं टिक कर  आदत इस की भी आदमी सी है  - गुलज़ार उसी का शहर वही मुद्दई वही मुंसिफ़  हमें यक़ीं था हमारा क़ुसूर निकलेगा  - अमीर क़ज़लबाश mushkil waqt quotes या वो थे ख़फ़ा हम से या हम हैं ख़फ़ा उन से  कल उन का ज़माना था आज अपना ज़माना है  - जिगर मुरादाबादी काँटों से गुज़र जाता हूँ दामन को बचा कर  फूलों की सियासत से मैं बेगाना नहीं हूँ  - शकील बदायुनी बुरे वक्त पर शायरी कहानी में नए किरदार शामिल हो गए हैं  नहीं मा'लूम अब किस ढब तमाशा ख़त्म होगा  -इफ़्तिख़ार आरिफ़ नींद जब ख़्वाबों से प्यारी हो तो ऐसे अहद में  ख़्वाब देखे कौन और ख़्वाबों को दे ता'बीर कौन  -परवीन शाकिर अच्छे वक्त पर कहे गए शेर वो शख़्स कि मैं जिस से मोहब्बत नहीं करता  हँसता है मुझे देख के नफ़रत नहीं करता  -क़तील शिफ़ाई खुला है झूट का बाज़ार आओ सच बोलें  न हो बला से ख़रीदार आओ सच बोलें  -क़तील शिफ़ाई ये भी तो सोचिए कभी तन्हाई में ज़रा  दुनिया से हम ने क्या लिया दुनिया को क्या दिया  - हफ़ीज़ मेरठी waqt quotes images in hindi सारे पत्