khesari lal yadav and smriti sinha bhojpuri song got viral सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

khesari lal yadav and smriti sinha bhojpuri song got viral


खेसारी लाल यादव और स्मृति सिन्हा का ये सॉन्ग हो रहा वायरल, देखें


भोजपुरी इंडस्ट्री में ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में खेसारी लाल यादव काफी मशहूर हैं। उनके कामों को दुनियाभर से सराहना मिलती है। अब इन दिनों खेसारी लाल यादव और स्मृति सिन्हा का एक गाना सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस गाने का नाम चेहरा चांद के जइसन है। इस गाने को यूट्यूब पर काफी देखा जा रहा है।


यूट्यूब पर वायरल हो रहे वीडियो में स्मृति सिन्हा ने नीले और ऑरेंज रंग की साड़ी पहन रखी है। वहीं, खेसारी लाल यादव ने लाल रंग की जैकेट पहनी हुई है। इस गाने के लिरिक्स लिखे हैं आजाद सिंह ने। इसके अलावा म्यूजिक डायरेक्टर हैं अविनाश झा।


‘कबीर सिंह’ को धो डाला करीना ने


बचपन से अपने नियम पर कायम हैं तमन्ना


इस गाने को यूट्यूब पर वर्ल्डवाइड रिकॉर्ड्स भोजपुरी ने अपलोड किया है। अभी तक इस गाने को यूट्यूब पर छह मिलियन से ज्यादा बार देखा जा चुका है। हालांकि, इस गाने को यूट्यूब पर अपलोड किए भी काफी समय हो गया है।

















War Box Office Collection Day 10: बॉक्स ऑफिस पर ‘द स्काई इज पिंक’ को पछाड़ती नजर आई फिल्म ‘वॉर’, कमाए इतने करोड़


War Box Office Collection Day 10: हालिया रिलीज फिल्म ‘वॉर’ का दसवें दिन का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन सामने आ चुका है। इसने सात करोड़ के आसपास की कमाई की है। एक्शन फिल्म होने के बावजूद ऋतिक रोशन और टाइगर श्रॉफ की इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाया हुआ है। वैसे फिल्म को दर्शकों समेत फिल्म एनालिस्ट से अच्छा रिस्पॉन्स मिला है।


कल यानी 11 अक्टूबर के दिन प्रियंका चोपड़ा और फरहान अख्तर की फिल्म ‘द स्काई इज पिंक’ भी रिलीज हुई है। जिसका पहले दिन का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन सामने आया है। फिल्म ने केवल ढाई करोड़ की कमाई की है। ऋतिक की फिल्म ‘वॉर’ से अगर बॉक्स ऑफिस पर कमाई के रूप में तुलना की जाए तो प्रियंका चोपड़ा की फिल्म ‘द स्काई इज पिंक’ ने काफी कम कलेक्शन किया है। आपको बता दें कि ये सभी आंकड़े बॉक्स ऑफिस इंडिया के हवाले से सामने आए हैं।


























बॉलीवुड मसाला: पढ़ें बॉलीवुड की 10 बड़ी खबरें और गॉसिप


1- War Box Office Collection Day 10: बॉक्स ऑफिस पर ‘द स्काई इज पिंक’ को पछाड़ती नजर आई फिल्म ‘वॉर’, कमाए इतने करोड़


War Box Office Collection Day 10: हालिया रिलीज फिल्म ‘वॉर’ का दसवें दिन का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन सामने आ चुका है। इसने सात करोड़ के आसपास की कमाई की है। एक्शन फिल्म होने के बावजूद ऋतिक रोशन और टाइगर श्रॉफ की इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाया हुआ है। वैसे फिल्म को दर्शकों समेत फिल्म एनालिस्ट से अच्छा रिस्पॉन्स मिला है।


2- खेसारी लाल यादव और स्मृति सिन्हा का ये सॉन्ग हो रहा वायरल, देखें VIDEO


भोजपुरी इंडस्ट्री में ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में खेसारी लाल यादव काफी मशहूर हैं। उनके कामों को दुनियाभर से सराहना मिलती है। अब इन दिनों खेसारी लाल यादव और स्मृति सिन्हा का एक गाना सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस गाने का नाम चेहरा चांद के जइसन है। इस गाने को यूट्यूब पर काफी देखा जा रहा है।


3- The Sky Is Pink Box Office Collection Day 1: बॉक्स ऑफिस पर नहीं हुई ‘द स्काई इज पिंक’ सफल, पहले दिन कमा पाई केवल इतने ही करोड़


The Sky Is Pink Box Office Collection Day 1: प्रियंका चोपड़ा और फरहान अख्तर की फिल्म ‘द स्काई इज पिंक’ कल रिलीज हो चुकी है और इसका पहले दिन का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन भी सामने आ चुका है। शोनाली बोस द्वारा निर्देशित फिल्म ने पहले दिन कुछ ज्यादा कमाई नहीं की है। बॉक्स ऑफिस इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक फिल्म केवल ढाई करोड़ का ही बिजनेस कर पाई है। जो कि किसी फिल्म की कम सक्सेस होने के पीछे बहुत बड़ी वजह है।


4- हॉलीवुड सीरीज 'हाउस ऑफ कार्ड्स' पर आधारित होगी सैफ अली खान की अगली वेब सीरीज 'तांडव’


सेक्रेड गेम्स के जरिये वेब धारावाहिक की दुनिया में प्रवेश करने वाले अभिनेता सैफ अली खान अब एक दूसरी (सीरीज) 'तांडव’ में दिखेंगे। सैफ के अनुसार यह सीरीज अमेरिकी राशृंखलाजनीतिक थ्रिलर 'हाउस ऑफ कार्ड्स’ पर आधारित होगी।


5- अब सिर्फ बड़े नाम से काम नहीं चलता: फरहान


फरहान अख्तर बहुआयामी प्रतिभा के धनी हैं। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत बतौर निर्देशक व निर्माता की थी। फिर उन्होंने अभिनय और गायकी में भी अपना लोहा मनवाया। इन दिनों वह अपनी निजी जिंदगी और अफेयर को भी लेकर काफी चर्चा में रहते हैं। उनकी एक और खासियत है, और वह है बेबाकी। उनसे नीलम कोठारी की बातचीत:


6- सौ करोड़ नहीं, अब दो सौ करोड़ का दौर


अगर किसी के अच्छे दिन चल रहे हैं, तो वह है बॉलीवुड। कोई मंदी लोगों के सिनेमाप्रेम के आड़े नहीं आ रही है। अपवादों को छोड़ दें, तो फिल्म अगर थोड़ी भी ठीक हुई, उसे दर्शकों ने शाबासी दी। ऐसा लग रहा है कि लोग फिल्में देखने के लिए उत्सुक हैं।


7- राजस्थान में फिल्म 'सांड की आंख' हुई करमुक्त


राजस्थान सरकार ने बालीवुड फिल्म 'सांड की आंख' को करमुक्त करने की घोषणा की है। सरकारी बयान के अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने महिला सशक्तीकरण एवं खेल पर आधारित फिल्म 'सांड की आंख’ को राज्य के मल्टीप्लैक्स तथा सिनेमाघरों में प्रदर्शन पर लगने वाले राज्य माल एवं सेवा कर (एसजीएसटी) से छूट प्रदान करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।


8- ‘कबीर सिंह’ को धो डाला करीना ने


फिल्म ‘कबीर सिंह’ को रिलीज हुए यूं तो महीनों हो गए हैं पर यह अब तक लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी हुई है। वो शायद इसलिए कि कुछ लोगों को फिल्म की कहानी कतई पसंद नहीं आई। वहीं, कुछ ने कहा कि इसमें महिलाओं को कमजोर दिखाने की कोशिश की गई है। जब हाल ही में शाहिद की एक्स गर्लफ्रेंड रहीं करीना कपूर खान से इस बारे में बात की गई तो उन्होंने हमेशा की तरह दो टूक जवाब दिया।


9- बचपन से अपने नियम पर कायम हैं तमन्ना


अभिनेत्री तमन्ना भाटिया तमिल और तेलुगू फिल्मों के साथ हिंदी फिल्मों में भी काम कर रही हैं। अभिनय की दुनिया में कदम रखने के बाद भले ही उनके लिए कई चीजें बदल चुकी हों लेकिन तमन्ना ने अपना एक नियम बरकरार रखा है। वो ये कि उन्होंने अब तक पर्दे पर किसी भी अभिनेता को किस नहीं किया है।


10- रणबीर को खूब मस्का मार रहीं वाणी


लगता है अभिनेत्री वाणी कपूर को रणबीर कपूर कुछ ज्यादा ही पसंद हैं। जब से उन्होंने फिल्म ‘शमशेरा’ साइन की है, वह उनकी तारीफ करती नहीं थक रही हैं। एक हालिया इंटरव्यू में वाणी ने कहा, ‘रणबीर में सबसे अच्छी बात यह है कि वह बिल्कुल घमंडी नहीं हैं। उन्हें देख कहीं से भी ऐसा नहीं लगता कि वह सुपरस्टार हैं।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Famous Love Shayari Of These Five Noted Urdu Poet होठों पे मुहब्बत के फ़साने नहीं आते

  Bashir badr shayari  बशीर बद्र की नज़्मों में मोहब्बत का दर्द समाया हुआ है। उनकी शायरी का एक-एक लफ़्ज़ इसका गवाह है। Bashir badr shayari     होठों पे मुहब्बत के फ़साने नहीं आते साहिल पे समुंदर के ख़ज़ाने नहीं आते पलकें भी चमक उठती हैं सोते में हमारी आंखों को अभी ख़्वाब छुपाने नहीं आते दिल उजड़ी हुई इक सराये की तरह है अब लोग यहाँ रात जगाने नहीं आते उड़ने दो परिंदों को अभी शोख़ हवा में फिर लौट के बचपन के ज़माने नहीं आते इस शहर के बादल तेरी ज़ुल्फ़ों की तरह हैं ये आग लगाते हैं बुझाने नहीं आते अहबाब भी ग़ैरों की अदा सीख गये हैं आते हैं मगर दिल को दुखाने नहीं आते मोहब्बत के शायर हैं जिगर मुरादाबादी इक लफ़्ज़-ए-मुहब्बत का अदना सा फ़साना है सिमटे तो दिल-ए-आशिक़, फ़ैले तो ज़माना है हम इश्क़ के मारों का इतना ही फ़साना है रोने को नहीं कोई हंसने को ज़माना है ये इश्क़ नहीं आसां, बस इतना समझ लीजे एक आग का दरिया है और डूब के जाना है     जिगर मुरादाबादी शायरी     वो हुस्न-ओ-जमाल उन का, ये इश्क़-ओ-शबाब अपना जीने की तमन्ना है, मरने का ज़माना है अश्क़ों के तबस्सुम में, आहों के तरन्नुम में मासूम मुहब्ब