IND v WI: अंतिम बाजी जीतने उतरेगा भारत, वेस्टइंडीज के साथ तीसरा और निर्णायक टी-20 आज सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

IND v WI: अंतिम बाजी जीतने उतरेगा भारत, वेस्टइंडीज के साथ तीसरा और निर्णायक टी-20 आज


खास बातें

पहले दो मैचों में नाकाम रहे रोहित घर में खेलना चाहेंगे बड़ी पारी

03 मुकाबले टीम इंडिया इस मैदान पर खेले हैं और उसे एकमात्र जीत दिसंबर 2017 में श्रीलंका के खिलाफ पांच विकेट से मिली थी

01 मुकाबला दोनों टीमों के बीच इस मैदान पर तीन साल पहले खेला गया था जिसमें विंडीज ने भारत को मात दी थी

03 साल पहले (2016 में) इसी मैदान पर वेस्टइंडीज ने विश्व कप सेमीफाइनल में भारत को हराया था और बाद में बना था विश्व चैंपियन




टीम इंडिया और वेस्टइंडीज के बीच टी-20 की जंग रोचक हो गई है। दोनों टीमें एक-एक मुकाबला जीत चुकी हैं और बुधवार को वानखेड़े स्टेटियम में जो जीता वही सिकंदर होगा। यह वही मैदान जहां है तीन साल पहले वेस्टइंडीज क्रिकेट के इस छोटे प्रारूप में भारत का सफर थाम कर विश्व चैंपियन बना था। उसने टीम इंडिया को पहले सेमीफाइनल में सात विकेट से धोया उसके बाद फाइनल में इंग्लैंड को चार विकेट से हराकर दूसरी बार यह खिताब जीता था। उसके बाद से दोनों टीमें पहली बार इस मैदान पर आमने-सामने होंगी। अब देखना रोचक होगा कि कोहली एंड कंपनी उस हार का बदला चुका पाती है यह कैरेबियाई टीम एक और जख्म उसे देती है। भारत के लिए बल्लेबाजी कभी समस्या नहीं थी। ओपनर रोहित शर्मा पिछले दो मैचों में नाकाम रहे लेकिन अब घरेलू मैदान पर बड़ी पारी खेलना चाहेंगे। केएल राहुल और कोहली ने रन बनाए हैं। पहला टी-20 अर्द्धशतक बनाने वाले शिवम दुबे ने आक्रामक पारी खेली। टीम इंडिया को उनसे फिर बड़ी पारी की उम्मीद होगी।





अब देखना रोचक होगा कि कोहली एंड कंपनी उस हार का बदला चुका पाती है यह कैरेबियाई टीम एक और जख्म उसे देती है। भारत के लिए बल्लेबाजी कभी समस्या नहीं थी। ओपनर रोहित शर्मा पिछले दो मैचों में नाकाम रहे लेकिन अब घरेलू मैदान पर बड़ी पारी खेलना चाहेंगे। केएल राहुल और कोहली ने रन बनाए हैं। पहला टी-20 अर्द्धशतक बनाने वाले शिवम दुबे ने आक्रामक पारी खेली। टीम इंडिया को उनसे फिर बड़ी पारी की उम्मीद होगी।


वानखेड़े में अजेय है विंडीज

वेस्टइंडीज ने यहां दो मुकाबले खेले हैं और दोनों में शानदार जीत दर्ज की है। विंडीज ने 2016 विश्व कप के पहले मुकाबले में इंग्लैंड को छह विकेट से और फिर भारत को सात विकेट से धोया था।


सुंदर या कुलदीप

भारतीय खेमे की नजरें युवा ऑफ स्पिनर वाशिंगटन सुंदर और खराब फॉर्म से जूझ रहे विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत लगी होगी। देखना यह है कि टीम प्रबंधन सुंदर को उतारता है या चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव को मौका मिलता है। सुंदर ने पिछले पांच टी20 मैचों में सिर्फ विकेट जड़े हैं। उसने वेस्टइंडीज के खिलाफ दो और बांग्लादेश के खिलाफ तीन मैचों में 23 ओवरों में 144 रन दे डाले। कुलदीप ने आखिरी टी20 मैच हैमिल्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ फरवरी में खेला था। पहले दो मैचों में उन्हें टीम में जगह नहीं मिल सकी।


पंत के लिए मुश्किल हो रहे हालात

पंत के लिए हालात मुश्किल होते जा रहे हैं। धोनी के वारिस समझे जा रहे पंत के लिए अपेक्षाओं का दबाव सह माना मुश्किल हो रहा है। चौथे नंबर पर उतरकर पिछली सात टी-20 पारियों में उन्होंने नाबाद 33, 18, 6, 27,19, 4 रन बनाए हैं। उन्होंने आखिरी अर्द्धशतक अगस्त में वेस्टइंडीज के खिलाफ लगाया था। संजू सैमसन जैसे क्रिकेटरों से प्रतिस्पर्धा का सामना कर रहे पंत को समय रहते प्रदर्शन में सुधार करना होगा।


खराब फील्डिंग चिंता का विषय

कप्तान कोहली फील्डिंग को लेकर भी चिंतित होंगे। पिछले मैच में उसने लेंडल सिमंस का आसान कैच टपकाया जिसने 45 गेंद में 67 रन बनाकर वेस्टइंडीज की जीत की नींव रखी। भारतीय फील्डरों ने भी कई कैच टपकाए और फालतू रन दिए। कोहली ने कहा भी है कि अगर क्षेत्ररक्षण ऐसा रहा तो कोई भी स्कोर नाकाफी होगा। भारत की गेंदबाजी अभी भी चिंता का सबब है। दीपक चाहर और भुवनेश्वर कुमार ने पहले दो मैचों में रन दिए। चाहर बांग्लादेश के खिलाफ वाला फॉर्म नहीं दोहरा सके।


पोलार्ड और सिमंस का रास आता है वानखेड़े

विंडीज के ओपनर लेंडल सिमंस को यह मैदान काफी रास आता है। तीन साल पहले टीम को विश्व कप जीताने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई थी। सिमंस, पोलार्ड और लुईस आईपीएल में मुंबई की ओर से खेलते हैं और उन्हें इस मैदान पर खेलने का अच्छा खास अनुभव है। निकोलस पूरन और हेतमायर ने भी पिछले दो मैचों में अच्छी पारियां खेली। गेंदबाजों में कॉर्टल को विकेट मिले हैं। केसरिक विलियम्स, लेग स्पिनर वाल्श और होल्डर को अनुशासित प्रदर्शन करना होगा।


दोनों टीमें

भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, लोकेश राहुल, संजू सैमसन, ऋषभ पंत, मनीष पांडे, श्रेयस अय्यर, शिवम दुबे, रविंद्र जडेजा, वाशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, दीपक चाहर, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी। वेस्टइंडीज: किरोन पोलार्ड (कप्तान), फेबियन एलेन, ब्रैंडन किंग, दिनेश रामदीन, शेल्डन कॉटर्ल, इविन लुईस, शेरफाने रदरफोर्ड, शिमरोन हेतमायर, खारी पियरे, लेंडल सिमंस, जेसन होल्डर, हेडेन वॉल्श, कीमो पॉल, केसरिक विलियम्स।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे