OnePlus 6th Anniversary: OnePlus 7 सीरीज के स्मार्टफोन पर Rs 6,000 तक की छूट सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

OnePlus 6th Anniversary: OnePlus 7 सीरीज के स्मार्टफोन पर Rs 6,000 तक की छूट






पिछले छह वर्षों में OnePlus ब्रांड को भारत उत्तरी अमेरिका यूरोप और चीन जैसे बाजारों से उल्लेखनीय प्रतिक्रिया मिली है। नई दिल्ली, टेक डेस्क। ग्लोबल टेक्नोलॉजी ब्रांड OnePlus ने दुनियाभर में अपनी छठीं वर्षगांठ मना रही है। 2013 में अपनी स्थापना के बाद से ही इस ब्रांड ने विश्व के अलग-अलग क्षेत्रों में अपनी सफलता देखी है। इसका स्मार्टफोन लोगों में काफी लोकप्रिय है। पिछले छह वर्षों में OnePlus ब्रांड को भारत, उत्तरी अमेरिका, यूरोप और चीन जैसे बाजारों से उल्लेखनीय प्रतिक्रिया मिली है। पिछले दो वर्षों से प्रीमियम ब्रांड के रूप में OnePlus ने अपनी स्थिति को मजबूती के साथ स्थापित किया है। क्वार्टर 3 के लिए हाल ही में किए गए काउंटरपॉइंट क्वार्टर्ली रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार OnePlus ने 95 फीसदी के साथ साल-दर-साल वृद्धि दर्ज की है।



रिपोर्ट के अनुसार, OnePlus इस तिमाही में सबसे तेजी से बढ़ते स्मार्टफोन ब्रांडों में से एक है। भारतीय उपभोक्ताओं के बीच बढ़ती लोकप्रियता इसका प्रमाण है। OnePlus ने हाल ही में भारत में अपनी पहली R&D फैसिलिटी खोली है, जो आने वाले तीन वर्षों में ब्रांड की सबसे बड़ी R&D फैसिलिटी के रूप में काम करेगी। यही नहीं, OnePlus ब्रांड भारत में ऑफलाइन सेगमेंट में भी सक्रिय रूप से विस्तार कर रहा है और टियर 2 मार्केट में भी प्रवेश कर रहा है। अपने रिटेल एक्सपेंशन प्लान के तहत, OnePlus का लक्ष्य अगले साल के अंत तक 5000+ ऑफलाइन स्टोर्स और सर्विस सेंटर्स को संचालित करना है।



वर्षगांठ का जश्न मनाते हुए, OnePlus India के जनरल मैनेजर विकास अग्रवाल ने अपनी बात साझा करते हुए कहा, “पिछले छह वर्षों में कई सफलताओं और नई सीखों के साथ एक ब्रांड के रूप में OnePlus की यात्रा शानदार रही है। 2019 हमारे लिए एक विशेष वर्ष रहा है। इस साल न केवल हम OnePlus 7 सीरीज स्मार्टफोन लेकर आए, बल्कि नया प्रोडक्ट पोर्टफोलियो - OnePlus TV भी लॉन्च किया। हम भारत में पहला OnePlus म्यूजिक फेस्टिवल लेकर आए। साथ ही यहां हमने सबसे बड़ी R&D फैसिलिटी भी खोली।”



उन्होंने आगे कहा, "इन प्रयासों के अनुरूप, हम भारत में अपनी खुदरा उपस्थिति को सक्रिय रूप से बढ़ा रहे हैं, ताकि भारत के सभी क्षेत्रों में OnePlus के इच्छुक यूजर्स को प्रीमियम टेक्नोलॉजी का अनुभव मिल सके। हम अपने कम्युनिटी के लिए आभारी हैं कि उन्होंने ब्रांड की पहचान को आकार देने और प्रोडक्ट की स्थिति को ऊपर उठाने में अभिन्न भूमिका निभाई है। हमें उम्मीद है कि कम्युनिटी सेलिब्रेशन ऑफर का सबसे अधिक लाभ उठाने में सक्षम होगा। हम निश्चित हैं कि एनिवर्सरी ऑफर की ये सीरीज हमारे वर्तमान OnePlus कम्युनिटी के सदस्यों के साथ-साथ रुचि रखने वाले यूजर्स को OnePlus की नवीन टेक्नोलॉजी का आनंद लेने का अवसर प्रदान करेगी।”



भारत में अपनी सफल यात्रा का जश्न मनाने और भारत में अपने OnePlus कम्युनिटी को वापस देने के प्रयास के रूप में, OnePlus ने अविश्वसनीय ऑफर की एक रेंज की घोषणा की है, जो अपने यूजर्स को लेटेस्ट OnePlus 7 सीरीज डिवाइसेज में अपग्रेड करने के लिए एक विशेष अवसर प्रदान करती है।



OnePlus यूजर्स और कस्टमर्स शुक्रवार, 6 दिसंबर 2019 से मंगलवार, 17 दिसंबर 2019 तक शुरू होने वाले इन ऑफर का लाभ उठा सकते हैं। OnePlus अपने स्मार्टफोन्स OnePlus 7 Pro और OnePlus 7T पर 2,000 रुपए से 6,000 रुपए तक की छूट भी दे रहा है। इसके अतिरिक्त, HDFC कार्ड धारक OnePlus 7 Pro, OnePlus 7T और OnePlus 7T Pro की खरीद पर क्रमश: 2,000 रुपए, 1,500 रुपए और 3,000 रुपए की तत्काल छूट का लाभ उठा सकते हैं। ये लाभ OnePlus के सभी बिक्री प्लेटफॉर्म पर मिलेगा।




इसके अलावा OnePlus 7 Pro, OnePlus 7T और OnePlus 7T Pro के लिए Amazon.in, OnePlus.in और OnePlus के एक्सपीरियंस स्टोर पर छह महीने तक स्पेशल नो-कॉस्ट EMI की एक सीरीज भी दी जाएगी। इस सब ऑफर्स के साथ मौजूदा OnePlus यूजर्स अपने पुराने OnePlus डिवाइसेज को एक्सचेंज कर सकते हैं और Amazon.in व OnePlus एक्सपीरियंस स्टोर पर किसी भी OnePlus 7 सीरीज डिवाइस की खरीद पर 2,000 का कैशबैक प्राप्त कर सकते हैं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे