रोहित शर्मा ने लगाया वनडे करियर का 28वां शतक, लगा दी रिकॉर्ड्स की झड़ी सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

रोहित शर्मा ने लगाया वनडे करियर का 28वां शतक, लगा दी रिकॉर्ड्स की झड़ी

India vs West Indies वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे वनडे में रोहित शर्मा ने धैर्यभरी पारी खेलते हुए शतक जड़ा।   




Ind vs WI: रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने चेन्नई में खेले गए पहले वनडे की कसर विशाखापत्तनम में पूरी कर दी। रोहित ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज के दूसरे मैच में अपने वनडे करियर का 28वां शतक लगाया। ये रोहित शर्मा का 220वां वनडे मैच है और उन्होंने विशाखापत्तनम में दर्शकों का जमकर मनोरंजन करते हुए अपने वनडे करियर का ये अहम पड़ाव हासिल किया।


रोहित का 28वां शतक
रोहित शर्मा ने वेस्टइंडीज के विरुद्ध विशाखापत्तनम में बेहद धैर्यभरी पारी खेली। उन्होंने अपने शॉट लगाने में कोई जल्दबाजी नहीं दिखाया और खराब गेंदों को बाउंड्री के पार पहुंचाने में कोई कसर नहीें छोड़ी। रोहित ने अपना ये शतक 107 गेंदों पर पूरा किया। अपनी इस शतकीय पारी में उन्होंने 11 चौके व 2 छक्के लगाए। रोहित ने इस मुकाबले में पारी की शुरुआत केएल राहुल के साथ ही और पहले विकेट के लिए शानदार साझेदारी की। इस मैच में पहले विकेट के लिए केेएल राहुल और रोहित शर्मा के बीच 227 रन की साझेदारी हुई। रोहित शर्मा ने इस मैच में 138 गेंदों पर 159 रन बनाए। अपनी पारी में उन्होंने 17 चौके व पांच छक्के लगाए।


रोहित ने वार्नर व गांगुली की बराबरी
साल 2019 में ये रोहित शर्मा का 7वां वनडे शतक था। अब एक साल में सबसे ज्यादा वनडे में शतक लगाने के मामले में उन्होंने डेविड वार्नर और सौरव गांगुली की बराबरी कर डाली। गांगुली और वार्नर ने साल 2000 और 2016 में वनडे में सात-सात शतक लगाए थे। इस मामले में पहले स्थान पर सचिन हैं जिन्होंने 1998 में कुल 9 शतक लगाए थे।


रोहित शर्मा ने लगाया वनडे करियर का 28वां शतक, लगा दी रिकॉर्ड्स की झड़ी
India vs West Indies वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे वनडे में रोहित शर्मा ने धैर्यभरी पारी खेलते हुए शतक जड़ा। नई दिल्ली, जेएनएन। Ind vs WI: रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने चेन्नई में खेले गए पहले वनडे की कसर विशाखापत्तनम में पूरी कर दी। रोहित ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज के दूसरे मैच में अपने वनडे करियर का 28वां शतक लगाया। ये रोहित शर्मा का 220वां वनडे मैच है और उन्होंने विशाखापत्तनम में दर्शकों का जमकर मनोरंजन करते हुए अपने वनडे करियर का ये अहम पड़ाव हासिल किया।


रोहित का 28वां शतक
रोहित शर्मा ने वेस्टइंडीज के विरुद्ध विशाखापत्तनम में बेहद धैर्यभरी पारी खेली। उन्होंने अपने शॉट लगाने में कोई जल्दबाजी नहीं दिखाया और खराब गेंदों को बाउंड्री के पार पहुंचाने में कोई कसर नहीें छोड़ी। रोहित ने अपना ये शतक 107 गेंदों पर पूरा किया। अपनी इस शतकीय पारी में उन्होंने 11 चौके व 2 छक्के लगाए। रोहित ने इस मुकाबले में पारी की शुरुआत केएल राहुल के साथ ही और पहले विकेट के लिए शानदार साझेदारी की। इस मैच में पहले विकेट के लिए केेएल राहुल और रोहित शर्मा के बीच 227 रन की साझेदारी हुई। रोहित शर्मा ने इस मैच में 138 गेंदों पर 159 रन बनाए। अपनी पारी में उन्होंने 17 चौके व पांच छक्के लगाए।


रोहित ने वार्नर व गांगुली की बराबरी
साल 2019 में ये रोहित शर्मा का 7वां वनडे शतक था। अब एक साल में सबसे ज्यादा वनडे में शतक लगाने के मामले में उन्होंने डेविड वार्नर और सौरव गांगुली की बराबरी कर डाली। गांगुली और वार्नर ने साल 2000 और 2016 में वनडे में सात-सात शतक लगाए थे। इस मामले में पहले स्थान पर सचिन हैं जिन्होंने 1998 में कुल 9 शतक लगाए थे।


Most ODI 100s in a calendar year:


-9 Sachin Tendulkar (1998)

-7 Sourav Ganguly (2000)

-7 David Warner (2016)

-7 ROHIT SHARMA (2019)

रोहित ने जयसूर्या की बराबरी की और हाशिम अमला को पीछे छोड़ा


रोहित शर्मा का वनडे में ये 28वां शतक था। इस मामले में उन्होंने श्रीलंका के पूर्व बल्लेबाज सनथ जयसूर्या की बराबरी कर डाली। इसके अलावा उन्होंने हाशिल अमला को पीछे छोड़ दिया जिनका वनडे में 27 शतक था। वनडे में सबसे ज्यादा शतक लगाने के मामले में रोहित अब जयसूर्या का साथ संयुक्त तौर पर चौथे स्थान पर आ गए हैं। अब उनसे आगे रिकी पोंटिंग, विराट कोहली व सचिन तेंदुलकर हैं।


Most ODI 100s since the start of 2017:



-18 - ROHIT SHARMA
-17 - Virat Kohli

-9 - Jonny Bairstow

-8 - Dhawan/Babar/Finch/Root



वनडे में भारत के लिए चौथी सबसे बड़ी साझेदारी


विराट व राहुल ने पहले विकेट के लिए 227 रन की साझेदारी की जो भारत की तरफ से पहले विकेट के लिए चौथी सबसे बड़ी साझेदारी साबित हुई।


Highest opening partnerships for India (ODIs)


-258 Tendulkar - Ganguly vs Ken 2001

-252 Tendulkar - Ganguly vs SL 1998

-231 Dhawan - Rahane vs SL 2014

-227 ROHIT - RAHUL vs WI 2019



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे