उत्तर प्रदेश सामान्य ज्ञान : UPTET, UPPSC, UPSSSC समेत हर परीक्षा में मिलेगी मदद सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

उत्तर प्रदेश सामान्य ज्ञान : UPTET, UPPSC, UPSSSC समेत हर परीक्षा में मिलेगी मदद


सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में सामान्य ज्ञान के सवाल जरूर पूछे जाते हैं। परीक्षा चाहे केंद्रीय हो या राज्य स्तर की, सामान्य ज्ञान ऐसा विषय है जिसमें कहीं से भी सवाल पूछा जा सकते हैं। जो उम्मीदवार प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, उन्हें सभी राज्यों के सामान्य अध्ययन की जानकारी होनी जरूरी है। इसलिए आज हम आपके लिए लेकर आए हैं उत्तर प्रदेश का सामान्य ज्ञान।यहां उत्तर प्रदेश के बारे में ऐसे कई सवाल-जवाब दिए जा रहे हैं, जो यूपीटीईटी से लेकर यूपीपीएससी, यूपीएसएसएससी समेत अन्य किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में आपकी मदद करेंगे। आप इन्हें अपने नोट्स में भी शमिल कर सकते हैं। आगे की स्लाइड्स देखें।





क्षेत्रफल - 2,40,928 वर्ग किमी (भारत के कुल क्षेत्रफल का तकरीबन 7.33 प्रतिशत)

क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत में स्थान - चौथा

राज्यपाल- श्रीमती आनंदीबेन पटेल

मुख्यमंत्री- श्री योगी आदित्यनाथ

राजकीय चिन्ह - मछली

राजकीय पुष्प - पलाश

राजकीय वृक्ष - अशाेक

राजकीय पशु - बारहसिंगा

राजकीय पक्षी - सारस या क्रौंच

उत्तर प्रदेश दिवस - 24 जनवरी




लिंगानुपात - 912

जनसंख्या घनत्व - 829 प्रति वर्ग किमी

जनसंख्या की दशकीय वृद्धि दर - 20.2 प्रतिशत

कुल साक्षरता दर - 67.7 प्रतिशत

सर्वाधिक वर्षा वाला जिला - गोरखपुर

न्यूनतम वर्षा वाला जिला - मथुरा

नगर निगम - 17

राष्ट्रीय राजमार्गों की लंबाई की दृष्टि से देश में स्थान - पहला

प्रदेश से होकर गुजरने वाला सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग - NH 19

सबसे पुराना राष्ट्रीय राजमार्ग - NH2







उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की स्थापना-1972

सर्वाधिक वन प्रतिशत वाला जिला -सोनभद्र

न्यूनतम वन प्रतिशत वाला जिला - भदोही

सबसे बड़ा वन्य जीव विहार - हस्तिनापुर वन्य जीव विहार (मेरठ)

सबसे छोटा वन्य जीव विहार - पटना वन्य जीव विहार (एटा)

सबसे पुराना वन्य जीव विहार - चंद्रप्रभा वन्य जीव विहार (चंदौली)

सबसे बड़ा पक्षी वन्य जीव विहार - लाख बहोशी पक्षी वन्य जीव विहार (कन्नौज)

सबसे छोटा पक्षी विहार - शेखा पक्षी विहार (अलीगढ़)

प्रदेश के कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का कितने प्रतिशत वन क्षेत्र है - 6.09 प्रतिशत

प्रतिशत उत्तर प्रदेश राज्य खनिज विकास निगम की स्थापना - 23 मार्च 1974










कृत्रिम रबर कारखाना - मोदीनगर (बरेली)

अफीम का कारखाना - गाजीपुर

पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिया गया - 1998

उत्तर प्रदेश पर्यटन विकास निगम सर्वाधिक मेले - मथुरा

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हैंडलूम टैक्नोलॉजी - वाराणसी

भारतीय चरागाह एवं चारा अनुसंधान संस्थान - झांसी

सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला - इलाहाबाद

न्यूनतम जनसंख्या वाला जिला- महोबा

सर्वाधिक पुरुष जनसंख्या - इलाहाबाद

सर्वाधिक महिला जनसंख्या - इलाहाबाद









सर्वाधिक दशकीय वृद्धि दर वाला जिला -गौतम बुद्ध नगर

न्यूनतम दशकीय वृद्धि दर वाला जिला - कानपुर नगर

सर्वाधिक जनघनत्व वाला जिला - गाजियाबाद की

न्यूनतम जनघनत्व वाला जिला - ललितपुर

सर्वाधिक साक्षर जिला - गौतम बुद्ध नगर

न्यूनतम साक्षर जिला - श्रावस्ती

सर्वाधिक पुरुष साक्षरता - गौतमबुद्ध नगर

न्यूनतम पुरुष साक्षरता - श्रावस्ती

सर्वाधिक महिला साक्षरता - कानपुर नगर

न्यूनतम महिता साक्षरता - श्रावस्ती
''










सर्वाधिक लिंगानुपात- जौनपुर

न्यूनतम लिंगानुपात - गौतमबुद्ध नगर

सर्वाधिक शिशु लिंगानुपात - बलरामपुर

न्यूनतम शिशु लिंगानुपात - बागपत

सर्वाधिक ग्रामीण जनसंख्या - इलाहाबाद

न्यूनतम ग्रामीण जनसंख्या - गौतमबुद्ध नगर

सर्वाधिक ग्रामीण प्रतिशत वाला जिला - श्रावस्ती

न्यूनतम ग्रामीण प्रतिशत वाला जिला - गाजियाबाद

सर्वाधिक ग्रामीण साक्षरता - औरैया

न्यूनतम ग्रामीण साक्षरता - श्रावस्ती










सर्वाधिक ग्रामीण शिशु लिंगानुपात -बलरामपुर

न्यूनतम ग्रामीण शिशु लिंगानुपात- गौतमबुद्ध नगर

सर्वाधिक नगरीय जनसंख्या - गाजियाबाद

न्यूनतम नगरीय जनसंख्या - श्रावस्ती

सर्वाधिक नगरीय जनसंख्या प्रतिशत - गाजियाबाद

न्यूनतम नगरीय जनसंख्या प्रतिशत -श्रावस्ती

सर्वाधिक अनुसूचित जाति जनसंख्या - सीतापुर

न्यूनतम अनुसूचित जाति जनसंख्या -बागपत

सर्वाधिक अनुसूचित जाति प्रतिशतता - कौशाम्बी

न्यूनतम अनुसूचित जाति प्रतिशतता - बागपत









सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति जनसंख्या - सोनभद्र

न्यूनतम अनुसूचित जनजाति जनसंख्या -बागपत

सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति प्रतिशतता - सोनभद्र

वैधानिक नगरों की सर्वाधिक - बदायूं

वैधानिक नगरों की न्यूनतम संख्या वाला जिला - श्रावस्ती

एकमात्र जिला जिसकी सीमा हिमाचल प्रदेश से लगती है - सहारनपुर

प्रदेश के सर्वाधिक जिलों को स्पर्श करने वाला जिला - बदायूं

प्रदेश के सबसे कम जिलों को स्पर्श करने वाला जिला - ललितपुर

एनसीआर में शामिल उत्तर प्रदेश के जिले - गाजियाबाद, हापुड़, मेरठ, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, मुजफ्फरनगर, शामली और बागपत

अधिकतम वन क्षेत्र वाला जिला - सोनभद्र

न्यूनतम वन क्षेत्र वाला जिला - भदोही

अधिकतम वन क्षेत्र प्रतिशत वाला जिला - सोनभद्र

न्यूनतम वन क्षेत्र प्रतिशत वाला जिला -संत रविदास नगर

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे