Entertainment Bollywood Bigg Boss 13 Siddharth Shukla 5 Strategy In House Involve Rashami Desai And Shehnaz Kaur Gill सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Entertainment Bollywood Bigg Boss 13 Siddharth Shukla 5 Strategy In House Involve Rashami Desai And Shehnaz Kaur Gill


Bigg Boss 13: चार महीने में सिद्धार्थ शुक्ला ने घर में चले ये पांच दांव, शहनाज-रश्मि से खेला गेम

 Entertainment Bollywood Bigg Boss 13 Siddharth Shukla 5 Strategy In House Involve Rashami Desai And Shehnaz Kaur Gill
 Entertainment Bollywood Bigg Boss 13 Siddharth Shukla 5 Strategy In House Involve Rashami Desai And Shehnaz Kaur Gill


'बिग बॉस 13' (Bigg Boss 13) में सिद्धार्थ शुक्ला (Siddharth Shukla) घर के सबसे मजबूत दावेदार हैं। शो में अपने खेल और खेल की रणनीति से उन्होंने शो में बीते चार महीने से जबरदस्त पकड़ बनाई हुई है। यहां तक कि उन्हें एंग्री यंग मैन भी कहा गया। खास बात है 'बिग बॉस' में उनका सभी से झगड़ा हुआ बावजूद इसके उनके खेल की सभी तारीफ करते रहे। यहां तक कि घर के टॉप पांच कंटेस्टेंट्स की बात करें तो हर कोई उनका नाम लेने में एक बार भी पीछे नहीं हटा। शो के फिनाले में अब महज एक महीना बचा है। ऐसे में आज हम आपको सिद्धार्थ शुक्ला के ऐसे पांच दांव बताते हैं जो बीते चार महीनों में उन्होंने चले।




आसिम से दोस्ती
सिद्धार्थ शुक्ला और आसिम रियाज की दोस्ती शुरुआत से ही दर्शकों का दिल जीतने लगी थी। ये दोनों शो में एक दूसरा का हमेशा समर्थन करते थे। इन दोनों की दोस्ती न केवल शो के अंदर बल्कि बाहर भी हिट थी। हमेशा एक साथ बैठना,मस्ती मजाक करते रहना। आसिम से सिद्धार्थ की ये मजबूत दोस्ती उनका घर में पहला दांव था। हालांकि इन दोनों की दोस्ती अब टूट चुकी है।



रश्मि से बवाल
रश्मि देसाई और सिद्धार्थ शुक्ला का सीरियल 'दिल से दिल तक' हिट हुआ था। इस शो के दौरान रश्मि और सिद्धार्थ की नोंकझोक की खबरें आईं। शो की शुरुआत से ही इन लोगों ने इस नोंकझोक को भुनाने की कोशिश की। सिद्धार्थ का घर में यह दूसरा दांव था जो अब भी बरकरार है।




पारस से दोस्ती
आसिम से दोस्ती टूटने के बाद सिद्धार्थ की तरफ पारस छाबड़ा का आना तीसरा दांव हैं। पारस पहले सिद्धार्थ से खूब झगड़ते थे लेकिन आसिम से दोस्ती टूटने के बाद उन्होंने सिद्धार्थ से हाथ मिला लिया। शो में सिद्धार्थ शहनाज के अलावा पारस छाबड़ा और माहिरा के साथ ज्यादा बातचीत करते हुए दिखते हैं।



एंग्री यंग मैन
घर में सिद्धार्थ शुक्ला का हर किसी से झगड़ा हुआ। यहां तक कि छोटी छोटी बातों में भी वो गुस्सा हो जाते थे। इस व्यवहार की वजह से सिद्धार्थ को घर में एंग्री यंग मैन कहा जाने लगा। यहां तक कि सिद्धार्थ ने अपनी इस छवि को स्वीकारते हुए खूब भुनाया भी। ये सिद्धार्थ का घर में चौथा दांव था।




शहनाज से रोमांस
सिद्धार्थ शुक्ला की एंग्री यंग मैन की छवि के साथ-साथ रोमांटिक मूड को भी दर्शकों ने सराहा। इस काम में सिद्धार्थ का बखूबी साथ शहनाज कौर गिल ने दिया। ये दोनों घर में एक साथ मस्ती मजाक करते दिखे। यहां तक कि घर के बाहर #SidNaaz भी ट्रेंड करने लगा। सिद्धार्थ और शहनाज को जैसे ही घर में आए मेहमानों के जरिए ये बात पता चली तो इन दोनों ने इसे भी शो के लिए इस्तेमाल किया। इन दोनों को एक साथ देखना न केवल घरवालों बल्कि उनके प्रशंसकों को भी पसंद आया। सिद्धार्थ शहनाज से प्यार करती हैं और ख्याल भी रखती हैं तो वहीं सिद्धार्थ भी उनका पूरा ध्यान रखते हैं। इस तरह से ये सिद्धार्थ का घर में पांचवां दांव है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे