Bollywood › OTT List Of Best Ten Movies Of Bollywood Actress Kangana Ranaut सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Bollywood › OTT List Of Best Ten Movies Of Bollywood Actress Kangana Ranaut



 Bollywood ›   OTT List Of Best Ten Movies Of Bollywood Actress Kangana Ranaut
Bollywood › OTT List Of Best Ten Movies Of Bollywood Actress Kangana Ranaut


शिमला से वाया चंडीगढ़ और दिल्ली होते हुए मुंबई पहुंची कंगना रनौत की हिंदी सिनेमा में कामयाबी एक मिसाल मानी जाती है। कहने को कोई भी फिल्ममेकर उनका गॉडफादर होने का दम भरता रहे, लेकिन कंगना ने अपने इस सफर का हर अहम पड़ाव अपनी हिम्मत, अपने हौसले और अपने हुनर से पार किया है। अपने डेढ़ दशक के करियर में पहली फिल्म से ही कंगना अपने किरदारों से अपने चाहने वालों को चौंकाती रही है। आज उनके जन्मदिन पर आइए आपको बताते हैं, उनकी 10 बेहतरीन फिल्मों के बारे में और ये भी कि घर बैठे ये फिल्में आप कहां देख सकते हैं।



फिल्म ओटीटी प्लेटफॉर्म
गैंगस्टर (2006) गूगल प्ले और यूट्यूब पर वीडियो ऑन डिमांड
फैशन (2008) नेटफ्लिक्स
वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई (2010) नेटफ्लिक्स
तनु वेड्स मनु (2011) नेटफ्लिक्स और जियो सिनेमा
कृष 3 (2013) जियो सिनेमा
क्वीन (2014) नेटफ्लिक्स और जियो सिनेमा
तनु वेड्स मनु रिटर्न्स (2015) जियो सिनेमा
जजमेंटल है क्या (2019) जी5
मणिकर्णिका (2019) प्राइम वीडियो
पंगा (2020) हॉटस्टार





किरदार-सिमरन
फिल्म-गैंगस्टर (2006)
अपनी पहली ही फिल्म से कंगना रनौत ने इंडस्ट्री में खलबली मचा दी। इस फिल्म में वह एक गैंगस्टर की गर्लफ्रेंड की भूमिका अदा करती हैं। परिस्थितियां खिलाफ होने पर वह अपना दूसरा रास्ता अख्तियार करती हैं। इस फिल्म का निर्देशन अनुराग बसु ने किया था। फिल्म में इमरान हाशमी और शाइनी आहूजा भी मुख्य किरदारों में नजर आए। पहली ही फिल्म में अपनी बेहतरीन अदाकारी के लिए कंगना ने आठ पुरस्कार अपने नाम किए थे। यह फिल्म गूगल प्ले और यूट्यूब पर वीडियो ऑन डिमांड के तरह 50 रुपये में उपलब्ध है।





किरदार- सोनाली गुजराल
फिल्म-फैशन (2008)
इस फिल्म के जरिए कंगना रनौत को असल ख्याति प्राप्त हुई। अपनी दूसरी ही फिल्म में उन्होंने यह जता दिया कि उन्हें सफलता किस्मत के सहारे नहीं बल्कि अभिनय की बदौलत हासिल हुई। फैशन इंडस्ट्री की कड़वी सच्चाई दिखाती हुई इस फिल्म में कंगना ने एक मॉडल के रूप में सहायक अभिनेत्री की भूमिका अदा की जिसके लिए उन्हें फिल्मफेयर से लेकर राष्ट्रीय पुरस्कार भी हासिल हुआ। फैशन में कंगना के अलावा प्रियंका चोपड़ा भी मुख्य किरदार में नजर आईं लेकिन कंगना ने अपनी दमदार दस्तक दर्ज कराई। यह फिल्म आप नेटफ्लिक्स पर देख सकते हैं।




किरदार- रेहाना
फिल्म-वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई (2010)
साल 2010 में रिलीज हुई इस फिल्म में कंगना रनौत सुपरस्टार रेहाना के किरदार में नजर आई हैं। उन्हें मुंबई के डॉन सुल्तान मिर्जा (अजय देवगन) से प्यार हो जाता है। धीरे धीरे दोनों के प्यार के चर्चे पूरे देश में फैल जाते हैं लेकिन रेहाना को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। दोनों की केमिस्ट्री लोगों को खूब पसंद आई है। फिल्म को बॉक्स ऑफिस से लेकर क्रिटिक्स और दर्शकों से सकारात्मक प्रतिक्रिया हासिल हुई। अजय और कंगना के अलावा इमरान हाशमी, प्राची देसाई और रणदीप हुड्डा ने भी फिल्म में अच्छा काम किया है। नेटफ्लिक्स पर यह फिल्म घर बैठे देखी जा सकती है।




किरदार-तनु
फिल्म-तनु वेड्स मनु (2011)
इस फिल्म की कहानी कानपुर और लखनऊ में शूट की गई। फिल्म में कंगना का बिदांस और बेलौस अंदाज दर्शकों द्वारा खूब पसंद किया गया। तनु अपनी जिंदगी में वही काम करती है जो उसके परिवार को पसंद नहीं आता है। मनमानी करने वाली तनु की जिदंगी में मोड़ तब आता है जब मनु (आर. माधवन) की उनकी जिंदगी में एंट्री होती है। ना चाहते हुई भी तनु, मनु की तरफ खींची चली जाती है। लेकिन दोनों की राह में कांटा बन जाता है राजा अवस्थी (जिमी शेरगिल)। फिल्म में दीपक डोबरियाल और स्वरा भास्कर की अदाकारी भी काबिलेतारीफ रही। यह फिल्म नेटफ्लिक्स और जियो दोनों ओटीटी ऐप पर उपलब्ध है।




किरदार- काया
फिल्म- कृष 3 (2013)
सुपरहीरो आधारित इस फिल्म में कंगना रनौत काया के किरदार में नजर आती हैं। उसका मकसद काल (विवेक ओबेरॉय) के इशारों पर मानव जाति को नुकसान पहुंचाना है। फिल्म में उनके पहनावे से लेकर अदाकारी ने सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा। इस फिल्म से पहले कंगना कभी इस तरह के किरदार में नहीं दिखाई दी थी। फिल्म में ऋतिक रोशन और प्रियंका चोपड़ा मुख्य किरदारों में दिखे। राकेश रोशन निर्देशित इस फिल्म को पूरे देश में खूब पसंद किया गया। इस फिल्म को आप जियो मूवीज पर घर बैठे देख सकते हैं।




किरदार-रानी
फिल्म-क्वीन (2014)
यह कंगना के करियर की सर्वश्रेष्ठ फिल्मों में से एक है। इस फिल्म में उन्होंने रानी का किरदार निभाया था जिसके लिए उन्होंने फिल्मफेयर और राष्ट्रीय पुरस्कार का सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार हासिल किया था। फिल्म में कंगना ने साधारण लड़की का किरदार निभाया है जिसकी शादी आखिरी क्षण में टूट जाती है लेकिन बावजूद इसके वह अकेले ही हनीमून पर विदेश जाती है। विदेश पहुंचकर वह खुलकर अपनी जिंदगी जीती है। साथ ही अपनी कुकिंग की खासियत से वह नाम भी कमाती है। बदली हुई रानी को देखकर शादी तोड़कर वापस जाने वाला राज (राजकुमार राव) भी वापस आने की कोशिश करने लगता है। लेकिन तब तक रानी बहुत आगे निकल चुकी होती ही। फिल्म का निर्देशन विकास बहल ने किया था। यह फिल्म नेटफ्लिक्स और जियो दोनों ओटीटी ऐप पर उपलब्ध है।




किरदार-तनु
फिल्म-तनु वेड्स मनु रिटर्न्स (2015)
तनु वेड्स मनु की सफलता के बाद आनंद एल राय इसकी दूसरी पार्ट तनु वेड्स मनु रिटर्न्स लेकर प्रस्तुत हुए। इस पार्ट में तनु और मनु की शादी हो चुकी होती है लेकिन दोनों का आपस में मन मुटाव शुरू हो जाता है। दोनों तलाक लेने के करीब होते है तभी तनु, अपने पति को पागलखाने में भर्ती कराकर स्वदेश आ जाती है। इसके बाद दोनों धीरे धीरे एक दूसरे से दूर जाने लगते हैं। और इसी बीच कहानी में तनु की हमशक्ल की एंट्री होती है। इस फिल्म के लिए कंगना को फिल्मफेयर का सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का क्रिटिक्स पुरस्कार हासिल हुआ। जियो सिनेमा पर ये फिल्म घर बैठे देखी जा सकती है।




किरदार- विद्या
फिल्म-जजमेंटल है क्या (2019)
इस फिल्म में कंगना रनौत और राजकुमार राव मुख्य किरदारों में नजर आते हैं। फिल्म में दोनों का ही कुछ हटकर किरदार देखने को मिला है। फिल्म का पहले नाम मेंटल है क्या रखा गया था लेकिन बाद में इस फिल्म का नाम जजमेंटल है क्या रख दिया गया। फिल्म की कहानी एक कत्ल के इर्द गिर्द घूमती है जिसे लेकर कंगना और राजकुमार दोनों पर ही शक हो जाता है। लेकिन असामान्य रवैये के कारण दोनों काफी संकट पैदा करते हैं। फिल्म का निर्देशन प्रकाश कोवेलामुदी ने किया था। जी5 पर यह फिल्म उपलब्ध है।




किरदार- रानी लक्ष्मी बाई
फिल्म-मणिकर्णिका (2019)
साल 2019 में रिलीज हुई इस फिल्म के चलते कंगना काफी सुर्खियों में रहीं। इस फिल्म में उन्होंने रानी लक्ष्मी बाई का किरदार अदा किया था। कंगना पहली बार ऐसी किसी फिल्म में नजर आई हैं। फिल्म का निर्देशन कंगना रनौत और कृष ने किया है। फिल्म को लेकर कंगना और कृष आपसी मन मुटाव भी सामने आए थे। किरदार के मामले यह कंगना की ऐसी फिल्म रही जिसके लिए उन्हें बहुत मेहनत करनी पड़ी थी। फिल्म में उनके अलावा अंकिता लोखंडे भी अहम भूमिका में नजर आईं। यह फिल्म प्राइम वीडियो पर उपलब्ध है।




किरदार- जया निगम
फिल्म- पंगा (2020)
इस फिल्म में कंगना रनौत एक कबड्डी खिलाड़ी की भूमिका ने नजर आईं। अश्विनी अय्यर तिवारी निर्देशित इस फिल्म में कंगना का जुझारू अवतार ने सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। अदाकारी के साथ साथ अपने कबड्डी के दांव पेंच के जरिए कंगना ने खूब वाह वाही बटोरी। कंगना के अलावा फिल्म में ऋचा चड्डा, जस्सी गिल, नीना गुप्ता भी अहम भूमिकाओं में दिखे। फिल्म को बॉक्स ऑफिस और लोगों से मिली जुली प्रतिक्रिया हासिल हुई। हॉटस्टार पर यह फिल्म घर बैठे देखी जा सकती है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे