Daily | Routine For Cleaning | Hair To Get Rid Of Frizziness - बालों की देखभाल करने में रखें इन बातों का ख्याल, सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Daily | Routine For Cleaning | Hair To Get Rid Of Frizziness - बालों की देखभाल करने में रखें इन बातों का ख्याल,


 झड़ने से लेकर रूखेपन की समस्या से मिल जाएगी निजात बालों की देखभाल करने में रखें इन बातों का ख्याल,

बालों की देखभाल करने में रखें इन बातों का ख्याल,
Hair To Get Rid Of Frizziness






लॉकडाउन के समय सभी घर में रहने को मजबूर हैं। जिसकी वजह से दिनचर्या में भी बदलाव हो गया है। इस दौरान सेहत के साथ ही बालों और चेहरे का भी ख्याल रखें। लेकिन कई बार रोजमर्रा के दिनों में बालों की सही देखभाल न होने की वजह से वो रूखे और बेजान हो जाते हैं, झड़ने लगते हैं। बालों को टूटने, झड़ने से बचाने के जरूरी है कि रोजाना इन बातों का ध्यान रखें।





रोजाना बाल धोएं
भले ही आप घर पर हों लेकिन बालों को धोने में लापरवाही न करें। ऐसा नहीं है कि केवल घर से बाहर निकलने पर ही धूल-मिट्टी होती है। घर पर रहने से भी बाल वैसे ही गंदे हो जाते हैं इसलिए जरूरी है कि रोजाना बालों में शैंपू किया जाए। शैंपू करने से बाल गंदे कम होंगे और झड़ेंगे कम।





कंडीशनर का इस्तेमाल जरूर करें
बालों को केवल शैंपू करना पर्याप्त नहीं होता है। उनको सिल्की और शाइनी रखना है तो कंडीशनर करना ना भूलें। बाजार के केमिकल वाले कंडीशनर का इस्तेमाल नहीं करना चाहती तो घर पर ही कुछ नेचुरल चीजें जैसे केला, नारियल का तेल और शहद को मिलाकर उसे बालों में लगाएं। कुछ देर के बाद बालों को धो लें। ऐसा करने से बालों के रूखेपन की समस्या जल्दी ही खत्म हो जाएगी।





बालों को सही तरीके से सुखाना
बालों को घर से निकलने से पहले ठीक तरीके से सुखाना बहुत जरूरी है। इसके लिए चाहे तो सूखे तौलिए का इस्तेमाल करें या ब्लो ड्रायर का। लेकिन ध्यान रखे कि ब्लो ड्रायर का इस्तेमाल करने से पहले उसका तापमान देख लें। ज्यादा तापमान होने पर ही ब्लो ड्रायर बालों की नमी उड़ा देता है।





हेयर मास्क को अपनाएं
बालों को टूटने झड़ने से बचाना है तो लॉकडाउन के समय बालों की देखभाल जमकर करें। बालों पर घर पर ही नेचुरल तरीके से हेयर मास्क का इस्तेमाल करें। हेयर मास्क बनाने के लिए आप कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाएं।


How to get rid of frizzy hair in 5 minutes, frizzy hair solutions, how to tame frizzy hair naturally, बालों की देखभाल के घरेलू नुस्खे, बालों की देखभाल, home remedies for frizzy hair after straighten, how to get rid of frizzy hair forever, home remedies for frizzy hair after shower, frizzy hair products, how to stop frizzy hair after washing, Beauty tips Photos, Latest Beauty tips Photographs, Beauty tips Images, Latest Beauty tips photos

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे