पिता दिवस पर कुछ लाइनें 2020 Father's Day Best Hindi shayri सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पिता दिवस पर कुछ लाइनें 2020 Father's Day Best Hindi shayri

Father's Day Best Hindi shayari
Father's Day Best Hindi shayari


 पिता दिवस पर कुछ लाइनें 2020 Shayari on father in hindi, Shayari on father and son 2021, Shayari on father and daughter in hindi, Status for father love in hindi
 

हमें पढ़ाओ न रिश्तों की कोई और किताब
पढ़ी है बाप के चेहरे की झुर्रियाँ हम ने
- मेराज फ़ैज़ाबादी

ये सोच के माँ बाप की ख़िदमत में लगा हूँ
इस पेड़ का साया मिरे बच्चों को मिलेगा
- मुनव्वर राना



उन के होने से बख़्त होते हैं
बाप घर के दरख़्त होते हैं
- अज्ञात

मुझ को छाँव में रखा और ख़ुद भी वो जलता रहा
मैं ने देखा इक फ़रिश्ता बाप की परछाईं में
- अज्ञात






घर की बुनियादें दीवारें बाम-ओ-दर थे बाबू जी
सब को बाँध के रखने वाला ख़ास हुनर थे बाबू जी
-आलोक श्रीवास्तव



बाप बोझ ढोता था क्या जहेज़ दे पाता
इस लिए वो शहज़ादी आज तक कुँवारी है
- मंज़र भोपाली



इसे भी पढ़ें 2020 Quotes on Father's Day in Hindi





इन का उठना नहीं है हश्र से कम
घर की दीवार बाप का साया
- अज्ञात



हड्डियाँ बाप की गूदे से हुई हैं ख़ाली
कम से कम अब तो ये बेटे भी कमाने लग जाएँ
- रऊफ़ ख़ैर



सुब्ह सवेरे नंगे पाँव घास पे चलना ऐसा है
जैसे बाप का पहला बोसा क़ुर्बत जैसे माओं की
- हम्माद नियाज़ी

मैं अपने बाप के सीने से फूल चुनता हूँ
सो जब भी साँस थमी बाग़ में टहल आया
- हम्माद नियाज़ी




बिन बताए वह हर बात जान जाते हैं,
मेरे पापा मेरी हर बात मान जाते है.
हैप्पी फादर्स डे..




असमंजस के पलों में अपना विश्वास दिलाया,
ऐसे पिता के प्यार से बड़ा कोई प्यार ना पाया!
हैप्पी फादर्स डे.






अपने पापा को आज मैं क्या उपहार दूं?
तोहफे दूं फूलों के या गुलाबों का हार दूं?
मेरी जिंदगी में जो है सबसे प्यारा
उस पर तोह मैं अपनी जिंदगी भी वार दूं!
हैप्पी फादर्स डे.






मंजिल दूर और सफर बहुत है,
छोटी सी जिंदगी की फिक्र बहुत है,
मार डालती यह दुनिया कब की
हमें लेकिन पापा के प्यार में असर बहुत है.
हैप्पी फादर्स डे.






मुझे मोहब्बत है, अपने हाथ की सब उंगलियों से, न
ा जाने किस उंगली को पकड़ के
पापा ने चलना सिखाया होगा!
हैप्पी फादर्स डे.





हे भगवान मेरी यह तेरी इस अदालत में रखना,
मैं इस दुनिया में रहूं ना रहूं मेरे प्यारे पापा
को सही सलामत रखना.
हैप्पी फादर्स डे.







    दिमाग में दुनिया भर की टेंशन और
    दिल में सिफर अपने बच्चों की फ़िक्र वो
    शख्स और कोई नहीं वो हैं पिता
Happy fathers day




    धरती सा धीरज दिया और आसमान सी उंचाई है
    जिन्दगी को तरस के खुदा ने ये तस्वीर बनाई है
    हर दुख बच्चों का खुद पे वो सह लेतें है
    उस खुदा की जीवित प्रतिमा को हम पिता कहते है”






    मंजिल दूर और सफर बहुत है,
    छोटी सी जिंदगी की फ़िक्र बहुत है।
    मार डालती ये दुनिया कबकी हमें,
    लेकिन पापा के प्यार में असर बहुत है।



    सारा जहां है वो जिनकी उंगली पकड़कर चलना सीखा मैं,
    मेरे प्यारे पापा है वो, जिनको देखकर जीना सीखा मैं। I
    Love You Papa, Happy Father’s Day !!



Father’s Day Shayari in Hindi for WhatsApp

    अपने पापा को आज मैं क्या उपहार दूँ ?
    तोहफे में फूल दूँ या गुलाबो का हार दूँ?
    मेरी जिंदगी में जो है सबसे प्यारा..
    उस पर तो मैं अपनी जिंदगी ही वार दूँ

    

Happy Fathers Day Shayari

    पापा एक दिन क्या आपके नाम कर दूं,
    एक बार कह दो तो अपनी जान आपके नाम करदूं
    आपनें ही तो इन सासां को जिन्दगी दी है
    आप के होने से ही मेरी पहचान बनी है..!!



    

 पिता के बिना जिंदगी वीरान होती है ,
तनहा सफर में हर राह सुनसान होती है ,
जिंदगी में पित क होना जरूरी है ,
पिता के साथ से हर राह आसान होती है .
हैप्पी फादर्स डे पापा





Father’s Day Special Shayari in Hindi

    अज़ीज़ भी वो है ,नसीब भी वो है ,
    दुनिया की भीड़ में करीब भी वो है
    उनकी दुआ से चलती है ज़िन्दगी
    क्यों की खुदा भी वो है ,
    और तक़दीर भी वो है ..!!
    Happy Father’s Day 2020

    हैँ समाज का नियम भी ऐसा पिता सदा गम्भीर रहे,
    मन मे भाव छुपे हो लाखोँ, आँखो से न नीर बहे!
    करे बात भी रुखी-सूखी, बोले बस बोल हिदायत के,
    दिल मे प्यार है माँ जैसा ही, किंतु अलग तस्वीर रहे!

Fathers Day Shayari in English

    पापा का आशीष बनाता है,
    बच्चे का जीवन सुखदाइ ,
    पर बच्चे भूल ही जाते हैं ,
    यह कैसी आँधी है आई |

    


एक बात हमेशा याद रखनी चाहिए,
जीवन में पिता का स्थान प्रभु से कम नहीं है।
पिता सदा हमारा ध्यान रखते है,
और निस्वार्थ प्यार करते हैं।
फ़ादर्स डे के शुभ अवसर पर शुभ कामना !






    पापा ने ही तो सिखलाया,
    हर मुश्किल में बन कर साया
    जीवन जीना क्या होता है,
    जब दुनिया में कोई आया|

    प्यारे पापा के प्यार भरे,
    सीने से जो लग जाते हैं,
    सच कहती हूँ विश्वास करो,
    जीवन में सदा सुख पाते हैं





shayari on father in hindi, shayari on father and son, shayari on father and daughter in hindi, status for father love in hindi, father shayari in english, miss u papa shayari in hindi, fathers day, quotes on father in hindi language, पिता दिवस पर कुछ लाइनें, भारत में पिता दिवस कब मनाया जाता है, पिता पुत्री शायरी, पापा की याद मे शायरी, पिताजी स्टेटस, पिता दिन उद्धरण, पिता पुत्र शायरी, पापा के लिए स्टेटस, पिता पर शायरी रेख़्ता, Father Shayari in English, पिता के जन्मदिन पर शायरी, pita diwas,

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे