Funny Jokes About Marriage in Hindi मजेदार शादी चुटकुले हिंदी में सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Funny Jokes About Marriage in Hindi मजेदार शादी चुटकुले हिंदी में

मजेदार शादी चुटकुले हिंदी में
Funny Jokes About Marriage

मजेदार शादी चुटकुले हिंदी में 



Funny Jokes About Marriage in Hindi read here latest collection of very funny Marriage Jokes in hindi. You may share these Funny Jokes About Marriage in Hindi as Whatsapp Status or Facebook Status or send as Sms.


 
जिनकी बीवी खूबसूरत है उनको ना जन्मदिन याद रखने की जरुरत नहीं होती

क्योकि भाभी के देवर सब याद रखते है ..





अगर शादी के बाद छोरे का पेट न निकले

तो समझ लीजिये की छोरा ब्याह से खुश नहीं है|





शादीशुदा आदमी की जिंदगी में "सुनो '' का अर्थ होता है

BIGBOSS चाहते हैं आप कन्फेशन रूम में आएं,,




पत्नी अपने पति से बोली - रात को तुम सपने में मुझे गालियां दे रहे थे

और मेरे मां-बाप को कोस रहे थे , क्यों ?

पति ने कहा- झूठ बोलती हो तुम ! मैं उस वक्त सोया ही नहीं था |






पति-तुम्हारी रोज-रोज की नई फरमाइशों से परेशान होकर मैं आत्महत्या कर लूंगा।

पत्‍‌नी-आप भी न रुला के ही मानोगे

चलो एक अच्छी सी सफेद साड़ी दिला दो बस. आपकी तेरहवीं पर पहनूंगी।










 
महिला-
जल की तरह स्वच्छ, निर्मल, शीतल होती है और जल की ही तरह संवेदनशील होती है।

पुरुष-
मिट्टी की तरह ठोस और स्थिति के अनुसार ढल जाने वाला होता है। मिट्टी की तरह वक्त की मार सहता है।

और...

जब दोनों की शादी होती है... सब कीचड़ हो जाता है...।







तूफानी बारिश आधी रात...
एक आदमी दूकान से पिज्जा लेने गया।

पिज़्ज़ावाला :- आप शादीशुदा हो?

आदमी :- साले, ऐसे तूफान में कौनसी माँ अपने बेटे को पिज्जा लाने भेजेगी।







जीवन का कठोर सत्य...

जब कोई शादीशुदा आदमी कहे कि सोच के बताऊंगा...तो
उसका सीधा सीधा मतलब होता है कि 'बीवी से पूछ के बताऊंगा!'









ऑटो वाले की शादी

एक ऑटो वाले की शादी हो रही थी।
जब उसकी दुल्हन फेरों के वक्त उसके पास बैठी
तो वह बोला,
'थोड़ा पास होकर बैठो, अभी एक और बैठ सकती है।'

फिर क्या था... मण्डप में ही दे चप्पल दे चप्पल...






लड़के का बाप - क्या करती है आपकी लड़की?
लड़की का बाप - एक्टर है, टिकटॉक पर...
और आपका लड़का?

लड़के का बाप - सेना का जवान है,





पबजी में...!!!
पत्नी आईसीयू में थी। पति का रो-रोकर बुरा हाल था।


डॉक्टर बोला - हम पूरी कोशिश कर रहे हैं, पर
वह कुछ बोल ही नहीं पा रही है। शायद कोमा में है।
अब तो सब कुछ भगवान के हाथ में है।

पति बोल उठा - सिर्फ 40 की ही तो है अभी...

तभी एक चमत्कार दिखा। दिल की धड़कन बढ़ने लगी,
पत्नी की ऊंगली हिली, होंठ हिले और आवाज आई-
36 की...!!!

 








पति - तुम्हें एक अरब मिल जाए तो क्या करोगी?
.
.
.
पत्नी ने बड़ी मासूमियत से जवाब दिया-
अरब का मैं क्या करूंगी, पुलिस को बोलूंगी कि
वो उसे वापस अरब भेज दें...!!!

पति बेहोश...

 







नौकर - मैडम घर में मेहमान आए हैं,
शरबत बनाने के लिए नींबू नहीं है, क्या करूं?

मैडम - अरे डरता क्यों है,
न्यू विम बार में 100 नींबुओं की शक्ति है,
डाल दे दो बूंद...!!!




यह भी पढ़िए Waqt or Halat Shayari








पति प्रवचन सुनकर घर आया और पत्नी को गोद में उठा लिया।

पत्नी - क्या गुरूजी ने रोमांस करने के लिए कहा है?

पति - नहीं रे पगली, उन्होंने तो कहा है कि अपने दुख खुद उठाओ...!!!

 






पत्नी -  मैं अपने पुराने कपड़े किसी को दान कर दूं क्या?

पति - नहीं फेंक दे, क्या दान करना...?

पत्नी - नहीं जी, दुनिया में बहुत सी गरीब और भूखी प्यासी औरते हैं, किसी के काम आ जाएंगे।

पति - तेरे साइज के कपड़े जिसे आ जाएंगे वह क्या भूखी प्यासी होगी?


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे