Top 5: होस्टेजेस 2,वकालत फ्रॉम होम ओटीटी पर इन सीरीज और फिल्मों में कांटे का मुकाबला, शुक्रवार को जी5 पर ‘टिकी टिका’ का धमाल सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Top 5: होस्टेजेस 2,वकालत फ्रॉम होम ओटीटी पर इन सीरीज और फिल्मों में कांटे का मुकाबला, शुक्रवार को जी5 पर ‘टिकी टिका’ का धमाल

Top 5: Ott Release Dates Review Star Cast Ratings Of Zee5 Film Forbidden Love Cargo Hostages 2 Tiki Tika

 

Top 5: होस्टेजेस 2,वकालत फ्रॉम होम  ओटीटी पर आज होगा इन सीरीज और फिल्मों में कांटे का मुकाबला, शुक्रवार को जी5 पर ‘टिकी टिका’ का धमाल

 

 

ओटीटी पर दर्शकों को बांधे रखने का सितंबर शायद ओटीटी संचालकों के पास आखिरी मौका है। दिल्ली में इस बारे में सिनेमाघर मालिकों की सरकार के साथ हुई बैठक के साथ ही सिनेमाघरों के जल्द खुलने के आसार बनने लगे हैं। अगले महीने बॉक्स ऑफिस पर नई फिल्मों का धमाल मच सकता है। लेकिन, उससे पहले देख लेते हैं कि इस हफ्ते ओटीटी पर किन कहानियों के बीच संग्राम छिड़ने वाला है।


कार्गो


Hindi webserie कार्गो

ओटीटी प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स पर रिलीज होने वाली यह एक साइंस फिक्शन ओरिजिनल फिल्म है जिसमें विक्रांत मैसी और श्वेता त्रिपाठी मुख्य भूमिकाओं में नजर आने वाले हैं। यह फिल्म जीवन और मृत्यु के बारे में बात करने वाले कुछ दार्शनिकों के कथनों पर कटाक्ष करेगी। फिल्म में उन कथनों पर भी बातचीत होगी जिनमें कहा जाता है कि मृत्यु के बाद आत्मा कहां जाती है? एकदम हटकर कहानी पर आधारित यह फिल्म 9 सितंबर को रिलीज होगी।

 होस्टेजेस 2



Hindi webserie होस्टेजेस 2

डिज्नी प्लस हॉटस्टार इस हफ्ते 'होस्टेजेस' के दूसरे सीजन के साथ वापस लौट रहा है। 9 सितंबर को रिलीज होने वाली इस वेब सीरीज में कंवलजीत सिंह, दिव्या दत्ता, डिनो मोरिया, शिबानी दांडेकर और श्वेता बोस नए चेहरे होंगे। जबकि, पिछले सीजन से दिलीप ताहिल, सूर्या शर्मा, आशिम गुलाटी, रोनित रॉय जैसे कुछ कलाकारों को जगह दी गई है। सीरीज के इस सीजन का निर्देशक पिछले सीजन के निर्देशक सुधीर मिश्रा के सिनेमैटोग्राफर रहे सचिन कृष्णन ने किया है। इस बार डिनो मोरिया एक नकारात्मक किरदार में नजर आएंगे।

टिकी टका
टिकी टका Hindishayarih






Hindi webserie टिकी टका

ओटीटी प्लेटफॉर्म जी5 के पास इस बार का तुरुप का पत्ता है कॉमेडी ड्रामा फिल्म 'टिकी टका'। 11 सितंबर को रिलीज हो रही यह फिल्म एक अफ्रीकी की कहानी है जो पश्चिमी बंगाल में एक गैंगस्टर से मिलने भारत आता है। जब वह एक ऑटो रिक्शा में बैठता है तो उसका ड्राइवर अफवाह फैला देता है कि वह अफ्रीकन एक फुटबॉलर है और भारत में घूमने आया है। इसके बाद सभी फुटबॉल के प्रशंसक और मीडिया उस अफ्रीकी आदमी का पीछा करने लगते हैं। परमब्रत चट्टोपाध्याय के निर्देशन में बनी इस फिल्म में रीताभरी चक्रबर्ती, सस्वता चटर्जी और इमोना इनाबुलु ने मुख्य भूमिकाएं निभाई हैं।

 
 


वकालत फ्रॉम होम

Hindi webserie वकालत फ्रॉम होम

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए हुए लॉकडाउन के बाद दुनिया में बहुत सी चीजें बदल गई हैं। कुछ वैसे ही बदल गया है अदालतों के अनुभव। रोहन सिप्पी के निर्देशन में बनी कोर्टरूम ड्रामा वेब सीरीज की कहानी भी लॉकडाउन के दौरान पति-पत्नी के बीच बढ़े तनाव को दर्शाती है। इसके बाद वह तलाक के लिए अर्जी लगाते हैं। हद तो तब हो जाती है जब इन दोनों के केस की सुनवाई ऑनलाइन वीडियो कॉल पर हो रही है। प्राइम वीडियो पर यह सीरीज 10 सितंबर को रिलीज होगी। इसमें सुमीत व्यास, निधि सिंह, कुब्रा सैत और गोपाल दत्त मुख्य भूमिकाओं में हैं।
Hindi webserie







फॉरबिडन लव



Hindi webserie फॉरबिडन लव

जी5 पर रिलीज हो रही ये फिल्मावली चार कहानियों का संकलन है। इन चारों कहानियों को अलग अलग पुरस्कार विजेता निर्देशकों प्रदीप सरकार, महेश मांजरेकर, प्रियदर्शन और अनिरुद्ध रॉय चौधरी ने निर्देशित किया है। फिल्म में चार भिन्न भिन्न कहानियों के साथ इन्हें अलग अलग शीर्षक भी दिए गए हैं जो कि अरेंज्ड मैरिज, अनामिका, रूल्स ऑफ द गेम और डाइग्नोसिस ऑफ लव हैं। फिल्म के साथ एक खास बात यह भी है कि इसकी सिर्फ दो कहानियां ही 9 सितंबर को रिलीज होंगी जबकि बाकी दो कहानियां 24 सितंबर को रिलीज की जाएंगी।

 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे