Jokes Sms In Hindi ( जोक्स समस इन हिंदी ) Jokes Latest In Hindi For Jokes GF BF सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Jokes Sms In Hindi ( जोक्स समस इन हिंदी ) Jokes Latest In Hindi For Jokes GF BF

Jokes Sms In Hindi ( जोक्स समस इन हिंदी ) Jokes Latest In Hindi For Jokes GF BF
jokes about students and teachers


Jokes Sms In Hindi ( जोक्स समस इन हिंदी ) Jokes Latest In Hindi For Jokes GF BF जिंदगी मैं हंसी मजाक करना बहुत जरुरी है  best of jokes, image of hindi jokes, jokes of teacher and student, jokes about students and teachers, jokes teacher student,



मरीज : डॉक्टर साहब , दो साल पहले मुझे बुखार आया था । 

डॉक्टर : तो अब यहां क्यों आए हो ?

 मरीज : आपने दवाई देते समय नहाने को मना किया था । 

यहां से गुजर रहा था तो सोचा पूछता चलूं कि अब नहाऊं या नहीं ।





  ट्रेन के डिब्बे में मां ने बेटे से कहा - चुपचाप बैठे रहो । 

शरारत की तो बहुत मारूंगी ।

 बेटा- तुमने मुझे मारा तो 

मैं टिकट चेकर को अपनी सही उम्र बता दूंगा ।




 

 यह जिंदगी तो सिर्फ दो दिन के लिए है । 

एक रविवार और दूसरा शनिवार । 

बाकी दिन तो लगता है , 

जैसे जलील होने के लिए ही पैदा हुए हैं ।





funny jokes i फनी जोक्स आई




बैठे-बैठे अचनक विचार आया कि...

सब लोग इज्जत की रोटी कमाना चाहते हैं...
.
लेकिन...
.
कोई इज्जत की सब्जी क्यों नहीं कमाना चाहता...?

 






पप्पू (गप्पू से) - यार मेरे पापा दिन-ब-दिन
केबीसी के अमिताभ बच्चन बनते जा रहे हैं..!!
.
गप्पू - वो कैसे..?
.
पप्पू - उनसे जब भी पैसे मांगो,
कहते हैं 'क्या करोगे इतनी धनराशि का'..?

 



very funny jokes in hindi वैरी फनी जोक्स इन हिंदी

यह भी पढ़े  : - Jokes Mastimaza Jokes Hindi उधार भी गजब चीज है पढ़िए मजेदार जोक्स




पप्पू - इतना परेशान क्यों है..?
.
गप्पू - अरे यार, मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को दो बड़े-बड़े
टेडी बियर गिफ्ट किए थे...
.
पप्पू - तो इसमें परेशान होने की क्या बात है..?
.
गप्पू - उसकी मम्मी ने दोनों की
रुई निकलवाकर दो तकिए भरवा लिए...!!!

 

teacher and bantu jokes in hindi






टीचर - एक टोकरी में 10 आम थे 3 सड़ गए तो कितने आम बचे..?
.
बन्टू - 10
.
टीचर - अरे मूर्ख 10 कैसे बचेंगे..?
.
बन्टू - सड़े हुए आम कहां जाएंगे, सड़ने से केले थोड़ी बन जाएंगे..!!

 









वो लड़के जो लड़कियों से बड़ी-बड़ी हांकते हुए कहते हैं...
'मैं तुमको कभी भूल नही पाऊंगा!'
.
.
वो दुकान पर जा कर ये भूल जाते हैं कि
मम्मी ने दाल कौन सी वाली मंगवायी थी...!!!

 








टीसी - ये विकलांग लोगों का डिब्बा है,
इसमें क्यों सफर कर रहे हो..?
.
यात्री - जी सर मेरे साथ ये है..!
.
टीसी - ये तो आम है..!
.
यात्री - जी हां, लेकिन ये लंगड़ा आम है...!!

 








Jokes wife and husband




सुबह-सुबह पत्नी नींद से उठते ही बोली, अजी सुनते हो..?
.
पति- बोलो..! क्या हुआ..?
.
पत्नी - मुझे सपना आया कि आप मेरे लिए
हीरों का हार लेकर आए हो..!
.
पति - ठीक है, तो वापिस
सो जा और पहन ले..!!!

 




santa banta old jokes


संता ने भगवान से प्रार्थना की...
हे भगवान!
मुझे एक पैसे से भरा बैग,
एक नौकरी और एक बड़ा सा वाहन,
जिसमें लड़कियां भरी हुई हो, दे दो..!!
.
.
भगवान - तथास्तु!!
दूसरे दिन संता गर्ल्स कॉलेज की बस का कंडक्टर बन गया...!!

 


jokes of teacher and student




मास्टर जी - 'संगठन में शक्ति है' का उदाहरण दो..!
.
पप्पू - सर जेब में एक सिगरेट रखें तो मुड़-तुड़ जाती है
पर यदि पूरा पैकेट रखें तो कड़क ही रहती है...!!!
.
फिर मास्टर जी ने पप्पू को तोड़-मरोड़ के कूटा...



 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे