Wish You Very Happy दशहरा 2 Line Quotes इन हिंदी, Shayari, Wishes 2020 सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Wish You Very Happy दशहरा 2 Line Quotes इन हिंदी, Shayari, Wishes 2020


Wish You Very Happy दशहरा 2 Line Quotes, Shayari, Wishes
दशहरा 2 Line Quotes


बुराई का होता  है विनश दशहरा लता है Dussehra ki shubhkamnaye in hindi 2020  उम्मीदो  की आस रावण की तरक अपके दुःख का होगा नाश। विजयदशमी की सुभाकमनय  Dussehra 2 Line Quotes




  इससे पहले की दशहरे की शाम हो जाए,
मेरा मैसेज औरों की तरह आम हो जाए,
सारे मोबाइल नेटवर्क जाम हो जाएं,
और दशहरा विश करना आम हो जाए
आप सभी को दशहरे की हार्दिक शुभकामनाएं







  विजयदशमी पर विजय का प्रतीक हैं श्रीराम
बुराई पर अच्छाई का प्रतीक हैं श्री राम
दशहरा पर्व की शुभकामनाएं





 फूल खिले खुशी आप के कदम चूमे,
कभी ना हो दुखों का सामना,
धन ही धन आए आप के अंगना,
यही है दशहरे के शुभ अवसर पर मनोकामना।
आप सभी को दशहरे की हार्दिक शुभकामनाएं




 बुराई का होता है विनाश, दशहरा लाता है उम्मीद की आस,
रावण की तरह आपके दुखों का हो नाश,
आप सभी को दशहरे की हार्दिक शुभकामनाएं



  अधर्म पर धर्म की जीत
अन्याय पर न्याय की विजय
बुरे पर अच्छे की जय जयकार
यही है दशहरा का त्योहार।






होती जीत सत्य की और असत्य की हार,
यही संदेश देता है दशहरा का त्यौहार!
शुभ दशहरा








शांति अमन के इस देश से अब बुराई को मिटाना होगा,
आतंकी रावण का दहन करने आज फिर से श्री राम को आना होगा!
दशहरे की हार्दिक शुभकामनाएं......








बुराई पर अच्छाई की जीत! दशहरा लाता है एक उम्मीद,
रावण की तरह हमारे दुखों का अंत हो,
एक नई शुरुआत हो एक नए सवेरे के साथ शुभ दशहरा!!








दशहरा का तात्पर्य, सदा सत्य की जीत
गण टूटेगा झूठ का करें सत्य से प्रीत सच्चाई की राह पर लाख बिछे हो शूल
बिना रुके चलते रहे शूल बनेंगे फूल!! दशहरे की हार्दिक शुभकामनाएं








हो आपकी लाइफ में खुशियों का मेला,
कभी ना आए कोई झमेला,
सदा सुखी रहे आपका बसेरा..
विश यू हैप्पी दशहरा!!









दशहरा का यह पावन त्यौहार,
जीवन में लाए खुशियां अपार,
श्री राम जी करें आपके घर सुख की बरसात,
शुभ कामना हमारी करें स्वीकार!
दशहरे की हार्दिक शुभकामनाएं









रावण जलाओ, बुराई को आग लगाओ,
अच्छाई को अपनाओ, खुशियां मनाओ.
शुभ दशहरा







शांति अमन के इस देश से अब बुराई को मिटाना होगा,
आतंकी रावण का दहन करने आज फिर से श्री राम को आना होगा!
दशहरे की हार्दिक शुभकामनाएं….







Dussehra Sms Wishes

    बुराइयों का नाश हो.. सब का विकास हो। !!
    जय श्रीराम – दशहरे की हार्दिक शुभकामनायें।।


Images For Dussehra Wishes




ह्रदय से रावण जैसी बुराई का नाश हो,
और प्रभु श्रीराम का वहाँ पर वास हो|
!! जय श्रीराम – दशहरे की हार्दिक शुभकामनायें।।








Happy Dussehra Wishes 2020

    खुश हो गया मन, जब देखा रावण दहन,
    कब जलेंगे भीतरी रावण, पूछे हैं ये मन।।



Best Shayari For Dussehra

    देखो देखो केसा हैं ये तमाशा,
    रावण हैं जलता और दुशासन हैं जलाता।।



Dussehra 2 Line Quotes

    अजीब विडंबना हैं,
    हर साल रावण जलाने से पहले रावण बनाया जाता हैं।।



*********************************

    मेरे अंदर का रावण डरता हैं श्री राम से,
    और मेरे अंदर का गाँधी डरता है नाथूराम से।।



*********************************

    कैसे लिखू मैं राम पर क्युकी मुझमे थोड़ा रावण छिपा हैं,
    कैसे लिखू मैं रावण पर क्युकी मुझमे अब भी राम बचा हैं।



*********************************

    अच्छाई के लिए लंका पर चढ़ाई करू तो करू कैसे,
    खुद रावण हूँ तो रावण से लड़ाई करू तो करू कैसे।।



*********************************

    इस दशहरे मेरे भाई बस इतना तू काम कर,
    मन में बैठा है जो तेरे, उस रावण का सर्वनाश कर।।
    हैप्पी दशहरा।



*********************************

    जरूरी है अपने जहन में राम को ज़िंदा रखना दोस्तों
    पुतले जलाने से कभी रावण नहीं मरा करते..।।



*********************************

    त्याग दी सब ख्वाहिशें, कुछ अलग करने के लिए,
    ‘राम’ ने खोया बहुत कुछ, ‘श्री राम’ बनने के लिए।



*********************************

    रावण के रिश्तेदारों को दशहरे की बधाईया 😛



*********************************

    जरुरी हैं अपने ज़ेहन में राम को ज़िंदा रखना दोस्तों
    पुतले जलने से कभी रावण नहीं मरा करते..।।।।



*********************************

    अब की दश्हरा मेरे भाई, बस इतना तू काम कर,
    बैठा हैं जो मन में तेरे, उस रावण का सर्वनाश कर।



dussehra shayari in hindi, happy dussehra friends shayari image, happy dasara shayari english, दशहरा पर शायरी, Dussehra Shayari in Hindi 2019

 

    शान्ति अमन के इस देश से अब भुराई को मिटाना होगा,
    रावण का दहन करके आज फिर राम को आना ही होगा।



*********************************

    अधर्म पर धर्म की जीत, अन्याए पर न्याय की विजय..
    दशहरे की शुभकामनायें।



*********************************

    होती जीत सत्य की और असत्य की हार,
    यही सन्देश देता है दशहरा का त्यौहार।।



*********************************

    दिन आएगा सबका सुनेहरा… इसलिए मेरी और से हैप्पी दशहरा।



*********************************

    शोक से रावण जले, बस इतनी सी शर्त हो,
    तीली वही लगाए जिसमे राम का अक्स हो।



*********************************

    हम भी राम बनें और रखें मर्यादा और मान,
    सत्य और सत्कर्म से जीत ले सारा जहान।।



*********************************

    एक रावण की खातिर तूने त्रेतायुग में अवतार लिया,
    कलयुग में लाखों रावण हैं, कभी ना तूने सार लिया।।



*********************************

    शोक से रावण जले, बस इतनी सी शर्त हो,
    तीली वही लगाए जिसमे राम का अक्स हो।



*********************************

    त्याग दी सब ख्वाहिशें,कुछ अलग करने के लिए,
    ‘राम’ ने खोया बहुत कुछ,‘श्री राम’ बनने के लिए !!



*********************************

    रावण हम सबके अंदर हैं,
    फर्क इतना हैं की कोई राम हमें ढूंढ नहीं रहा।



*********************************

    रावण जलाओ बुराई को आग लगाओ अच्छी
    को अपनाओ खूब पीओ, खूब खाओ।



*********************************

    मोहल्ले से दस रावण, और बीस मेघनाथ वापस आ रहे थे,
    बहुत हसी आयी जब वह बोले की दशहरा जला के आ रहे हैं।।



*********************************

    जैसे राम जी ने रावण को मारा करके लड़ाई,
    वैसे आप भी मारे अपने अंदर के छुपे बुराई।।



*********************************

    बुराई पर अच्छे की जीत !दशहरा लता है एक उम्मीद.
    हैप्पी विजयादशमी।



*********************************

    राम जी तो अच्छे थे ही, पर रावण जी भी बुरे नहीं थे
    ये दिन तो अच्छा जाए ही, लेकिन पुराने दिन भी बुरे नहीं थे।



*********************************

    बुरा करोगे तो बुरा ही होगा..पर अच्छाई खाली कभी नहीं जाती..शुभ दशहरा।



*********************************

    पाप बड़ गया दुनिया में, आ गया रावण राज
    शरण में जा श्री राम की, अब वही रखेंगे लाज।।



*********************************

    आज के इस संसार में बुराई के होते काम,
    हर घर में रावण बसता, कही ना दिखते श्री राम ।।



dussehra shayari, Dussehra ki shayari, dussehra shayari hindi

 

    तेरे भीतर रावण ज़िंदा हैं ज़माने से,
    और तू खुश हैं फकत पुतला बाहर जलाने से।



*********************************

    कल रात फिर हर शख्स मुस्कुराता हुआ गया
    चलो अब चैन से जियेंगे, रावण मर गया..।।



*********************************

    वाकिफ तो रावण भी था अपने अंजाम से
    जिद तो अपने अंदाज़ से जीने की थी..।।



*********************************

    रावण की तरह हमारे दुखों का अंत हो,
    एक नयी शुरुआत हो एक नए सवेरे के साथ।



*********************************

    मेरा तो बस एक कागज़ का पुतला जल रहा हैं,
    असली रावण तो दिल ओ दिमाग में पल रहा हैं।।



*********************************

    आज मेरा सभी मित्रों से अनुग्रह् है की अपने घरों से बहार न निकले..
    कोई रावण समझ के दहन ना कर दे।। 🙂



*********************************

    खुशियो का त्योहार, प्यार की बौछार, मिठाइयों की बहार,
    इस दशहरा के शुभ दिन आपको मिले खुशियाँ हज़ार



*********************************

    मैंने महसूस किया है उस जलते हुए रावण का दुःख
    जो सामने खड़ी भीड़ से बारबार पूछ रहा था..
    तुम में से कोई राम है क्या?


 



*********************************

    हम दशहरा क्यों मनाते हैं? क्योंकि अधर्म पर धर्म; झूठ पर सत्य; अन्याय पर न्याय; और बुराई पर अच्छाई की जीत हो! भगवान राम आप को शक्ति दें और आपकी हर राह पर जीत हो! शुभ दशहरा।



*********************************

    जैसे राम ने जीता लंका को..वैसे आप भी जीते सारी दुनिया को॥। Happy Dussehra



*********************************

   

    सोच रहा हूँ इस दशहरा अपने अंदर उस रावण को जला लू
    जो हर परायी स्त्री को भोग की चीज़ समझता हैं।
    और उस रावण को बचा लू जिसने अपनी बहन के मान के लिए
    अपने संपूर्ण कुल का दीपक बुझने दे दिया..।।।।



*********************************

    सतीत्व मर्यादा के लिए,
    कुदरत ने कहर बरसाया था।
    जब रावण की मौत आयी,
    समंदर ने पत्थरो को तैराया था।



*********************************

    बुराई को खुद से और इस देश से दूर भगाओ,
    अच्छाई को अपने जीवन में अपनाओ।
    रावण को जलाओ और भ्रष्टाचार मिटाओ,
    प्रगति के पथ पर भारत देश को आगे बढ़ाओ।
    शुभ दशहरा



*********************************

    अधर्म पर धर्म की जीत,
    अन्याए पर न्याय की विजय।
    बुराई पर अच्छाई की जय जय कार
    यही है दशहरे का त्यौहार।

शुभ दशहरा



*********************************

    कभी भी दुःख का आप पर पड़े ना साया,
    राम जी के नाम का ऐसा असर हैं छाया।
    हर पल धन धन्य आये आपके अंगना,
    हैं वियजदशमी पर मेरी यही मनोकामना।



*********************************

    बुराई का रूप अब भ्रष्टाचार हैं,
    रावण के रूप में नेताओं का अत्याचार हैं।
    देश रुपी इस लंका में कौन राम बनेगा,
    यंहा तो अब बस मिलावटी व्यवहार हैं।



*********************************

    जैसे श्री राम ने जीता लंका को,
    वैसे अप भी जीतें सारी दुनिया।
    इस दशहरे मिल जायें आप को
    दुनिया भर की सारी खुशिया।



*********************************

    करने बुराई का नाश,
    जगाने दिलों में अच्छाई का एहसास।
    प्रेम और सत्य की राह दिखने,
    आ गया हैं दशहरे का त्यौहार..।।



*********************************

    खुशी आप के कदम चूमे
    कभी ना हो दुखों का सामना,
    धन ही धन आए आप के आँगन,
    दशहरा के शुभ अवसर पर
    हमारी है यही मनोकामना..।।



*********************************

    आप सभी को रामनवमी एवं दशहरा के
    पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ।
    मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि आप व
    आपका परिवार सदैव सुख समृद्ध खुशहाल रहे।



*********************************

    आज की नई सुबह इतनी सुहानी हो जाए,
    आपके दुखों की सारी बातें पुरानी हो जाएं,
    दे जाए इतनी खुशियां ये दशहरा आपको,
    कि ख़ुशी भी आपके मुस्कुराहट की दीवानी हो जाएं।

    Happy Dasara



*********************************

    बुराई पर अच्छाई की जीत,
    दशहरा लता हैं एक नई उम्मीद।
    रावण की तरह हमारे दुखों का अंत हो
    एक नई शुरुआत हो एक नए सवेरे के साथ।



*********************************

    राक्षस पे पुण्य की जीत
    राम की सीता से असीमित प्रीत
    ये तो एक कारण भर ही था..
    हो विजय सत्य की सदैव यही है रीत।



*********************************

    आज दशहरे का दिन आया,
    असत्य पर सत्य ने जीत पाया,
    रामचंद्र जी ने रावण को हराया,
    नीति का पूरी दुनिया को एक पाठ पढ़ाया.



*********************************

    दशहरे का पावन पर्व सत्य की जीत का सन्देश दे रहा हैं,
    बुराई का दशानन अच्छाई की अग्नि में विध्वंस हो रहा हैं,
    प्रभु श्रीराम के आचरण और इस पर्व के सन्देश को अपनाएँ।
    इसी के साथ दशहरा पर्व की हजारो-हजार शुभकामनायें।



*********************************

    रावण के संहार पर दशहरा,
    अयोध्या वापसी पर मनाते दिवाली हैं।
    दुनिया सारे गुण उनके गाती,
    मेरे श्री राम की हर बात निराली हैं।



*********************************

    दशहरा का ये प्यारा त्यौहार,
    जीवन में लाये खुशिया अपार,
    श्री राम जी करे आपके घर सुख की बरसात
    शुभ कामना हमारी करे स्वीकार…!!
    Wish you Very Happy दशहरा



*********************************

    जैसे राम ने जीता लंका को,
    वैसे आप भी जीतें साड़ी दुनिया.
    इस दशहरा मिल जाएँ आपको,
    दुनिया भर की सारी खुशियां
    * Shubh Dussehra *



*********************************

    दहन पुतलो का ही नहीं,
    बुरे विचारो का भी करना होगा।
    श्री राम का करके स्मरण,
    हर रावण से लड़ना होगा।
    हैप्पी दशहरा



Inspirational Dussehra Shayari

    अपने कर्म पर विश्वास रखिए
    राशियों पर नही….।

    राशि तो राम और रावण की भी
    एक ही थी….।

    लेकिन नियती ने उन्हें फल
    उनके कर्म अनुसार दिया।।



*********************************

    जलाते हो हर साल रावण को,
    बताओ क्या अधिकार रखते हो।
    जब बन नहीं सकते हो राम तुम
    क्यों राम होने का ढोंग करते हो।



*********************************

    बिना भाई के साथ के
    जब रावण हार सकता हैं।
    और भाई के साथ से
    श्रीराम जीत सकते हैं।
    तो हम किस घमंड में हैं
    सदा साथ रहिये कोशिश करें
    की परिवार कभी ना टूटे।।



*********************************

    ना सह सका जो अपनी बहन का अपमान,
    था जिसे चारो वेदो का ज्ञान,
    भाई कुम्भकरण और बेटा मेघनाथ,
    सोचो क्यों नहीं होता उसका सम्मान..।।



*********************************

    अज्ञान पर हो जाए ज्ञान की विजय
    बुराई पर अच्छाई की हो जाए जीत
    पाप पर पुण्य पड़ता हैं भारी।
    आ जाए आपके पास खुशियां सारी।
    शुभ दशहरा

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे