WhatsApp Will Stop Working On These Phones in Hindi | एक जनवरी से इन फोन में बंद हो जाएगा WhatsApp - Hindishayarih सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

WhatsApp Will Stop Working On These Phones in Hindi | एक जनवरी से इन फोन में बंद हो जाएगा WhatsApp - Hindishayarih

 
एक जनवरी से इन फोन में बंद हो जाएगा WhatsApp

 WhatsApp Will Stop Working On These Phones | एक जनवरी से इन फोन में बंद हो जाएगा WhatsApp



Whatsapp stop working 2021  
WhatsApp हर साल कुछ ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए अपना सपोर्ट बंद कर देता है। जिसके बाद कछ पुराने सिस्टम पर WhatsApp काम नहीं करता है। पिछले साल व्हाट्सएप ने विंडोज और ब्लैकबेरी के लिए सपोर्ट बंद किया था और नए साल 2021 में भी कई आईफोन और कई एंड्रॉयड फोन पर WhatsApp काम नहीं करने वाला है।आइए जानते हैं...



whatsapp stop working on iphone
 
नए साल की शुरुआत के साथ ही WhatsApp कुछ डिवाइस के लिए अपना सपोर्ट बंद करेगा। रिपोर्ट के मुताबिक नए साल में iOS 9 और Android 4.0.3 पर चलने वाले फोन में WhatsApp नहीं चलेगा। सीधे शब्दों में कहें तो iPhone 4 और इससे पहले के आईफोन में व्हाट्सएप काम नहीं करेगा, लेकिन यदि आपके पास इससे ऊपर का मॉडल यानी iPhone 4S, iPhone 5, iPhone 5S, iPhone 5C, iPhone 6 और iPhone 6S है तो आप फोन को अपडेट कर सकते हैं। 










एंड्रॉयड की बात करें तो आईओएस की तरह ही जिन फोन में एंड्रॉयड का 4.0.3 वर्जन है वे नए साल में व्हाट्सएप का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। इस लिस्ट में HTC Desire, LG Optimus Black, Motorola Droid Razr और Samsung Galaxy S2 जैसे फोन का नाम है।






यदि आप यह जानना चाहते हैं कि आपके फोन में कौन-सा ऑपरेटिंग सिस्टम है और उसका वर्जन क्या है तो फोन की सेटिंग में जाकर अबाउट के विकल्प पर क्लिक करें। यहां आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी जिसके बाद आपको यह भी पता चल जाएगा कि आपके फोन में नए साल में व्हाट्सएप चलेगा या नहीं।







आपको बताते चलें कि नए साल में व्हाट्सएप में कई सारे नए फीचर्स आने वाले हैं। WABetaInfo के मुताबिक नए साल में व्हाट्सएप में सबसे खास फीचर आने वाला है। अपडेट आने के बाद आप एक साथ कई फोटो-वीडियो और कॉपी करके दूसरे चैट में पेस्ट कर सकेंगे। फिलहाल फोटो-वीडियो को कॉपी करने का फीचर नहीं है, हालांकि इस फीचर की टेस्टिंग फिलहाल बीटा वर्जन पर हो रही है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे