असद भोपाली' के चुनिंदा शेर इतना तो बता जाओ ख़फ़ा होने से पहले asad bhopali ke sher

Asad Bhopali Top 8 Selected Shayari असद भोपाली' के चुनिंदा शेर इतना तो बता जाओ ख़फ़ा होने से पहले
असद भोपाली शेर



इतना तो बता जाओ ख़फ़ा होने से पहले
वो क्या करें जो तुम से ख़फ़ा हो नहीं सकते


वो सब कुछ जान कर अंजान क्यूं हैं
सुना है दिल को दिल पहचानता है

हालात ने किसी से जुदा कर दिया मुझे
अब ज़िंदगी से ज़िंदगी महरूम हो गई


तुम दूर हो तो प्यार का मौसम न आएगा
अब के बरस बहार का मौसम न आएगा

 


asad bhopali shayari 

 

 
ग़म-ए-हयात से जब वास्ता पड़ा होगा
मुझे भी आप ने दिल से भुला दिया होगा


जब अपने पैरहन से ख़ुशबू तुम्हारी आई
घबरा के भूल बैठे हम शिकवा-ए-जुदाई

न आया ग़म भी मोहब्बत में साज़गार मुझे
वो ख़ुद तड़प गए देखा जो बे-क़रार मुझे


लब ओ रुख़्सार की क़िस्मत से दूरी
रहेगी ज़िंदगी कब तक अधूरी 



 असद भोपाली शायरी  urdu sher urdu shayari, असद भोपाली शेर, असद भोपाली के