Bunty aur Babli 2 Trailer बंटी और बबली 2 चार सौ बीसी के मुकाबले से पहले सजा डांस मुकाबले का मंच, वैभवी ने रचाया टैटू वालिए | Hindi Shayari H सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Bunty aur Babli 2 Trailer बंटी और बबली 2 चार सौ बीसी के मुकाबले से पहले सजा डांस मुकाबले का मंच, वैभवी ने रचाया टैटू वालिए | Hindi Shayari H

 बंटी और बबली 2 आप सभी को सैफअली खान रानी मुखर्जी और सिद्धांत चतुर्वेदी देखने को मिलेंगे


Bunty aur Babli 2 Trailer बंटी और बबली 2 चार सौ बीसी के मुकाबले से पहले सजा डांस मुकाबले का मंच, वैभवी ने रचाया टैटू वालिए






यशराज फिल्म्स की अगले महीने रिलीज होने जा रही फिल्म ‘बंटी और बबली 2’ में अलग अलग पीढ़ियों के ठगों का दिलचस्प मुकाबला तो देखने को मिलेगा ही, फिल्म में दोनों जोड़े ये साबित करने की कोशिश करते भी नजर आएंगे कि उनमें से कौन सा कपल ज्यादा चतुर और चालाक है। और, मुकाबला सिर्फ दूसरों को बुद्धू बनाने तक ही सीमित नहीं है, दोनों का एक धमाल डांस मुकाबला भी फिल्म में बनता दिखाई दे रहा है। फिल्म ‘बंटी और बबली 2’ के गुरुवार को रिलीज होने जा रहे गाने की जो पहली तस्वीरें हमें मिली हैं, उन्हें देखकर यही लगता है कि सैफ अली खान और रानी मुखर्जी की जोड़ी अपने धमाकेदार स्टेप्स्ट से नवोदित सिद्धांत चतुर्वेदी और शरवरी को तगड़ी चुनौती देने जा रहे हैं।

 



‘हम तुम’ जैसी ब्लॉकबस्टर फिल्म देने के अरसे बाद बड़े पर्दे पर फिर से एक साथ आ रहे हैं। सैफ और रानी फिल्म ‘बंटी और बबली 2’ के गाने ‘टैटू वालिए’ में बरसों बाद एक साथ थिरकते नजर आने वाले हैं। इस गाने को लेकर सैफ कहते हैं, “दर्शकों के मन में कई दशकों से हर ऑन-स्क्रीन जोड़ी की एक अनूठी चाहत मौजूद रही है। रानी और मेरे लिए यह काम हमारी रोमांटिक कॉमेडी फिल्मों ने किया है। हम भाग्यशाली रहे कि हमें चार्ट-बस्टिंग गाने मिले। इस तरह के गानों को फिल्माने और उन पर डांस करते वक्त रानी और मैंने धमाकेदार अनुभव हासिल किया। यकीन जानिए कि वर्षों के बाद फिर से डांस करने के लिए मुझे और रानी को ‘टैटू वालिए’ जैसे किसी चार्टबस्टर की ही जरूरत थी।"


बंटी और बबली 2
बंटी और बबली 2 Latest Movie
 

वहीं रानी कहती हैं, "साथ में नाच-गाना करके सैफ और मुझको बहुत मजा आया। यह सीधे फिल्म ‘ता रा रम पम’ के 'अब तो फॉर इवर’ के बाद का डांस सॉन्ग है। हालांकि इस बार मामला थोड़ा अलग है क्योंकि गाने में सिद्धांत और शरवरी भी मौजूद हैं, लेकिन ‘टैटू वालिए’ सॉन्ग गजब का है। वैभवी की कोरियोग्राफी ने इस गाने को और ज्यादा शानदार बना दिया है। यह बड़ा ही उम्दा सॉन्ग है और इसे आप जितना ज्यादा सुनते हैं, उतना ही यह दिमाग में दर्ज होता जाता है।"



 
बंटी और बबली 2 - फोटो 
फिल्म ‘बंटी और बबली 2’ के इस गाने ‘टैटू वालिए’ को नेहा कक्कड़ और प्रदीप सिंह स्रान ने गाया है। फिल्म की युवा जोड़ी यानी सिद्धांत और शरवरी के लिए 'टैटू वालिये' गाना बेहद खास है क्योंकि इसी गाने के जरिए उन्हें करियर में पहली बार फिल्म के हीरो, हीरोइन के रूप में पेश किया जा रहा है। सिद्धांत कहते हैं, "टैटू वालिये किसी भी फिल्म में मेरा पहला डांस नंबर है, और इसलिए यह मेरे जीवन का सबसे यादगार गाना है। इस सॉन्ग ने मुझे एक कमर्शियल हिंदी फ़िल्म हीरो के रूप में प्रस्तुत किया है। और, यही बात मेरे दिल को छू गई। इसके लिए मैंने लगातार रिहर्सल किया और इस गाने की हर स्टेप को धमाकेदार बनाने के लिए मैंने कैमरा-रोल होने से पहले घंटों मेहनत की। 'टैटू वालिये' के लिए शरवरी जैसा डांसिंग पार्टनर मिलना मेरी ख़ुशकिस्मती है क्योंकि वह सही मायने में एक परफेक्शनिस्ट हैं, जो हर काम को सही तरीके से पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करती हैं।”
 
बंटी और बबली 2
बंटी और बबली 2  Hindi Shayari h

 
अपने करियर के पहले डांस ट्रैक को लेकर शरवरी भी बेहद खुश और उत्साहित हैं। वह कहती हैं, " फिल्म ‘बंटी और बबली 2’ मेरे लिए बेहद खास फ़िल्म है क्योंकि मेरे करियर में बहुत सी बातों की शुरुआत इसी प्रोजेक्ट से जुड़ी हैं। यह न केवल बड़े पर्दे पर मेरी पहली फ़िल्म है बल्कि मुझे हिंदी सिनेमा में एक हीरोइन के रूप में अपने पहले बड़े डांस नंबर का मौका भी इसी फ़िल्म ने दिया है। मुझे डांस करना बहुत पसंद है और खासतौर पर मुझे हिंदी फ़िल्मी गानों पर डांस करने में मज़ा आता है। और इस लिहाज से देखा जाए, तो 'टैटू वालिये' मेरे सपने के सच होने जैसा है। इसकी शूटिंग के दौरान हमने खूब धमाल किया और मुझे उम्मीद है कि दर्शकों को भी यह ट्रैक बेहद पसंद आएगा।”


 
 बंटी और बबली 2 ट्रेलर रिलीज, सैफ अली खान,  siddhant chaturvedi, रानी मुखर्जी, सिद्धांत चतुर्वेदी, शरवरी वाघ, पंकज त्रिपाठी, bunty aur babli 2 trailer, saif ali khan, rani mukherjee, sharvari wagh, pankaj tripathi, rakesh vimi, vaibhavi merchant, yash raj films,

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Famous Love Shayari Of These Five Noted Urdu Poet होठों पे मुहब्बत के फ़साने नहीं आते

  Bashir badr shayari  बशीर बद्र की नज़्मों में मोहब्बत का दर्द समाया हुआ है। उनकी शायरी का एक-एक लफ़्ज़ इसका गवाह है। Bashir badr shayari     होठों पे मुहब्बत के फ़साने नहीं आते साहिल पे समुंदर के ख़ज़ाने नहीं आते पलकें भी चमक उठती हैं सोते में हमारी आंखों को अभी ख़्वाब छुपाने नहीं आते दिल उजड़ी हुई इक सराये की तरह है अब लोग यहाँ रात जगाने नहीं आते उड़ने दो परिंदों को अभी शोख़ हवा में फिर लौट के बचपन के ज़माने नहीं आते इस शहर के बादल तेरी ज़ुल्फ़ों की तरह हैं ये आग लगाते हैं बुझाने नहीं आते अहबाब भी ग़ैरों की अदा सीख गये हैं आते हैं मगर दिल को दुखाने नहीं आते मोहब्बत के शायर हैं जिगर मुरादाबादी इक लफ़्ज़-ए-मुहब्बत का अदना सा फ़साना है सिमटे तो दिल-ए-आशिक़, फ़ैले तो ज़माना है हम इश्क़ के मारों का इतना ही फ़साना है रोने को नहीं कोई हंसने को ज़माना है ये इश्क़ नहीं आसां, बस इतना समझ लीजे एक आग का दरिया है और डूब के जाना है     जिगर मुरादाबादी शायरी     वो हुस्न-ओ-जमाल उन का, ये इश्क़-ओ-शबाब अपना जीने की तमन्ना है, मरने का ज़माना है अश्क़ों के तबस्सुम में, आहों के तरन्नुम में मासूम मुहब्ब