This Beautiful 7-Seater Electric SUV Will be Launched Soon, 7-सीटर इलेक्ट्रिक एसयूवी | 56 इंच की एमबीयूएक्स हाइपर स्क्रीन, सामने आई इंटीरियर की तस्वीरें सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

This Beautiful 7-Seater Electric SUV Will be Launched Soon, 7-सीटर इलेक्ट्रिक एसयूवी | 56 इंच की एमबीयूएक्स हाइपर स्क्रीन, सामने आई इंटीरियर की तस्वीरें

7-सीटर इलेक्ट्रिक एसयूवी | Mercedes-Benz EQS इलेक्ट्रिक एसयूवी को आगामी 19 अप्रैल को आधिकारिक तौर पर पेश किया जाएगा। इस इलेक्ट्रिक एसयूवी में कंपनी ने कई एडवांस फीचर्स और तकनीक को शामिल किया है जो कि इसे और भी बेहतर बनाता है।


This Beautiful 7-Seater Electric SUV Will be Launched Soon, 7-सीटर इलेक्ट्रिक एसयूवी | 56 इंच की एमबीयूएक्स हाइपर स्क्रीन, सामने आई इंटीरियर की तस्वीरें  1 of 2
7-सीटर इलेक्ट्रिक एसयूवी - Photo








जर्मनी की प्रमुख वाहन निर्माता कंपनी मर्सिडीज-बेंज जल्द ही बाजार में अपनी नई 7 सीटर इलेक्ट्रिक एसयूवी Mercedes-Benz EQS को पेश करने वाली है, जिसका ग्लोबल डेब्यू आगामी 19 अप्रैल को किया जाएगा। इस पावरफुल इलेक्ट्रिक एसयूवी के लॉन्च से पहले कंपनी ने इसके इंटीरियर की कुछ तस्वीरों को शेयर किया है, जो कि इंटरनेट पर तेजी से वायरल हो रही हैं। आकर्षक लुक और डिज़ाइन से सजी इस कार का इंटीरियर लोगों को खूब पसंद आ रहा है।




आने वाली नई इलेक्ट्रिक व्हीकल Mercedes-Benz EQS के इंटीरियर की तस्वीरों पर गौर करें तो इसमें सेंटर ऑफ अट्रैक्शन इसका 56 इंच का MBUX बड़ा हाइपर स्क्रीन है, जो कि पहली बार EQS सेडान में देखने को मिला था। ये कर्वी स्क्रीन तकरीबन पूरे डैशबोर्ड को कवर करती है, जिसमें इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर, इंफोटेंमेंट और पैसेंजर डिस्प्ले दिया गया है।

 

Mercedes-Benz की ये तीसरी ऑल-इलेक्ट्रिक कार होगी। यह कंपनी के डेडिकेटेड इलेक्ट्रिक व्हीकल आर्किटेक्चर पर बेस्ड है और दावा किया जाता है कि यह क्लास-लीडिंग ड्राइविंग एक्सपिरिएंस देती है। इस कार को 5 सीटर और 7 सीटर लेआउट के साथ पेश किया जाएगा। बाद में इलेक्ट्रॉनिकली एडजस्टेबल सेकेंड-रो बेंच सीट दिया जाएगा। मर्सिडीज-बेंज ईक्यूएस एसयूवी का इंटीरियर समकालीन डिजाइन और एडवांस फीचर्स के संतुलन के रूप में सामने आता है, जो आमतौर पर बड़ी लक्जरी एसयूवी में देखने को मिलता है।


इलेक्ट्रिक एसयूवी - Social Media 2 of 2
इलेक्ट्रिक एसयूवी - Social Media


हाइलाइट्स की बात करें तो EQS SUV रियर-सीट में एंटरटेनमेंट स्क्रीन और तीसरी पंक्ति में दो अलग-अलग सीटों के साथ आएगी। कंपनी का दावा है कि तीसरी पंक्ति की सीटों की ऊंचाई उन्हें GLE की तुलना में अधिक आरामदायक बनाएगी। EQS SUV में एक अपमार्केट ऑडियो अनुभव प्रदान करने के लिए Dolby Atmos साउंड सिस्टम की सुविधा होगी।

 

साथ ही मर्सिडीज-बेंज के एनर्जाइज़िंग एयर कंट्रोल प्लस सिस्टम को केबिन से प्रदूषकों को खत्म करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, और ये सिस्टम इस एसयूवी में भी देखने को मिलेगा। फिलहाल, इस एसयूवी का एक्सटीरियर डिज़ाइन अभी तक सामने नहीं आ सका है, लेकिन हाल ही में इस कार को रेत और सर्द इलाकों में टेस्टिंग के दौरान स्पॉट जरूर किया गया था।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे