This Electric Car of MG Sold as Soon as It was Launched, Runs 461km on a Single Charge, Only This is The Price - HindiShayariH सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

This Electric Car of MG Sold as Soon as It was Launched, Runs 461km on a Single Charge, Only This is The Price - HindiShayariH

लॉन्च होते ही बिक गई MG की ये इलेक्ट्रिक कार, सिंगल चार्ज पर चलती है 461km, बस इतनी है कीमत



This Electric Car of MG Sold as Soon as It was Launched, Runs 461km on a Single Charge, Only This is The Price
MG ZS EV का फेसलिफ़्टेड संस्करण 50.3 kWh की बड़ी लिथियम-आयन बैटरी के साथ आता है, जो 461km की ड्राइविंग रेंज देने में सक्षम है।



देश में लगातार बढ़ रही ईंधन की कीमतों और इलेक्ट्रिक वाहनों में बढ़ते विश्वास के चलते एमजी जेडएस ईवी को भारतीय उपभोक्ताओं से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली है। नई MG ZS भारत में आधिकारिक तौर पर लॉन्च करने के कुछ ही दिनों के भीतर सोल्ड आउट हो गई है। कंपनी ने घोषणा की है कि नई ZS EV साल 2022 के लिए बिक चुकी है। यानी इस इलेक्ट्रिक SUV के नए फेसलिफ़्टेड वर्जन को बड़े पैमाने पर प्रतिक्रिया मिली है।




फिलहाल MG ने नई ZS EV के लिए बुकिंग स्वीकार करना बंद कर दिया है, हालांकि बुकिंग को कुछ समय बाद दोबारा से शुरू किया जाएगा। बताते चलें, कि इस इलेक्ट्रिक एसयूवी के आधिकारिक लॉन्च से पहले ही सभी अधिकृत डीलर आउटलेट्स के साथ-साथ एमजी इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट पर बुकिंग शुरू हो गई थी।




नए डिजाइन के साथ लॉन्च हुआ फेसलिफ्ट वर्जन

अपडेटेड MG ZS EV की कीमत 21.99 लाख रुपये (एक्स-शोरूम, भारत) से शुरू होती है। एमजी मोटर के अनुसार, पिछले एमजी जेडएस ईवी मालिकों ने ईवी चुनकर लगभग 70 लाख किलोग्राम कार्बन डाइऑक्साइड बचाया है, जो 42,000 पेड़ लगाने के बराबर है। नए एमजी जेडएस ईवी के डिजाइन में मिलने वाले बदलाव की बात करें तो इसमें सामने की तरफ एक बंद ग्रिल शामिल है, जो वाहन के लिए चार्जिंग स्लॉट को भी इंटीग्रेटिड करती है। इसके साथ ही फ्रंट फेसिया को एस्टर (Astor) एसयूवी से प्रेरित एलईडी प्रोजेक्टर के साथ स्लीक हेडलैंप और बूमरैंग के आकार के डेटाइम रनिंग एलईडी मिलते हैं।




पहले से ज्यादा रेंज का दावा

नए फेसलिफ्ट वर्जन के साथ MG ZS EV को 50.3 kWh की बड़ी लिथियम-आयन बैटरी मिलती है, जो 461 किमी की अधिकतम ड्राइविंग रेंज देती है, (WLTP साइकिल द्वारा दावा किए गए दावे के अनुसार). यहां तक कि इलेक्ट्रिक मोटर पावरिंग भी नई है, जो अब अधिकतम 173bhp की पॉवर और 280nm पीक टॉर्क आउटपुट का उत्पादन करती है। MG ZS EV को सिंगल फुल-लोडेड एक्सक्लूसिव वेरिएंट में लॉन्च किया गया है, जिसकी कीमत 21.99 लाख रुपये है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे