51+ Dophar Good Afternoon Shayari Collection In Hindi | 'दोपहर' Image पर शेर | HindiShayariH सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

51+ Dophar Good Afternoon Shayari Collection In Hindi | 'दोपहर' Image पर शेर | HindiShayariH

Good Afternoon | शुभ 'दोपहर' की शायरी (Dopahar Shayari Collection 
 Shayari in Hindi). Good Afternoon Hindi Shayari. ए सूरज मेरे अकेले घर में भरी दोपहर का सन्  | 'दोपहर' Image पर शेर


51+ Dophar Good Afternoon Shayari Collection In Hindi
शुभ दोपहर शायरी संग्रह



शुभ दोपहर शायरी संग्रह

अकेले घर में भरी दोपहर का सन्नाटा
वही सुकून वही उम्र भर का सन्नाटा
- इशरत आफ़रीं 


कभी तो सर्द लगा दोपहर का सूरज भी
कभी बदन के लिए इक करन ज़ियादा हुई
- नसीम सहर 



दोपहर की धूप में मेरे बुलाने के लिए
वो तिरा कोठे पे नंगे पाँव आना याद है
- हसरत मोहानी


ऐ दोपहर की धूप बता क्या जवाब दूँ
दीवार पूछती है कि साया किधर गया
- उम्मीद फ़ाज़ली 



ग़मों की दोपहर में काम आया
किसी के रेशमी आँचल का साया
- सेवक नैयर 


जो हौसला हो तो हल्की है दोपहर की धूप
तुनक-मिज़ाजों को लगती है यूँ क़मर की धूप
- ज़हीर सिद्दीक़ी 

चाँदनी रात माँगने वालो
आसमाँ तपती दोपहर देगा
- मोहम्मद अहमद रम्ज़ 


कितनी अजीब बात थी जब सर्द रात से
हम दोपहर की गर्म हवा माँगते रहे
- अनवर मीनाई 

मिला जब से तिरी ज़ुल्फ़ों का साया
जुनूँ की दोपहर बदली हुई है
- सुल्तान शाकिर हाश्मी 


क्या वही आएगी ले कर चिलचिलाती दोपहर
इक सुहानी धूप जो लगती भली सी है अभी
- जतीन्द्र वीर यख़मी ’जयवीर



  ए सूरज मेरे अपनों को ये पैगाम भेज दे,
खुशियों का गुड अफ्टर्नून और हँसी की शाम भेज दे।
जब कोई पढ़े मेरे इस पैगाम को
तो उनके चेहरे पर प्यारी सी मुस्कान दे दे।
– शुभ दोपहर

आँखों में रहने वाले को याद नहीं करते ,
दिल में रहने वाले की बात नहीं करते ,
हमारी तो रुह में बस गए हो आप ,
तभी तो मिलने की फरियाद नहीं करते
Good Afternoon


 
ये दोपहर का आलम भी अजीब हैं,
तन में भरी सुस्ती भी क्या चीज हैं, ए
क तरफ काम का बोझ सताता हैं,
दूसरी तरफ मूँछो वाला खडूस बॉस याद आता हैं

खिलती हुई सुबह अलविदा कह रही है,
और पसीने वाली गर्मी दस्तक दे रही है,
उठ कर तो देखो दोपहर की नज़ारों को
दोपहर वाली सूरज गुड आफ्टरनून कह रही है।
– गुड आफ्टरनून जी


 
 Good Afternoon Suvichar

जब भी मुझे याद तुम्हारी आती है ,
लबो पे मेरे बस यही फ़रियाद आती है
ज़िन्दगी में खुदा हर ख़ुशी दे तुम्हे ,
हमारी तो हर ख़ुशी आपकी ख़ुशी के बाद आती है
Good Afternoon.

पंछियों ने मधुर कंठ खोलकर गाना गाया
तो मेरे लबों पर ये संदेश आया
खिलती हुई धूप की महफ़िल और पंछियों का बसेरा आपको मुबारक हो।
आपको ये नया दोपहर मुबारक हो!

सूरज चाचा चढ़ पड़े हैं,
धधक धधक हमें तड़पा रहे हैं,
दोपहर की ये बैला बहुत सताती हैं,
मुझे तो हर पल तकिये की याद दिलाती हैं

दोपहर की धूप याद दिलाती रहेगी,
गरमा गर्म भोजन की खुशबू आती रहेगी,
कितना भी morning breakfast क्यों ना खा लूं
बिना afternoon lunch के भूख लगती रहेगी।
गुड आफ्टरनून!

दोपहर की शायरी

जब तन्हाई में आपकी याद आती है
होंठो पे एक ही फरियाद आती है
खुदा आपको हर खुशी दे
क्यूंकी आज भी हमारी हर खुशी आपके बाद आती है.
Good Afternoon

Good Afternoon Shayari in Hindi


सर झुकाकर नमस्कार करते हैं,
दिल से मांगी दुआ आपके नाम करते हैं,
अगर स्वीकार हो तो मुस्कुरा देना,
हम ये प्यारा सा आफ्टरनून आपके नाम करते हैं।

फिर चिड़ने वाली दोपहर आई है,
कड़कती गर्मी को साथ लाई है,
अब तैयार हो जाओ पसीने के पानी से नहाने को
अब दोपहर आपको Good Afternoon कहने आई है।

मंज़िल मिलने से दोस्ती भुलाई नही जाती
हमसफ़र मिलने से दोस्ती मिटाई नही जाती
Good Afternoon

 
Good Afternoon Wishes in Hindi

सूरज चाचू ऊपर चढ़ पड़े हैं,
और तपती गर्मी से हमें तड़पाते हैं।
दोपहर का खाना अब पेट को जाना है,
फिर तकया पकड़कर चैन की नींद सो जाना है।
– शुभ दोपहर

सपनो की दुनिया में हम खोते गये
होश में थे फिर भी मदहोश होते गये
जाने क्या जादू था उस अजनबी चेहरे में
खुद को बहुत रोका फिर भी उसके होते गये.
Good Afternoon

स्वर्ग की महलों में हो महल आपका,
सपनों की वादी में हो शहर आपका,
खिलती हुई आंगन में हो घर आपका,
दुआ करता हूं खूसूरत हो ये दिन आपका।
– गुड आफ्टरनून!

बनाने वाले ने भी तुझे
किसी कारण से बनाया होगा
छोड़ा होगा जब ज़मीन पर तुझे
उसके सीने में भी दर्द तो आया होगा
Good Afternoon

Afternoon Love Status Hindi

कूलर और एसी का मजा तो गांव की गर्मी में होती है,
लेकिन किस्मत जो फूटी यहां तो बिजली ही नहीं है।
दोपहर को गर्मी उबलते हुए पानी के समान लगती है,
ऊपर से तेज़ हवाओं से दिन नहीं कट पाती है।

दिल मे हमने तुम्हारे प्यार की दास्तान लिखी हैं
ना थोड़ी ना तमाम लिखी हैं
कभी हमारे लिए भी दुआ कर लिया करो सनम
हमने तो हर एक साँस तुम्हारे नाम लिखी हैं
Good Afternoon

गुजर गई वो चमकते सितारें और गोल वाला मून,
अगर बुरी है आपकी तबियत तो गेट वेल सून,
मिस करता हूं आपकी और मेरी मुलाकात
फिर भी दुर से ही कहता हूं गुड आफ्टरनून।

नही आता जो उसका इंतेज़ार क्यूँ होता है
अपना यह हाल किसी के लिए क्यूँ होता है
बहुत चीज़े प्यारी है वैसे दुनिया में
मिलता नही जो उससे प्यार क्यूँ होता है
Good Afternoon

दोपहर की शायरी हिंदी में

हे सूर्य देव तेरा क्या इरादा है
लगता है जैसे गर्मी देकर
मुझको ही पकाकर खाने का इरादा है।

बागो मे फूल खिलते रहेंगे,
रात मे दीप जलते रहेंगे,
दुआ है भगवान से की आप खुश रहो
बाकी तो हम आपको “मिस” करते रहेंगे
Good Afternoon

क्या है वादा तो ज़रूर पूरा करेंगे
सूरज की किरण बनकर आपको उठाएंगे
हम है तो मुरझाना किस बात का
तेरी दोपहर वाला lunch भी हम ही पकाएंगे।

सच्ची दोस्ती बेज़ुबान होती है
ये तो आँखो से ब्यान होती है
दोस्ती मे दर्द मिले तो क्या?
दर्द मे ही दोस्ती की पहचान होती है.
Good Afternoon

Shubh Dopahar Shayari

दोपहर के भोजन में खुश्बू की महक हो,
पसीने की बौछार और धूप भी तेज़ हो,
लगे भूख जब जोरो की
तो टूट पड़ो जैसे ही खाने की प्लेट सामने हो।

शुभ दोपहर वाली सूरज मेरे अपनों को पैगाम देना
कि तेज़ धूप दोपहर होने के बाद बिल्कुल भी घर से मत निकलना।

दिल प्यार में बेकरार भी होता है ,
दोस्ती में इंतज़ार भी होता है ,
होती नहीं है प्यार में दोस्ती पर ,
दोस्ती में शामील प्यार भी होता है
Good Afternoon

नया दोपहर और नई धूप है,
और इस धूप में प्रकाश की उमंग है,
काम छोड़कर अब तुम आओ जल्दी से
बिन तेरे दोपहर का भोजन करना मुश्किल है।

Good Afternoon Love Shayari in Hindi for Girlfriend

डर मुझे भी लगा फांसला देखकर
पर में बढ़ता गया रास्ता देखकर
खुद भी खुद मेरे नजदीक आती गयी
मेरी मंज़िल मेरा हौसला देखकर
Good Afternoon

ना जाने कहां गई वो दोपहर वाली दिन,
जब हम पेड़ की छांव में शायरी सुनाया करते थे,
और सब मुझे शायरी वाले कहा करते थे,
अब जब शायरी सुनाता हूं महफ़िल में
तो लोग मुझसे वेबसाइट की URL पूछने लग जाते हैं।

आने वाला दिन किसने देखा है,
उस दिन को लेकर आज के दिन खोए क्यों?
इन घड़ियों में हंस सकते हैं
तो आने वाले घड़ियों के लिए रोए क्यों?

मिल जाए कोई नया तो हमें न भुला देना
कोई रुलाये तुम्हे तो हमे याद कर लेना
दोस्त रहेंगे उम्र भर तुम्हारे
तुम्हारी ख़ुशी न सही गम ही बात लेना
Good Afternoon

Good Afternoon Status in Hindi

मैंने भी बदल दिए है ज़िन्दगी के उसूल
अब जो याद करेगा वो ही याद रहेगा
Good Afternoon

सुबह वाली धूप हमें जगाने आती है,
सारा अंधेरा को दुर कर जाती है,
सुबह वाली धूप की बात तो ठीक है
पर दोपहर वाली धूप पसीने निकाल जाती है।

ठंड के मौसम में कोहरे से भरा शहर,
सोचा सो लूं और थोड़ा जब तक ना हो दोपहर।

इतना न सताया कर की रात भर न सो सके हम
सुबह को सुर्ख आँखों का सबब पूछते है लोग
Good Afternoon

Afternoon Wale Message in Hindi

सूर्य देवता कड़कती हुई धूप देते रहेंगे,
उस धूप में हम पसीने में भीगते रहेंगे,
दुआ करता हूँ हमें ac वाली हवा मिल जाए
वरना हम इस गर्मी में जलते रहेंगे।

बिस्तर से उठते ही दोपहर हो जाती है,
ना जाने ये धूप किस चक्की का आटा खाती है।

ताज़ी हवा मे फुलो की महक हो,
पहली किरण मे चिड़ियो की चाहक हो,
जब भी खोलो तुम अपनी पलके,
उन पलकों मे बस खुशियो की झलक हो
Good Afternoon

लक्ष्य और सपने में एक ही अंतर है,
सपने के लिए बिना मेहनत के नींद आ जाती है,
और लक्ष्य के लिए बिना नींद के मेहनत करनी पड़ती है।

Good Afternoon Quotes in Hindi

दोपहर में भी हम चाय पिया करेगें
और गर्मी में भी
गर्म चाय की चुस्की लिया करेंगे।

हर दोपहर आपको मैसेज करना अच्छा लगता है,
और घंटो चैट पर चैटिंग करना अच्छा लगता है,
सोचता हूं दिन और रात बस आप के बारे में
आप जब रूठ जाएं तो मनाना अच्छा लगता है।
इस प्यारी सी दोपहर की प्यारी सी गुड आफ्टरनून।

सूरज उदय होता है आपके कदमों की आहट से,
दोपहर का खाना बनता है आपके बनाने से,
अब भोजन अपने हाथों से बना भी दो
क्योंकि मन प्रसन्न हो जाता है आपके हाथों से खाने से।

कोई व्यक्ति अगर आपसे जलता है
तो ये उसकी बुरी आदत नही है,
बल्कि आपकी काबिलियत है
जो उसे ये काम करने पर मजबूर करती है।

Good Afternoon Karne ke Liye Shayari in Hindi

धन्यवाद ए दोस्त मेरी जिंदगी में आने के लिए,
हर लम्हों को इतना हसीन बनाने के लिए,
तुम हो तो हर खुशी पर मेरा नाम लिख गया है,
शुक्रिया मुझे इतना खुश किस्मत बनाने के लिए।
– गुड आफ्टरनून दोस्त

यार बनकर यारी निभाना,
हर मुश्किल को हंसकर बिताना,
दोस्त होते ही हैं साथ देने के लिए तैयार रहना,
इसलिए हर रोज गुड आफ्टरनून उनसे कहना!

आपकी जुदाई हमें रुलाती रहेगी,
याद हमेशा आपकी आती रहेगी,
जब तक इस जिस्म में जान है,
मेरी हर सांस दोस्ती निभाती रहेगी।

दिल में उम्मीदें बहुत है,
जीवन में दुख बहुत है,
कब की मार देती ये दुनिया हमें,
पर मित्र की दुआओं में दम बहुत है।

Shubh Dopahar Status

आग लगी इस दिल में जब वो खफ़ा हुए,
एहसास हुआ तब हमें जब वो जुदा हुए,
वफ़ा करके वो हमें कुछ दे न सके,
लेकिन छोड़ गये बहुत कुछ जब वो वेबफा हुए।

हमें पता हैं हम तुम्हारी यादों में कैद हैं,
तभी तो हर पल हमारे दिल में चैन हैं,
फिर भी भेजते हैं संदेश इस ओर से,
मिलते ही रिप्लाई करना वरना हिचकी आयेगी जोर से
“Good Afternoon”

चाहे दिन हो या रात,
या दोपहर की बात हम याद करते हैं
तुम्हे हर पल तुम मुस्काते रहो बनकर सुंदर फूल
“Good Afternoon”

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे