Eid 2022: These 7 Stellar Lucknowi Street Foods Will Elevate Your Celebrations ईद 2022 : ये 7 तारकीय लखनवी स्ट्रीट फूड्स आपके उत्सवों को बढ़ा देंगे सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Eid 2022: These 7 Stellar Lucknowi Street Foods Will Elevate Your Celebrations ईद 2022 : ये 7 तारकीय लखनवी स्ट्रीट फूड्स आपके उत्सवों को बढ़ा देंगे

 
These 7 Stellar Lucknowi Street Foods on ईद 2022: Recipe, Mutton Pasanda Recipe, Awadhi mutton biryani Recipe, Galouti Kebab Recipe, Sheermal , Kulfi Falooda, ये 7 तारकीय लखनवी स्ट्रीट फूड्स आपके उत्सवों को बढ़ा देंगे लखनऊ के नवाबों ने अपने शासनकाल के दौरान शहर के पारंपरिक भोजन का संरक्षण किया, इसे शाही स्पर्श दिया। इस ईद पर बनाएं ये लखनवी रेसिपी.

\
Eid 2022 ये 7 तारकीय लखनवी स्ट्रीट फूड्स आपके उत्सवों को बढ़ा देंगे
ईद Recipe 2022 ये 7 तारकीय लखनवी स्ट्रीट फूड्स आपके उत्सवों को बढ़ा देंगे 


हाइलाइट 
लोग ईद मनाने के लिए कमर कस रहे हैं 
इस साल इन व्यंजनों के साथ अपने उत्सव को चिह्नित करें 
इसे अंदर देखें




रमजान का पवित्र महीना नजदीक आते ही दुनिया भर में मुस्लिम समुदाय ईद-उल-फितर मनाने की तैयारी कर रहा है। इसे मीठी ईद के रूप में भी जाना जाता है, और यह रमजान के महीने भर के रोजा के पूरा होने की याद दिलाता है। मीठी ईद 2 मई, 2022 की शाम को शुरू होने और इस साल 3 मई, 2022 की शाम को समाप्त होने की उम्मीद है। जैसे-जैसे ईद नजदीक आ रही है, लोग इसे बड़ी दावत के साथ मनाने के लिए तैयार हैं। तो, आपकी दावत को एक विशेष मोड़ देने के लिए, आज हम आपके लिए कुछ लखनवी स्ट्रीट फ़ूड लेकर आए हैं जिन्हें आजमाया जा सकता है!





लखनऊ अपनी नवाबी परंपरा, स्थापत्य भव्यता और शाही व्यंजनों के लिए प्रसिद्ध है। लखनऊ के नवाबों ने अपने शासनकाल के दौरान शहर के पारंपरिक भोजन का संरक्षण किया, इसे शाही स्पर्श दिया। कई पुराने व्यंजन अब लखनऊ की सड़कों पर आ गए हैं। इन व्यंजनों में से प्रत्येक में एक मनोरम स्वाद होता है जो आपको और अधिक मांगना छोड़ देगा! तो, इस ईद, अपने दोस्तों और परिवार को इन लखनवी स्ट्रीट फ़ूड से सरप्राइज दें।


काकोरी कबाब
काकोरी कबाब रेसिपी





ईद करतब1 के लिए यहां 7 लखनवी स्ट्रीट फूड हैं। काकोरी कबाब 

लखनवी डिनर पार्टियों के स्टार हैं ये पिघले कबाब! कीमा बनाया हुआ मटन को परफेक्शन के लिए ग्रिल करने से पहले सुगंधित मसालों के मनोरम अचार में डाला जाता है। इसका नाम काकोरी शहर के नाम पर रखा गया है, जो लखनऊ के बाहरी इलाके में स्थित है।






काकोरी कबाब रेसिपी के बारे में
आपके मुंह में पिघले ये कबाब निश्चित रूप से एक बेहतरीन डिनर पार्टी विकल्प हैं। कीमा बनाया हुआ भेड़ का बच्चा या मटन भारतीय मसालों और स्वादों की एक श्रृंखला के साथ ग्रील्ड। इसका नाम लखनऊ के बाहरी इलाके काकोरी शहर से लिया गया है। यह लखनऊ का बहुत ही प्रसिद्ध व्यंजन है।



काकोरी कबाब ओवन टेम्प की सामग्री: 
425F-220 C2 कप मटन / लैंब (कीमा बनाया हुआ) 1 छोटा चम्मच अदरक-लहसुन का पेस्ट 2 छोटा चम्मच नमक 1/4 छोटा चम्मच काली मिर्च, पाउडर 2 बड़े चम्मच हरा धनिया, कटा हुआ हरी मिर्च, कटा हुआ 2 बड़ा चम्मच कच्चा पपीता, कटा हुआ 4 लौंग 1 काली इलायची बीज1/8 टी-स्पून दालचीनी, पाउडर1 टी-स्पून जीरा1 काली जावित्री1/4 टी-स्पून जायफल, कद्दूकस किया हुआ2 कप प्याज़ (1/2 कप घी में भूरा कुरकुरा), कटा हुआ1/4 कप भूना चना, पाउडर1 अंडे का घी कुछ चाट मसाला ब्रश करने के लिए प्याज के छल्ले और नींबू को सजाने के लिए



काकोरी कबाब बनाने की विधि
1. घी और गार्निश को छोड़कर सभी सामग्री को लगभग 4 घंटे के लिए मैरीनेट करने के लिए मिलाएं, फिर एक चिकना, गाढ़ा पेस्ट बनाने के लिए पीस लें। 
2. इस मिश्रण को अच्छी तरह से मिलाएं और भुने हुए चने और अंडे में मिलाएं। 
3. एक और घंटे के लिए ढककर ठंडा करें। .
4. परोसने से लगभग 25 मिनट पहले, मांस को कटार के चारों ओर आकार दें और कबाब को ग्रिल पर ड्रिप ट्रे पर, या पहले से गरम ओवन में (ड्रिप ट्रे पर भी) रखें। 
5. चारकोल ग्रिल, आपको उन्हें घुमाते रहना होगा ताकि वे ब्राउन हो जाएं और समान रूप से पकाएं। 
6. उन्हें पकने में 15-20 मिनट का समय लगना चाहिए। 
7. घी से ब्रश करें और 2 मिनट और पकाएं। 
8. चाट मसाला प्याज से सजाकर परोसें और नींबू और हरी चटनी के साथ परोसें।


मुख्य सामग्री:
मटन/मेमने (कीमा बनाया हुआ), अदरक-लहसुन पेस्ट, नमक, काली मिर्च, हरा धनिया, हरी मिर्च, कच्चा पपीता, लौंग, काली इलायची के बीज, दालचीनी, जीरा, काली जावित्री, जायफल, प्याज (1/2 में ब्राउन कुरकुरा कप घी), भूना चना, अंडा, घी कुछ चाट मसाला, प्याज के छल्ले और नींबू के टुकड़े ब्रश करने के लिए













कुल्फी फालूदा recipe
कुल्फी फालूदा Reci[e



Kulfi Falooda | कुल्फी फालूदा



पिस्ता कुल्फी रेसिपी: कुल्फी का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है, गर्मी के मौसम में खाने के बाद कुल्फी मिल जाए तो मजा ही आ जाता है। आप इस मजेदार कुल्फी को घर पर भी बना सकते हैं और अपने परिवारवालों को सरप्राइज़ दे सकते हैं। केसर, दूध, पिस्ते और बादाम डालकर घर बनाएं ठंडी-ठंडी कुल्फी।पिस्ता कुल्फी बनाने के लिए सामग्री: कुल्फी बनाने के लिए दूध, क्रीम, इलाइची, चीनी, बादाम और केसर की जरूरत होती है। कुल्फी बनाने के लिए धीमी आंच पर पकाया जाता है। जब दूध गाढ़ा हो जाए तो इसमें चीनी, क्रीम, बादाम और केसर बारी-बारी डालें जाते हैं। इसके बाद इसे फ्रिज में जमने के लिए रख दें।पिस्ता कुल्फी को कैसे सर्व करें: कुल्फी को नट्स और वर्क से गार्निश करके फटाफट सर्व करें।





पिस्ता कुल्फी की सामग्री
1 लीटर दूध, full cream
1/2 कप चीनी
1/4 टी स्पून केसर
4-5 इलाइची
2 टेबल स्पून बादाम
1/4 टी स्पून केसर
8 कुल्फी मोल्डस वैकल्पिक वर्क



पिस्ता कुल्फी बनाने की वि​धि
1.एक बड़े पैन में दूध लें और उसे धीमी-मीडियम आंच पर लगातार चलाते रहें।
2.जब दूध आधा रह जाए तब आंच को धीमा कर दें। 30 से 40 मिनट में दूध गाढ़ा हो जाएगा।
3.जब दूध पूरी तरह पक जाएगा तो वह गाढ़ी क्रीम जैसा हो दिखने लगेगा और पैन के बीच में बुलबुले दिखाई देने लगेंगे।
4.इसमें चीनी और केसर डालें, एक उबाल के बाद उसे एक मिनट या दो मिनट के लिए पकाएं।
5.इसके बाद इलाइची डालें और आंच बंद कर दें।
6.फिर जब यह ठंडा हो जाए तो इसमें थोड़े से नट्स डालें और ​कुछ को गार्निशिंग के लिए बचा लें।
7.इसे अच्छे से मिलाएं और मोल्डस में पलट दें।
8.इसे ठंडा होने के लिए फ्रिज में रखें।
9.फ्रिजर से मोल्ड्स को बाहर निकाल लें और चाकू की मदद से कुल्फी को सर्विंग बाउल में डालें।
10.कुल्फी को नट्स और वर्क से गार्निश करके फटाफट सर्व करें।



Key Ingredients: दूध, चीनी, केसर, इलाइची, बादाम, केसर, कुल्फी मोल्डस, वर्क





शीरमाल रेसिपी (Sheermal Recipe)


शीरमाल रेसिपी
शीरमाल रेसिपी


शीरमाल रेसिपी: शीरमाल एक लोकप्रिय नान है जो उत्तर प्रदेश में काफी प्रसिद्ध है। खाने में इसका स्वाद हल्का मीठा होता है। इसे ईद और रमजान जैसे खास मौकों पर बनाया जाता है। शीरमाल चिकन कोरमा व अन्य नॉनवेज रेसिपी के साथ खाने बहुत ही सवाद लगता है। आप चाहे तो हमारी इस रेसिपी को फोलो करके इस लाजवाब नान को आसानी से घर पर भी बना सकते हैं।शीरमाल बनाने के लिए सामग्री: केसर का स्वाद शीरमाल को खास बनाता है। केसर के अलावा इसे बनाने के लिए मैदा, घी, चीनी और दूध की जरूरत होती है।





शीरमाल की सामग्री
3 कप मैदा
1 कप दूध
2 टेबल स्पून दूध (एक्ट्रा)
1 टी स्पून चीनी
3/4 कप घी
स्वादानुसार नमक
(कुछ रेशे) केसर


शीरमाल बनाने की वि​धि
1.केसर को दो बड़े चम्मच में आधे घंटे के लिए भिगो दें, इसके बाद इसे मिक्स करें ताकि यह पूरी तरह घुल जाए।2.मैदे में नमक, चीनी और पिघला हुआ घी डालकर अच्छे से मिला लें।
3.इसमें घी डालकर अच्छे से मिलाने के बाद एक बार में थोड़ा दूध डालें, नरम डो तैयार करेंं।
4.इसे 2 घंटे ​के लिए ढककर एक तरफ रख दें। इसे दोबारा गूंथे और फिर 2 घंटे के लिए रख दें।
5.अब आटे को 6 इंच बड़ी गोलाई और 1/4 मोटाई में बेल और इसमें काटे की मदद से छेद कर लें।
6.इसे तवे पर पहले तेज आंच पर पकाएं फिर धीमी आंच पर, दोनों तरफ से गोल्डन ब्राउन होने तक सेकें।
7.इस मिल्क सल्यूशन लगाएं, थोड़ा और पकाएं। फिर इसे घी लगाकर सर्व करें।




Key Ingredients: मैदा, दूध, दूध (एक्ट्रा), चीनी, घी, नमक, केसर




Galouti Kebab Recipe गलौटी कबाब रेसिपी




Galouti Kebab Recipe
Galouti Kebab Recipe

गलौटी कबाब रेसिपी के बारे में | कबाब रेसिपी: नवाबों की भूमि, लखनऊ से एक मनोरम दावत। गलौटी कबाब का आविष्कार नवाब असद-उद-दौला के खानसामा ने अलग-अलग कबाब के लिए उनके प्यार के लिए किया था। गलौटी का शाब्दिक अर्थ है 'नरम' जो इस भारतीय कबाब रेसिपी को अवधी टेबल से मुंह में पिघला देता है। ये कीमा बनाया हुआ कबाब असली नवाबी-शैली में बनाया जाता है और आमतौर पर इसे 'अल्टे तवा का परांठा' के साथ परोसा जाता है। घर पर अपनी अगली डिनर पार्टी में नाश्ते की थाली के लिए इन स्वादिष्ट, सुगंधित और स्वादिष्ट गलौटी कबाब रेसिपी को आज़माएँ!




गलौटी कबाब की सामग्री
 600 ग्राम मीट (कीमा, छोटा हुआ) 
1 कप कच्चे पपीते का पेस्ट 
1 कप अदरक लहसुन का पेस्ट 
1/4 टीस्पून जावित्री पाउडर
3-4 कबाब चीनी
 3-4 पत्थर के फूल के बीज
4 हरी इलायची
 1 दालचीनी की छड़ी 
1 टीस्पून धनिया के बीज
 1 टीस्पून सौंफ
1 टीस्पून जीरा
1 टीस्पून लाल मिर्च पाउडर
 4 टेबल स्पून बेसन, 
नमक स्वादानुसार 
3 टेबल स्पून तेल/घी (कबाब तलने के लिए)





गलौटी कबाब बनाने की विधि
1. एक पैन में कुटी हुई कबाब चीनी, पत्थर के फूल, 4 छोटी इलायची, 1 दालचीनी, 1 छोटी चम्मच धनिया, 1 छोटा चम्मच जीरा, 1 छोटा चम्मच सौंफ के दाने भून लें। 
एक मोर्टार और मूसल, इन मसालों को एक साथ पीस लें। 
3. मसाले में कीमा का मांस मोर्टार और मूसल में डालें और 2-3 मिनट के लिए पीस लें।
4. 1 टेबलस्पून अदरक और लहसुन का पेस्ट, 1 टेबल स्पून डालें। कच्चे पपीते का पेस्ट, 1 टेबल स्पून घी, 1 टी स्पून लाल मिर्च पाउडर, नमक और कीमा को 30-40 मिनिट के लिए कूट लीजिये. 
5. गोल लोई बनाकर, दबा कर, बेल कर लम्बी पैटी बना लीजिये और कबाब को ठंडा होने के लिये फ्रिज में रख दीजिये. 
6. एक भारी तले की कड़ाही में (मध्यम आंच पर) घी गरम करें और कबाब को दोनों तरफ से सुनहरा होने तक तल लें। 
7. कागज़ के तौलिये पर ठंडा करें। 
8. गार्निश करें और सर्विंग प्लेट में गरमागरम परोसें।


गार्निशिंग के लिए: 1. एक पैन में एक टेबल स्पून तेल गरम करें और उसमें कटा हरा धनिया, पुदीना और हरी मिर्च डालें। मक्खन और चूना डालें।



Key Ingredients: मीट (कीमा, कीमा बनाया हुआ), कच्चे पपीते का पेस्ट, अदरक लहसुन का पेस्ट, जावित्री पाउडर, कबाब चीनी, पत्थर के फूल के बीज, छोटी इलाइची, दालचीनी, धनियां, सौंफ, जीरा, लाल मिर्च पाउडर, बेसन , नमक, तेल/घी (कबाब तलने के लिए), लाल मिर्च, हरा धनिया, पुदीना, नींबू, मक्खन










अवधी मटन बिरयानी रेसिपी (Awadhi mutton biryani Recipe)


अवधी मटन बिरयानी रेसिपी
अवधी मटन बिरयानी रेसिपी 

अवधी मटन बिरयानी रेसिपी: बिरयानी शब्द फारसी के बिरयान से निकला है, इस डिश ओरिजन मुगल काल के दौरान हुआ था जो आज तक लोगों के दिलों पर राज कर रही है। मटन बिरयानी को अवधी स्टाइल में पकाया जाता है। डिनर पार्टी के लिए यह एक लाजवाब डिश है। घर में किसी पार्टी या बर्थ डे पर यह डिश कमाल कर सकती है।अवधी मटन बिरयानी के लिए सामग्री: मटन को मैरीनेट करके धीमी आंच पर पकाया जाता है और ढेर सारे मसालों के साथ चावल को हांडी में लेयर पकाया जाता है।अवधी मटन बिरयानी को कैसे सर्व करें: बिरयानी को आप प्लेन दही या फिर रायते के साथ सर्व कर सकते हैं।




अवधी मटन बिरयानी की सामग्री
गरम मसाला के लिए :
1 स्टिक दालचीनी
8-10 लौंग
2-3 टी स्पून जीरा
1 टी स्पून सौंफ
2-3 टी स्पून धनिये के बीज
1 टी स्पून काली मिर्च के दाने
2 चक्र फूल
2-3 जावित्री
2-3 भूरी इलायची
3-4 हरी इलायची 

मटन के लिए मसाला
1/2 kg मटन
2-3 टी स्पून अदरक-लहसुन का पेस्ट
1 टी स्पून हल्दी
1 टी स्पून लाल मिर्च पाउडर
काजू का पेस्ट
एक चुटकी गरम मसाला
4-5 टी स्पून दही

कुकिंग के लिए
2-3 टी स्पून नमक
3 टी स्पून घी
2-3 टी स्पून तेल
2-3 कप दूधकेसर



अवधी मटन बिरयानी बनाने की वि​धि
गरम मसाले के लिए :
1.सभी मसालों को सूखा भून लें और उसे ग्राइंडर में बारीक पीस लें।मटन को मसालेदार बनाने के लिए :
1.आधा किलो मटन में अदरक-लहसुन का पेस्ट, हल्दी, लाल मिर्च पाउडर, काजू पेस्ट का मिश्रण, गरम मसाला, फेंटी हुई दही डालकर ढक दें और एक घंटे के लिए फ्रिज में रख दें।आखिरी तैयारी के लिए :
1.मटन को पहले फ्रिज से निकालकर कमरे के तापमान पर करके उसे ऊपर से नमक लगा दें।
2.हांडी पर घी या तेल से चिकनाई लगा लें।
3.अब मटन बाउल से हांडी में डालकर मिलाएं और कुछ मिनट के लिए पकाएं।
4.अब इसे ढककर हल्की आंच पर आंधे घंटे पकने के लिए छोड़ दें।
5.अब इसके ऊपर चावलों की एक परत लगा दें और दूध में घूला हुआ केसर डालें।
6.इसके बाद इसमें थोड़ा नमक, गरम मसाला, भुना हुआ प्याज और घी डालें।
7.हांडी को ढक दें और किसी भारी चीज पर उसे लटका दें और हल्की आंच पर पकने दें।
8.आधे घंटे पकाने के बाद इसे गर्म सर्व करें।




Key Ingredients: दालचीनी, लौंग, जीरा, सौंफ, धनिये के बीज, काली मिर्च के दाने, चक्र फूल, जावित्री, भूरी इलायची, हरी इलायची, मटन, अदरक-लहसुन का पेस्ट, हल्दी, लाल मिर्च पाउडर, काजू का पेस्ट, गरम मसाला, दही, नमक, घी, तेल, दूध, केसर





Nutritional Value
132.0488g                                        Protien
77.51g                                              Fats
38.68g                                              Carbs
1377.662Kcal                                   Calories              
975Mg                                             Calcium
3.6465Mg                                         Iron
7510.578Mg                                    Sodium
1056.9Mg                                       Potassium



रेसिपी नोट बिरयानी को खुशबूदार बनाने के लिए उसमें केवड़ा जल या गुलाब जल डाल सकते हैं।
इसके अलावा आप हमारी अन्य बिरयानी रेसिपीज़ देख सकते हैं। 




Mutton Pasanda Recipe | मटन पसंदा रेसिपी


मटन पसंदा रेसिपी

मटन पसंदा रेसिपी


यह मसालेदार मटन की पारंपरिक रेसिपी है जिसे दही, क्रीम, टमाटर और विभिन्न मसालों से बनी मसालेदार करी में पकाया जाता है।





मटन पसन्दा की सामग्री
एक साथ मिलाएं और 4-5 घंटे के लिए मैरीनेट करें।
1 किलो मटन 3 1/2 सेमी के क्यूब्स में कटा हुआ और फ्लैट फेंटा हुआ
नमक स्वादअनुसार
1 बड़ा चम्मच अदरक का पेस्ट
1 बड़ा चम्मच लहसुन का पेस्ट
2 चम्मच मिर्च पाउडर
2 टेबल स्पून धनिया पाउडर
2 टेबल-स्पून खसखस-भीगे हुए, भुने और पिसे हुए
1 छोटा चम्मच प्याज के बीज
2 1/2 कप दही1/2 कप तेल6-7 हरी इलायची 6-7 लौंग
2 टुकड़े दालचीनी
1 कप प्याज-कटा हुआ बारीक
1 कप टमाटर बारीक कटा हुआ
1/2 कप टमाटर प्यूरी
10-12 उबाले और कतरे हुए बादाम
1/4 कप क्रीम
2 बड़े चम्मच कटा हरा धनिया




How to make मटन पसन्दा
1. पहले 9 अवयवों को मिलाकर 4-5 घंटे या रात भर के लिए फ्रिज में रख दें।
2. एक बड़े सॉस पैन में तेल गरम करें; इलायची, लौंग और दालचीनी डालें।
3. जब ये गहरे रंग के हो जाएं तो इसमें प्याज डालकर हल्का ब्राउन होने तक भूनें।
4. मैरीनेड के साथ चपटा मांस डालें और बिना ढके, धीमी या तेज आंच पर तब तक पकाएं जब तक कि पानी वाष्पित न हो जाए और चर्बी अलग न हो जाए।
5. इस समय तक मांस भी पक जाना चाहिए। यदि अभी तक नरम नहीं हुआ है, तो थोड़ा पानी डालें और नरम होने तक पकाएँ।
6. टमाटर और प्यूरी डालें, और तब तक भूनें जब तक कि चर्बी फिर से अलग न हो जाए, इस बात का ध्यान रखें कि मांस के टुकड़े न टूटे।
7. आधा बादाम डालें।
8. पकवान को सूखा भी परोसा जा सकता है।
9. ग्रेवी बनाने के लिए थोडा़ सा पानी डालकर कुछ मिनट और पकाएं.
10. क्रीम, बाकी बादाम और हरा धनिया डालकर सजाएं और परोसें।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे