Acer Launches Budget Smart TVs in 32, 43, 50 and 55 inch Displays, Android 11 के साथ कीमत सिर्फ 14,999 रुपये से शुरू सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Acer Launches Budget Smart TVs in 32, 43, 50 and 55 inch Displays, Android 11 के साथ कीमत सिर्फ 14,999 रुपये से शुरू

एसर ने 32, 43, 50 और 55 इंच डिस्प्ले में बजट स्मार्ट टीवी लॉन्च किए, एंड्रॉइड 11 के साथ केवल 14,999 रुपये से शुरू होता है | कीमत की बात की जाए तो Acer I-सीरीज स्मार्ट टीवी की कीमत 14,999 रुपये से शुरू होती है। कंपनी ने बताया कि 14,999 रुपये से शुरू होने वाले टीवी प्रमुख ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म और ऑफलाइन रिटेल स्टोर पर उपलब्ध हैं। 


एसर ने 32, 43, 50 और 55 इंच डिस्प्ले में बजट स्मार्ट टीवी लॉन्च किए
एसर ने 32, 43, 50 और 55 इंच डिस्प्ले में बजट स्मार्ट टीवी लॉन्च किए




टेक दिग्गज Acer ने मंगलवार को भारत में Android 11 ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलने वाला एक नया किफायती आई-सीरीज टीवी लॉन्च किया है। यह टीवी बल्क में कंटेंट प्रदान करने का दावा करता है। आई-सीरीज 4 डिस्प्ले साइज में उपलब्ध होगी। 32 इंच के मॉडल में हाई-डेफिनिशन डिस्प्ले रेजोल्यूशन है, जबकि 43-इंच, 50-इंच और 55-इंच मॉडल अल्ट्रा हाई डेफिनिशन डिस्प्ले में लॉन्च किए गए हैं। सभी मॉडल ड्यूल बैंड वाईफाई और टू-वे ब्लूटूथ फीचर के साथ आते हैं। इनमें पावरफुल 30-वाट स्पीकर सिस्टम दिया गया है और डॉल्बी ऑडियो का सपोर्ट करते हैं। 
 
कीमत और उपलब्धता

कीमत की बात की जाए तो Acer I-सीरीज स्मार्ट टीवी की कीमत 14,999 रुपये से शुरू होती है। कंपनी ने बताया कि 14,999 रुपये से शुरू होने वाले टीवी प्रमुख ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म और ऑफलाइन रिटेल स्टोर पर उपलब्ध हैं। 


भारत में Acer ब्रांड बनाने वाली इंडकल टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड के फाउंडर और सीईओ आनंद दुबे ने आईएएनएस को बताया कि "आई-सीरीज के साथ हम बेहतरीन क्वालिटी वाले टेलीविजन की तलाश करने वाले ग्राहकों के सामने बहुत मजबूत ऑप्शन का एक सेट पेश कर रहे हैं जो न सिर्फ उनकी मनोरंजन की जरूरतों को पूरा करते हैं बल्कि उन्हें अन्य उद्देश्यों के लिए भी अपने टीवी का उपयोग करने के ऑप्शन प्रदान करते हैं।" 

उन्होंने कहा कि "चिपसेट को पिछली जनरेशन के प्रोडक्ट के मुकाबले में एक बड़ा अपग्रेड दिया गया है जो फोटो और साउंड आउटपुट पर एक बड़ा परफॉर्मेंस में सुधार देगा।" सीरीज फ्रेमलेस डिजाइन के साथ एज-टू-एज डिस्प्ले प्रदान करती है जो करीब बेजल-लेस डिस्प्ले प्रदान करती है। आई-सीरीज ने एक बड़े स्तर पर कलर गेमुट ​​+ के साथ फोटो क्वालिटी को भी काफी एडवांस किया है जो डिस्प्ले में एक बिलियन से ज्यादा कलर, HDR 10+, सुपर ब्राइटनेस, ब्लैक-लेवल ऑग्मेंटेशन और 4K अपस्कलिंग और काफी कुछ प्रदान करता है। इस टीवी में दी गई शानदार टेक्नोलॉजी दर्शकों की आंखों के लिए ब्लू लाइट रिडक्शन के जोखिम को कम करने के लिए एक इनबिल्ट स्मार्ट ब्लू लाइट रिडक्शन टेक्नोलॉजी भी प्रदान करती है। दुबे ने कहा कि कंपनी अगले एक महीने में नए मॉडल लॉन्च करेगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे