hindishayarih सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

Hindi Kahani Kahan Ho Tum: 'कहां हो तुम' : क्या सच्चे दोस्त थे ऋतु और पिनाकी - HindiShayariH HSH

 'कहां हो तुम' उस ने एक ठंडी सी आह भरी और पैदल ही रवाना हो गई, उसे लगा जैसे मौसम ने उस के खिलाफ कोई साजिश रची हो. 'कहां हो तुम' ऋतु अपने कालेज के गेट के बाहर निकली तो उस ने देखा बहुत तेज बारिश हो रही है. ‘ओ नो, अब मैं घर कैसे जाऊंगी?’ उस ने परेशान होते हुए अपनेआप से कहा. इतनी तेज बारिश में तो छाता भी नाकामयाब हो जाता है और ऊपर से यह तेज हवा व पानी की बौछारें जो उसे लगातार गीला कर रही थीं. सड़क पर इतने बड़ेबड़े गड्ढे थे कि संभलसंभल कर चलना पड़ रहा था. जरा सा चूके नहीं कि सड़क पर नीचे गिर जाओ. लाख संभालने की कोशिश करने पर भी हवा का आवेग छाते को बारबार उस के हाथों से छुड़ा ले जा रहा था. ऐसे में अगर औटोरिक्शा मिल जाता तो कितना अच्छा होता पर जितने भी औटोरिक्शा दिखे, सब सवारियों से लदे हुए थे. उस ने एक ठंडी सी आह भरी और पैदल ही रवाना हो गई, उसे लगा जैसे मौसम ने उस के खिलाफ कोई साजिश रची हो. झुंझलाहट से भरी धीरेधीरे वह अपने घर की तरफ बढ़ने लगी कि अचानक किसी ने उस के आगे स्कूटर रोका. उस ने छाता हटा कर देखा तो यह पिनाकी था. ‘‘हैलो ऋतु, इतनी बारिश में कहां जा रही हो?’’ ‘‘यार, काल

Savan Monsoon Special Recipe: Make These 4 Spicy Dishes for Children in Rain HindiShayariH

Make these 4 spicy dishes  रेसिपी  for children in rain बारिश में बच्चों के लिए बनाएं ये 4 मसालेदार व्यंजन  Savan Monsoon Special Recipe Monsoon Special Recipe   Monsoon Special Recipe राजपूताना ढोकला recipe सामग्री – 400 ग्राम मकई का आटा – 40 ग्राम दही – 10 ग्राम कड़े पापड़ – 10 एमएल तिल का तेल – 2 चुटकियां हींग – आवश्यकतानुसार गरम पानी. सामग्री मूंग दाल की – 100 ग्राम साबूत मूंग दाल को 30 मिनट पानी में भिगो कर निकाल लें. – 1/2 छोटा चम्मच हलदी पाउडर – 20 एमएल देशी घी – 1 छोटा चम्मच नीबू का रस – नमक स्वादानुसार. विधि पापड़, दही, मकई का आटा, हींग और गरम पानी मिला कर मुलायम गूंध लें. अब इसे 20 मिनट के लिए अलग रख दें. अब गुंधे आटे को 30 ग्राम के गोल आकार में बांटें और हर लोई में उंगली से छेद कर लें. अब लोई को स्टीमर में 30 मिनट स्टीम दें. एक बरतन में देशी घी गरम कर मूंगदाल व हलदी पाउडर डाल कर पकाएं. थोड़ा सा पानी भी डाल दें. पानी डाल कर मूंग दाल को लगातार तब तक चलाती रहें जब तक वह पक न जाए. जब दाल बन जाए तब उस में नीबू रस डालें. अब ढोकले को तिल के तेल और मैश की हुई मूंग दाल के साथ परोसें.

A Look Best Phones Under Rs 10,000- इस लिस्ट में Realme 3 समेत कई स्मार्टफोन शामिल हैं

 10,000 रुपये से कम के बेहतरीन फोन पर एक नजर भले ही स्मार्टफोन मार्केट में महंगे फोन का बोलबाला रहता है, लेकिन सबसे ज्यादा बिक्री बजट सेगमेंट में ही होती है। मोबाइल डेटा के अफोर्डेबल होने से बजट सेगमेंट में आने वाले फोन्स की बिक्री बढ़ी है। आज अफोर्डेबल स्मार्टफोन में भी आपको लगभग वह सभी स्पेसिफिकेशंस मिल रहे हैं, जो आपको किसी महंगे फोन में मिलते हैं। इनमें हाई रिजॉल्यूशन स्क्रीन, अच्छा कैमरा, फिंगरप्रिंट सेंसर और 4G कनेक्टिविटी शामिल हैं। ऐसे में हम आपको यहां कुछ अफोर्डेबल स्मार्टफोन के बारे में बता रहे हैं जिन्हें आप 10 हजार रुपये के अंदर मार्केट में खरीद सकते हैं।             इस लिस्ट में Realme 3 समेत कई स्मार्टफोन शामिल हैं, जिन्हें कुछ समय पहले लॉन्च किया गया था। हमने आपके लिए स्मार्टफोन ब्रांड्स की एक लिस्ट तैयार की है जिन्हें आप 10 हजार रुपये के अंदर खरीद सकते हैं। इनमें आसुस, नोकिया, ऑनर, लेनोवो और इंफीनिक्स जैसे कई ब्रांड्स के नाम शामिल हैं। हमने अपनी लिस्ट में 7,000 से 10,000 रुपये के बीच आने वाले स्मार्टफोन्स को रखा है। इसमें से कुछ डिवाइसों को हमने HindiShayarih पर रिव्यू

Faisla New Kahni in hindi फैसला: क्या आदित्य की हो पाई अवंतिका

 Faisla new kahni in hindi क्या आदित्य की हो पाई अवंतिका 4 साल से अपने प्यार की आग छिपा कर आदित्य ने शहर तक बदल डाला, पर पहली नजर में पसंद आई अवंतिका को चाह कर भी दिल से न निकाल पाया. आखिर दोनों के बीच ऐसा क्या हुआ था कि बीते 4 साल ऐसे लगे मानो जैसे कल ही बात हो और अगली सुबह आदित्य ने अवंतिका को पा लिया हो. ‘‘4 साल… और इन 4 सालों में कितना कुछ बदल गया है न,’’ अवंतिका बोली. ‘‘नहीं, बिलकुल नहीं… तुम पहले भी 2 चम्मच चीनी ही कौफी में लिया करती थी और आज भी,’’ आदित्य ने मुसकराते हुए कहा. ‘‘अच्छा, और तुम कल भी मुझे और मेरी कौफी को इसी तरह देखते थे और आज भी,’’ अवंतिका ने आदित्य की ओर देखते हुए कहा. आदित्य एकटक दम साधे अवंतिका को देखे जा रहा था. दोनों आज पूरे 4 साल बाद एकदूसरे से मिल रहे थे. आदित्य का दिल आज भी अवंतिका के लिए उतना ही धड़कता था, जितना 4 साल पहले. आदित्य और अवंतिका कालेज के दोस्त थे. दोनों ने एकसाथ अपनी पढ़ाई शुरू की और एकसाथ खत्म. आदित्य को अवंतिका पहली ही नजर में पसंद आ गई थी, लेकिन प्यार के चक्कर में कहीं प्यारा सा दोस्त और उस की दोस्ती खो न बैठे इसलिए कभी आई लव यू कह नहीं पाय

Muztar Khairabadi Best Urdu शायरी Selected Collection Shayari - Muztar Khairabadi Shayari: मुज़्तर ख़ैराबादी के चुनिंदा शेर

 Muztar Khairabadi Shayari: मुज़्तर ख़ैराबादी के चुनिंदा शेर  मुज़्तर ख़ैराबादी के शेर , मुज़्तर ख़ैराबादी की ग़ज़ल, उर्दू शायरी उन का इक पतला सा ख़ंजर उन का इक नाज़ुक सा हाथ वो तो ये कहिए मिरी गर्दन ख़ुशी में कट गई  मोहब्बत में किसी ने सर पटकने का सबब पूछा तो कह दूँगा कि अपनी मुश्किलें आसान करता हूँ  इलाज-ए-दर्द-ए-दिल तुम से मसीहा हो नहीं सकता तुम अच्छा कर नहीं सकते मैं अच्छा हो नहीं सकता वक़्त दो मुझ पर कठिन गुज़रे हैं सारी उम्र में इक तिरे आने से पहले इक तिरे जाने के बाद  न किसी की आँख का नूर हूँ न किसी के दिल का क़रार हूँ जो किसी के काम न आ सके मैं वो एक मुश्त-ए-ग़ुबार हूँ  इक हम हैं कि हम ने तुम्हें माशूक़ बनाया इक तुम हो कि तुम ने हमें रक्खा न कहीं का  वक़्त आराम का नहीं मिलता काम भी काम का नहीं मिलता  तुम अगर चाहो तो मिट्टी से अभी पैदा हों फूल मैं अगर माँगूँ तो दरिया भी न दे पानी मुझे ख़त फाड़ के फेंका है तो लिक्खा भी मिटा दो काग़ज़ पे उतरता है बहुत ताव तुम्हारा  वो करेंगे वस्ल का वा'दा वफ़ा रंग गहरे हैं हमारी शाम के

Anokhi Jodi Kahani In Hindi न्यू कहानी अनोखी जोड़ी - HindiShayariH

 विशाल और अवंतिका ने पहली मुलाकात के बाद चट मंगनी पट ब्याह कर लिया. लेकिन कुछ ही दिनों बाद दोनों को महसूस हुआ कि वे एकदूसरे के लिए बने ही नहीं हैं. स्थिति तब और भी गंभीर हो गई जब अवंतिका ने विशाल की तेलशोधक कंपनी के खिलाफ आंदोलन में भाग लेने का फैसला किया. ( न्यू कहानी अनोखी जोड़ी ) न्यू कहानी अनोखी जोड़ी न्यू कहानी अनोखी जोड़ी दिल्ली की एक अदालत में विशाल अपनी मुसीबतों का बखान कर रहा था और इस में भी वह अपने को कठिनाइयों में घिरा पा रहा था, क्योंकि कहानी 8 वर्षों से चली आ रही थी. विशाल मुंबई की एक मशहूर तेलशोधक कंपनी में अधिकारी था. किसी काम से दिल्ली आया तो चांदनी चौक में अवंतिका से मुलाकात हो गई…वह भी रात के 1 बजे. खूबसूरत अवंतिका रात में सीढ़ी पर खड़ी हो कर दीवार पर ‘कांग्रेस गिराओ’ का एक चित्र बना रही थी. नीचे खड़ा विशाल उस की दस्तकारी को देख रहा था. तभी बड़ी तूलिका ने अवंतिका के हाथ से छूट कर विशाल के चेहरे को हरे रंग से भर दिया. उस छोटी सी मुलाकात ने दोनों के दिलों को इस कदर बेचैन किया कि उन्होंने ‘चट मंगनी पट ब्याह’ कहावत को सच करने के लिए अगले ही दिन अदालत में जा कर अपने विवाह का

Kunwar Narayan Best Hindi Kavita Collection -हमें आईना भी दिखाती हैं और सीख भी देती हैं, 'कुंवर नारायण' की ये कविताएं

  हमें आईना भी दिखाती हैं और सीख भी देती हैं,  'कुंवर नारायण' की ये कविताएं   कुंवर नारायण की कविताएँ, कुंवर नारायण पोयम्स इन हिंदी , कुंवर नारायण फोटो, कुंवर नारायण का जीवन परिचय, कुंवर नारायण जन्मदिन 'कुंवर नारायण' की ये कविताएं  'कुंवर नारायण' छोटी कविताएं ... कोई दुख  मनुष्य के साहस से बड़ा नहीं वही हारा  जो लड़ा नहीं  एक ही कविता में होती हैं  कई कई कविताएं  जैसे एक ही जीवन में कई जीवन.... छोटी-छोटी संपूर्णताओं का  एक अधूरा संग्रह  पूरा जीवन  तेज़ धारा की पकड़ में  आ गया वह  मेरे हाथों से छूट गया है  उसका हाथ  कच्चा तैराक़ है  उखड़ती सांस  उखड़ते पांव  न थाह न ठहराव पता नहीं  यह धारा उसे बहा ले जाएगी  या किसी नए तट से लगाएगी  एक साफ़ सुथरे चौकोर काग़ज की तरह  उठाकर ज़िंदगी को प्यार से  सोचता हूं इस पर कुछ लिखूं  फिर  उसे कई मोड़ देकर  कई तहों में बांटकर  एक नाव बनाता हूं  और बहते पानी पर चुपचाप छोड़कर  उससे अलग हो जाता हूं  बहाव में वह  काग़ज नहीं  एक बच्चे की खुशी है  फूल फिर एक घटना है जो घट रही  खुशबू एक ख़बर है जो फैल रही  उसके अथाह वैभव की ! अचानक रंग