8-Seater Electric Car has Arrived Booking Amount 86 Lakhs: (इलेक्ट्रिक कार) एक बार चार्ज करने पर चलेगी 1000km | HindiShayariH सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

8-Seater Electric Car has Arrived Booking Amount 86 Lakhs: (इलेक्ट्रिक कार) एक बार चार्ज करने पर चलेगी 1000km | HindiShayariH

  
फिलहाल फ्रेस्को ने 100,000 यूरो की कीमत पर XL इलेक्ट्रिक कार के लिए बुकिंग शुरू की है, जो भारतीय रुपये के हिसाब से 86 लाख है। Best Driving Range Electric Car, Electric Car with 8 seat, 8 Seater Electric car, Best Range Electric Car, Longest Range Electric Car, electric cars, Electric vehicles, electric cars

 
XL इलेक्ट्रिक कार
XL इलेक्ट्रिक कार Photo





Best Range Electric Car 2022 : इलेक्ट्रिक वाहनों की दिशा में अग्रसर कंपनियां अब तक 600 से 800km तक ड्राइविंग रेंज देने में सक्षम है। इस दिशा में लोगों के भ्रम को तोड़ने फ्रेस्को नामक नॉर्वेजियन ईवी स्टार्टअप ने 8-सीटर ऑल-व्हील ड्राइव इलेक्ट्रिक कार का पेश किया है, जो एक बार चार्ज करने पर 1,000 किलोमीटर की दूरी तय करने का दावा करती है। बता दें, फ्रेस्को मोटर्स ने पहले रेवेरी नामक एक कॉन्सेप्ट कार को पेश किया था।





बात करें कंपनी द्वारा पेश की गई कार की Fresco XL नाम की यह इलेक्ट्रिक कार एक स्लीक सेडान लगती है, जिसमें एक मिनीवैन या MPV के सारे फीचर्स दिए गए हैं। कार निर्माता के अनुसार फ्रेस्को एक्सएल चार इलेक्ट्रिक मोटर्स, दो-तरफा चार्जिंग पोर्ट और 1,000 किमी की रेंज के लिए एक बड़ी बैटरी से भरा हुआ है। हालांकि फ्रेस्को ने अभी तक एक्सएल इलेक्ट्रिक कार के बारे में ज्यादा जानकारी साझा नहीं की है, लेकिन अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मॉडल का केवल एक वीडियो साझा किया है, ताकि यह अंदाजा लगाया जा सके कि अगर वह प्रोडक्शन वर्जन में प्रवेश करती है, तो कंपनी क्या पेशकश कर सकती है।

 

 
86 लाख महज बुकिंग राशि


फ्रेस्को ने 100,000 यूरो की कीमत पर एक्सएल इलेक्ट्रिक कार के लिए ऑर्डर खोले हैं, जिनकी कीमत लगभग 86 लाख रुपये बैठती है। आठ सीटों वाले फ्रेस्को एक्सएल इलेक्ट्रिक वाहन को नॉर्वेजियन ईवी स्टार्टअप के संस्थापक व सीईओ और अध्यक्ष एस्पेन क्वाल्विक द्वारा डिजाइन किया गया था। उन्होंने पहले कहा था कि एक्सएल इलेक्ट्रिक कार पुराने सेडान-प्रकार के डिजाइन से हटकर एक नई डिजाइन भाषा प्रदान करती है।



ये भी पढ़ेंcyborg-gt-120



कंपनी की बात करें तो अमेरिकी भविष्यवादी जैक फ्रेस्को के नाम पर फ्रेस्को मोटर्स को 2017 में शुरू किया गया था। फ्रेस्को की पिछली कॉन्सेप्ट कार रेवेरी ने 2019 में अनावरण के बाद कभी भी उत्पादन में प्रवेश नहीं किया था। फ्रेस्को ने दावा किया था कि रेवेरी ने 300 किमी प्रति घंटे तक की शीर्ष गति की पेशकश की थी और यह इससे 0 से 100 किमी प्रति घंटे मात्र दो सेकेंड में स्प्रिंट भी कर सकती थी।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Maa Ki Shaadi मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था?

मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? मां की शादी- भाग 1: समीर अपनी बेटी को क्या बनाना चाहता था? समीर की मृत्यु के बाद मीरा के जीवन का एकमात्र मकसद था समीरा को सुखद भविष्य देना. लेकिन मीरा नहीं जानती थी कि समीरा भी अपनी मां की खुशियों को नए पंख देना चाहती थी. संध्या समीर और मैं ने, परिवारों के विरोध के बावजूद प्रेमविवाह किया था. एकदूसरे को पा कर हम बेहद खुश थे. समीर बैंक मैनेजर थे. बेहद हंसमुख एवं मिलनसार स्वभाव के थे. मेरे हर काम में दिलचस्पी तो लेते ही थे, हर संभव मदद भी करते थे, यहां तक कि मेरे कालेज संबंधी कामों में भी पूरी मदद करते थे. कई बार तो उन के उपयोगी टिप्स से मेरे लेक्चर में नई जान आ जाती थी. शादी के 4 वर्षों बाद मैं ने प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया. उस के नामकरण के लिए मैं ने समीरा नाम सुझाया. समीर और मीरा की समीरा. समीर प्रफुल्लित होते हुए बोले, ‘‘यार, तुम ने तो बहुत बढि़या नामकरण कर दिया. जैसे यह हम दोनों का रूप है उसी तरह इस के नाम में हम दोनों का नाम भी समाहित है.’’ समीरा को प्यार से हम सोमू पुकारते, उस के जन्म के बाद मैं ने दोनों परिवारों मे