Chat Recipy Chatpati Recipe In Hindi जीरो आयल चटपटी चाट | Hindishayarih सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Chat Recipy Chatpati Recipe In Hindi जीरो आयल चटपटी चाट | Hindishayarih

 

Chat Recipy Chatpati Recipe In Hindi जीरो आयल चटपटी चाट
जीरो आयल चटपटी चाट

जीरो आयल चटपटी चाट  Chatpati chat | Corn chat Healthy | Healthy corn chat | How to prepare healthy chat | Oats chat Sprout chat recipy चाट बनाने का सबसे आसन तरीका.






चाट का नाम सुनते ही सबके मुंह में पानी आ जाता है पर अक्सर हेल्थ कॉन्शस लोग इसके तले भुने और मिर्च मसालेदार होने के कारण चाट खाने की इच्छा होने के बाद भी मन मारकर रह जाते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि इसमें निहित  तेल मसाले उनके स्वास्थ्य और वजन के लिए हानिकारक सिद्ध न हो जाये.
यहां हम बताना चाहेंगे कि आवश्यक नहीं कि हर चाट आपके लिए हानिकारक ही हो. आज हम आपको ऐसी ही तली भुनी सामग्री रहित दो स्वादिष्ट और हैल्दी चाट बनाना बताएंगे जिन्हें आप चाहे जितना खा सकते हैं और जो आपको स्वाद के साथ साथ भरपूर पौष्टिकता भी देंगी क्योंकि इनमें फाइबर, प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन्स, मिनरल्स प्रचुर मात्रा में होते हैं तो आइए जानते हैं इन्हें कैसे बनाते हैं-


ये भी पढ़ें- Recipe Karela Bharwa


1 ओट्स कॉर्नफ्लैक्स चाट

 
कितने लोगों के लिए- 4
बनने में लगने वाला समय- 10 मिनट
मील टाइप- वेज

सामग्री
सादा ओट्स             1 कप
कॉर्नफ्लैक्स               1 कप
अंकुरित मूंग               1 कप
बारीक कटा प्याज       1
बारीक कटा खीरा        1
कटी हरी मिर्च              2
उबला और कटा आलू    1
इमली की चटनी            1 टीस्पून
धनिया की चटनी        1 टीस्पून
चाट मसाला                 1/2 टीस्पून
नीबू का रस                   1 टीस्पून
नमक                            1/4 टीस्पून
भुना जीरा पाउडर            1/2टीस्पून
फीके सेव(एच्छिक)          1 टेबलस्पून
अनार के दाने                    1 टेबलस्पून
कटा हरा धनिया                 1 टेबलस्पून


ओट्स कॉर्नफ्लैक्स चाट विधि
ओट्स और कॉर्नफ्लैक्स को बिना चिकनाई के एक  नॉनस्टिक पैन में अलग अलग हल्का सा भून लें, ध्यान रखें कि इनका रंग परिवर्तित न होने पाए. ठंडा होने पर एक बाउल में सेव, अनार के दाने को छोड़कर समस्त सामग्री को डालकर अच्छी तरह मिलाएं. तैयार चाट को सेव और अनार के दाने डालकर सर्व करें.
ये भी पढ़ें- घर पर बनाएं दही पूरी


2. शेजवान कॉर्न चाट

कितने लोंगो के लिए-         4
बनने में लगने वाला समय-    10 मिनट
मील टाइप- वेज
सामग्री
उबले स्वीट कॉर्न               2 कप
बारीक कटा पनीर या टोफू      1 कप
पिघला मक्खन                     1 टेबलस्पून
कटा प्याज                          1
कटी हरी मिर्च                     2
कटा टमाटर                     1
नीबू का रस                  1/2टीस्पून
रोस्टेड मूंगफली            2 टेबलस्पून
काला नमक                1/4 टीस्पून
चाट मसाला                 1/4 टीस्पून
भुना जीरा पाउडर         1/4 टीस्पून
काली मिर्च पाउडर         1/4 टीस्पून
शेजवान चटनी               1 टीस्पून
कटी हरी धनिया              1 टेबलस्पून


विधि शेजवान कॉर्न चाट

 
एक बाउल में धनिया को छोड़कर समस्त सामग्री डालकर भली भांति चलाएं. तैयार चाट को कटा हरा धनिया डालकर सर्व करें. 


ये भी पढ़ें   Recipe Bread Manchurian In Hindi


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

एक दिन अचानक हिंदी कहानी, Hindi Kahani Ek Din Achanak

एक दिन अचानक दीदी के पत्र ने सारे राज खोल दिए थे. अब समझ में आया क्यों दीदी ने लिखा था कि जिंदगी में कभी किसी को अपनी कठपुतली मत बनाना और न ही कभी खुद किसी की कठपुतली बनना. Hindi Kahani Ek Din Achanak लता दीदी की आत्महत्या की खबर ने मुझे अंदर तक हिला दिया था क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. फिर मुझे एक दिन दीदी का वह पत्र मिला जिस ने सारे राज खोल दिए और मुझे परेशानी व असमंजस में डाल दिया कि क्या दीदी की आत्महत्या को मैं यों ही व्यर्थ जाने दूं? मैं बालकनी में पड़ी कुरसी पर चुपचाप बैठा था. जाने क्यों मन उदास था, जबकि लता दीदी को गुजरे अब 1 माह से अधिक हो गया है. दीदी की याद आती है तो जैसे यादों की बरात मन के लंबे रास्ते पर निकल पड़ती है. जिस दिन यह खबर मिली कि ‘लता ने आत्महत्या कर ली,’ सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि यह बात सच भी हो सकती है. क्योंकि दीदी कायर कदापि नहीं थीं. शादी के बाद, उन के पहले 3-4 साल अच्छे बीते. शरद जीजाजी और दीदी दोनों भोपाल में कार्यरत थे. जीजाजी बैंक में सहायक प्रबंधक हैं. दीदी शादी के पहले से ही सूचना एवं प्रसार कार्यालय में स्टैनोग्राफर थीं. लता

Hindi Family Story Big Brother Part 1 to 3

  Hindi kahani big brother बड़े भैया-भाग 1: स्मिता अपने भाई से कौन सी बात कहने से डर रही थी जब एक दिन अचानक स्मिता ससुराल को छोड़ कर बड़े भैया के घर आ गई, तब भैया की अनुभवी आंखें सबकुछ समझ गईं. अश्विनी कुमार भटनागर बड़े भैया ने घूर कर देखा तो स्मिता सिकुड़ गई. कितनी कठिनाई से इतने दिनों तक रटा हुआ संवाद बोल पाई थी. अब बोल कर भी लग रहा था कि कुछ नहीं बोली थी. बड़े भैया से आंख मिला कर कोई बोले, ऐसा साहस घर में किसी का न था. ‘‘क्या बोला तू ने? जरा फिर से कहना,’’ बड़े भैया ने गंभीरता से कहा. ‘‘कह तो दिया एक बार,’’ स्मिता का स्वर लड़खड़ा गया. ‘‘कोई बात नहीं,’’ बड़े भैया ने संतुलित स्वर में कहा, ‘‘एक बार फिर से कह. अकसर दूसरी बार कहने से अर्थ बदल जाता है.’’ स्मिता ने नीचे देखते हुए कहा, ‘‘मुझे अनिमेष से शादी करनी है.’’ ‘‘यह अनिमेष वही है न, जो कुछ दिनों पहले यहां आया था?’’ बड़े भैया ने पूछा. ‘‘जी.’’ ‘‘और वह बंगाली है?’’ बड़े भैया ने एकएक शब्द पर जोर देते हुए पूछा. ‘‘जी,’’ स्मिता ने धीमे स्वर में उत्तर दिया. ‘‘और हम लोग, जिस में तू भी शामिल है, शुद्ध शाकाहारी हैं. वह बंगाली तो अवश्य ही

Famous Love Shayari Of These Five Noted Urdu Poet होठों पे मुहब्बत के फ़साने नहीं आते

  Bashir badr shayari  बशीर बद्र की नज़्मों में मोहब्बत का दर्द समाया हुआ है। उनकी शायरी का एक-एक लफ़्ज़ इसका गवाह है। Bashir badr shayari     होठों पे मुहब्बत के फ़साने नहीं आते साहिल पे समुंदर के ख़ज़ाने नहीं आते पलकें भी चमक उठती हैं सोते में हमारी आंखों को अभी ख़्वाब छुपाने नहीं आते दिल उजड़ी हुई इक सराये की तरह है अब लोग यहाँ रात जगाने नहीं आते उड़ने दो परिंदों को अभी शोख़ हवा में फिर लौट के बचपन के ज़माने नहीं आते इस शहर के बादल तेरी ज़ुल्फ़ों की तरह हैं ये आग लगाते हैं बुझाने नहीं आते अहबाब भी ग़ैरों की अदा सीख गये हैं आते हैं मगर दिल को दुखाने नहीं आते मोहब्बत के शायर हैं जिगर मुरादाबादी इक लफ़्ज़-ए-मुहब्बत का अदना सा फ़साना है सिमटे तो दिल-ए-आशिक़, फ़ैले तो ज़माना है हम इश्क़ के मारों का इतना ही फ़साना है रोने को नहीं कोई हंसने को ज़माना है ये इश्क़ नहीं आसां, बस इतना समझ लीजे एक आग का दरिया है और डूब के जाना है     जिगर मुरादाबादी शायरी     वो हुस्न-ओ-जमाल उन का, ये इश्क़-ओ-शबाब अपना जीने की तमन्ना है, मरने का ज़माना है अश्क़ों के तबस्सुम में, आहों के तरन्नुम में मासूम मुहब्ब